मधुबनी : हत्या का खतरा झेल रही कल्याणी बचाई गई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 6 दिसंबर 2020

मधुबनी : हत्या का खतरा झेल रही कल्याणी बचाई गई

save-kalyani-madhubani
मधुबनी 06 दिसंबर, कोरोना काल में जब पूरा देश ‘लॉक’ चल रहा था तब फरार पति को तमाम मुश्किलों का सामना कर ढूंढती हुई हरियाणा के फरीदाबाद से बिहार के मधुबनी जिले अपने ससुराल पहुंचने पर सास-ससुर और देवर की प्रताड़ना एवं जान पर खतरा झेल रही कल्याणी को स्थानीय पुलिस की मदद से सुरक्षित बचा लिया गया है। पुलिस सूत्रों ने रविवार को यहां बताया कि कल्याणी झा के पिता जिले के रुद्रपुर थाना क्षेत्र के नवनगर निवासी भवनाथ झा ने संबंधित थाने में अपनी पुत्री को ससुराल वालों की प्रताड़ना से रक्षा करने की गुहार लगाते हुए आवेदन दिया था। आवेदन में कहा गया था कि कल्याणी की शादी 24 नवंबर 2017 को इसी थाना क्षेत्र के ननौर गांव निवासी मदन कुमार झा के पुत्र अमित कुमार झा के साथ हुई थी। अमित पूर्व से ही हरियाणा के गुड़गांव में टीसीएस में नौकरी करते थे। विवाह के बाद दंपति गुड़गांव में रहने लगे। शादी के बाद पति-पत्नी के बीच नोक-झोंक होने लगी लेकिन कल्याणी पति के साथ रहकर किसी तरह जीवन-यापन करने लगी। इस बीच 10 फरवरी को अमित ड्यूटी पर जाने के बहाने घर से निकला लेकिन लौटकर नहीं आया। कल्याणी ने उसे ढूंढने की काफी कोशिश की लेकिन वह नहीं मिला। हालांकि खबर मिली कि अमित अपने माता-पिता के संपर्क में है और उनकी फोन पर लगातार बातचीत होती है। अंत में कल्याणी अपने पति को ढूंढती हुई 23 नवंबर को ननौर अपने ससुराल आई लेकिन अमित वहां नहीं था। पति के लौटने के इंतजार में कल्याणी अपने ससुराल में ही रहने लगी लेकिन उसकी सास, ससुर और देवर ने उसे प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। काफी कष्ट के बाद भी वह ससुराल में रही। लेकिन, जब प्रताड़ना हद से अधिक बढ़ गई तो कल्याणी ने पिता को संदेश भेजा कि यदि अब उसे ससुराल से नहीं ले जाया गया तो उसकी इज्जत और जान नहीं बच पाएगी। सूत्रों ने बताया कि भवनाथ झा के आवेदन पर रुद्रपुर थाने की पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए कल्याणी को ससुराल से सुरक्षित निकाला। इसके बाद वह अपने पिता के साथ वापस फरीदाबाद लौट गई।

कोई टिप्पणी नहीं: