संसद का शीतकालीन सत्र टालना लोकतंत्र की हत्या : कांग्रेस - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 16 दिसंबर 2020

संसद का शीतकालीन सत्र टालना लोकतंत्र की हत्या : कांग्रेस

winter-session-of-parliament-averted-democracy-killing-congress
नयी दिल्ली 16 दिसंबर, कांग्रेस ने सरकार के संसद का शीतकालीन सत्र नहीं बुलाने को दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए इसे लोकतंत्र की हत्या बताया है और कहा है कि जनता से जुड़े विपक्ष के सवालों से बचने के लिए उसने सोचसमझ कर यह निर्णय लिया है। कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने बुधवार को यहां संवाददाताओं के सवाल पर कहा कि जब देश में स्कूल कॉलेज खुल सकते हैं, रेस्टोरेंट एवं बार खुल सकते है, सभी आर्थिक गतिविधियां शुरू की जा सकती है, प्रधानमंत्री और गृहमंत्री की रैलियां हो सकती है तो फिर संसद सत्र को क्यों नहीं बुलाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि संसद सत्र चलता तो सरकार को विपक्ष के कड़े सवालों का सामना करना पड़ता इसलिए उसने सोच समझकर और कोरोना महामारी का बहाना लेकर संसद का शीतकालीन सत्र आयोजित नहीं करने का निर्णय लिया है। प्रवक्ता ने सरकार पर किसानों की अवहेलना करने का आरोप लगाते हुए कहा कि देश का किसान 21 दिनों से आंदोलन कर रहा है लेकिन सरकार के पास उनकी समस्या सुनने का समय नहीं है। सरकार में बैठे लोग उन पर अनाप-शनाप आरोप लगा रहे हैं और उनकी समस्या का समाधान करने की बजाय उन्हें बदनाम करने का प्रयास कर रहे हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: