जयंती पर अटल को राष्ट्र ने किया नमन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 26 दिसंबर 2020

जयंती पर अटल को राष्ट्र ने किया नमन

nation-tribute-atal
नयी दिल्ली, 25 दिसंबर, पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी बाजपेयी को शुक्रवार को उनकी जयंती पर राष्ट्र ने उन्हें नमन किया और इस मौके पर कई कार्यक्रम आयोजित किये। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और कई अन्य नेताओं ने श्री वाजपेयी को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की और राष्ट्र के लिए किये गये उनके योगदान को याद करके उन्हें नमन किया। इसके अलावा इस मौके पर राज्यों में अनेक स्थानों पर भी श्रद्धांजलि कार्यक्रम आयोजित किए गए। श्री कोविंद ने श्री वाजपेयी के राजधानी स्थित समाधि-स्थल, ‘सदैव अटल’ जाकर पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। उप राष्ट्रपति ने श्री वाजपेयी को भावभीनी श्रद्धांजलि देते हुए उन्हें भारतीय राजनीति का अजातशत्रु बताया है। श्री नायडू ने एक संदेश में कहा कि वह भूख मुक्त, भय मुक्त और साक्षर भारत का सपना देखते थे। उन्होंने कहा,“आज आधुनिक भारत के अजातशत्रु, देश के यशस्वी पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी की जन्म जयंती है। अटल जी के विराट व्यक्तित्व, ओजस्वी वाणी, उनके द्वारा स्थापित मर्यादाओं, उनके स्नेहिल आत्मीय मार्गदर्शन को याद करता हूं। उनकी पावन स्मृति को सादर नमन करता हूं। श्री मोदी ने सुबह पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की 96 वीं जयंती पर उनकी समाधि स्थल ‘सदैव अटल’ जाकर श्रद्धा सुमन अर्पित किये। श्री मोदी सुबह श्री वाजपेयी की समाधि पर गये और श्रद्धा सुमन अर्पित कर नमन किया। इस दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह अन्य केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के नेता भी वहां मौजूद थे। इससे पहले श्री मोदी ने ट्वीट कर लिखा,“पूर्व प्रधानमंत्री आदरणीय अटल बिहारी वाजपेयी जी को उनकी जन्म-जयंती पर शत-शत नमन। अपने दूरदर्शी नेतृत्व में उन्होंने देश को विकास की अभूतपूर्व ऊंचाइयों पर पहुंचाया। एक सशक्त और समृद्ध भारत के निर्माण के लिए उनके प्रयासों को सदैव स्मरण किया जाएगा। श्री बाजपेयी की जयंती के मौके पर शुक्रवार को संसद भवन में भी श्रद्धांजलि कार्यक्रम का आयोजन किया गया। श्री मोदी, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, राज्य सभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आज़ाद और लोकसभा में कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी समेत कई नेताओं ने संसद भवन में श्री वाजपेयी की तस्वीर पर पुष्प अर्पित करके उन्हें श्रद्धांजलि दी। कार्यक्रम के बाद श्री मोदी ने 'संसद में अटल बिहारी वाजपयी -एक स्मृति खंड' नामक किताब का विमोचन किया। लोकसभा सचिवालय की ओर से प्रकाशित इस किताब में श्री वाजपेयी की जीवन यात्रा पर प्रकाश डाला गया है। साथ ही संसद में उनके द्वारा दिए उल्लेखनीय भाषण भी शामिल किए गए हैं। किताब में उनके सार्वजनिक जीवन से जुड़ी कुछ दुर्लभ तस्वीरें भी हैं। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने श्री वाजपेयी को नमन करते हुए कहा कि उनकी कर्तव्यनिष्ठा और राष्ट्रसेवा हमारे लिए सदैव प्रेरणा का केंद्र रहेगी। श्री शाह ने ट्वीट कर कहा,“ विचारधारा-सिद्धांतों पर आधारित राजनीति एवं राष्ट्र समर्पित जीवन से भारत में विकास, गरीब कल्याण और सुशासन के युग की शुरुआत करने वाले भारत रत्न आदरणीय अटल बिहारी वाजपेयी जी की जयंती पर उन्हें कोटिशः नमन। अटल जी की कर्तव्यनिष्ठा एवं राष्ट्रसेवा हमारे लिए सदैव प्रेरणा का केंद्र रहेगी।” भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने भी श्री वाजपेयी की जयंती पर नमन करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी।

कोई टिप्पणी नहीं: