कोविड काल में एविएशन सेक्टर हुआ प्रभावित : हरदीप - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 7 जनवरी 2021

कोविड काल में एविएशन सेक्टर हुआ प्रभावित : हरदीप

aviation-secter-effected-in-covid-hardip-puri
इंदौर, 06 जनवरी, केन्द्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि कोविड काल में एविएशन सेक्टर प्रभावित हुआ है, लेकिन इस सेक्टर में हम फिर से ऊंचाई की ओर अग्रसर हैं। नागरिक उड्डयन श्री पुरी आज मध्यप्रदेश के इंदौर के देवी अहिल्या बाई होल्कर अंतरराष्ट्रीय विमान तल पर अंतरराष्ट्रीय कार्गो टर्मिनल हब के लोकार्पण पर वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से जुड़े। उन्होंने कार्यक्रम को ऑनलाइन संबोधित करते हुये कहा कि कोविड महामारी के कारण लगे लॉकडाउन खुलने के बाद 25 मई 2020 को 30500 यात्रियों के साथ घरेलु उड़ानों को शुरू किया गया था। तीन जनवरी 2021 तक घरेलु यात्रियों की संख्या बढ़कर 2 लाख 70 हजार तक पहुंच गई है। उन्होंने कहा कि मुझे आशा है कि जल्द ही कोविड के पहले वाली स्थिति को हम छू लेंगे। श्री पुरी ने एयर कार्गो संचालन के बारे में बताते हुए कहा कि नवंबर 2020 के अंत तक एयर कार्गो मूमेंट नवंबर 2019 के स्तर तक पहुँच चुका है। उन्होंने आगे कहा कि आज भारत के पास डेडिकेटेड फ्राइटर एयरक्राफ्ट की संख्या 6 से बढ़कर 20 हो गयी है। उन्होंने कोविड महामारी के दौरान एविएशन सेक्टर की उपलब्धियों को गिनाते हुए कहा कि कोविड काल के दौरान सरकार ने 150 विमानों को पैसेंजर से कार्गो के लिए स्वीकृति दी, जिस पर कृषि और मेडिकल उत्पादों को विशेष रूप से भेजा गया। उन्होंने कहा कि महामारी के दौरान केन्द्र सरकार ने लाइफ लाइन उड़ान योजना चलाई, जिसमें लगभग 1930 टन मेडिकल कार्गो देश के विभिन्न स्थानों तक पहुंचाया गया। इसी दौरान कृषि उड़ान के तहत पेरिशेबल कार्गो को भी देश के विभिन्न हिस्सों में पहुंचाया गया। देश के अन्य एयरपोर्ट्स पर भी कार्गो ऑपरेशन में वृद्धि दर्ज की गयी। अमृतसर एयरपोर्ट पर डोमेस्टिक कार्गो में 78 प्रतिशत, श्रीनगर एयर कार्गो में 370 प्रतिशत तथा सूरत में एयर कार्गो मूमेंट में 200 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी है। श्री पुरी ने इन्दौर को नये कार्गो टर्मिनल हब की शुरुआत के लिये बधाई देते हुये कहा कि इंदौर एयरपोर्ट पर 1330 वर्ग मीटर में एयर कार्गो परिसर के विस्तार और पूर्व निर्माण कार्गो का उदघाटन हो रहा है। उन्होंने कहा इस एयरपोर्ट पर कोल्ड स्टोरेज सुविधा, डेंजरस गुड्स शेड्सऔर ट्रांसशिपमेंट सुविधा भी उपलब्ध है। उन्होंने इंदौर से होने वाले निर्यात के बारे में बताते हुये कहा कि यहाँ से टेक्सटाइल और रेडिमेंट गारमेंट 70 करोड़, फार्मास्युटिकल 120 करोड़, ईटेबल गुड्स का 2 करोड़ का निर्यात यहाँ से होता है। इस विकसित नए एयर कार्गो के बनने से वार्षिक हैंडलिंग क्षमता में यहाँ 3 गुना से ज्यादा की वृद्धि होगी। इंदौर कार्गो हब में 10585 मीट्रिक टन से 37960 मीट्रिक टन वार्षिक क्षमता का विस्तार हो गया है। यहाँ 2 से 8 डिग्री तापमान पर कोल्ड स्टोरेज में सामान रखा जा सकता है।

कोई टिप्पणी नहीं: