बिहार : पूर्व विभागाध्यक्ष डॉ. शांति सिंह की AIIMS में कोरोना से मौत - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 9 जनवरी 2021

बिहार : पूर्व विभागाध्यक्ष डॉ. शांति सिंह की AIIMS में कोरोना से मौत

bihar-aiims-docter-shanti-singh-died
पटना। आज कोरोना चिकित्सा जगत पर भारी पड़ा।  IGIMS के लैब टेक्नीशियन धनंजय कुमार की मौत की खबर के कुछ घंटों बाद ही PMCH की स्त्री-प्रसूति रोग विभाग की पूर्व विभागाध्यक्ष डॉ. शांति सिंह की AIIMS में कोरोना से मौत हो गई। शनिवार पटना के चिकित्सा जगत पर भारी पड़ा। IGIMS के लैब टेक्नीशियन धनंजय कुमार की मौत की खबर के कुछ घंटों बाद ही PMCH की स्त्री-प्रसूति रोग विभाग की पूर्व विभागाध्यक्ष डॉ. शांति सिंह की AIIMS में कोरोना से मौत हो गई। डॉ. शांति सिंह को चिकित्सा जगत के लोग डॉ. शांति HK सिंह के नाम से जानते हैं। वे AIIMS के ICU में बीते हफ्ते भर से भर्ती थीं। बिहार के प्रतिष्ठित डायबिटिक एक्सपर्ट डॉ. HK सिंह की पत्नी डॉ. शांति सिंह 04 जुलाई को पटना AIIMS की ICU में भर्ती हुई थीं। डॉक्टरों की टीम लगातार उनकी देखभाल में लगी थी, लेकिन कोविड संक्रमण से वह निकल नहीं सकीं और शनिवार को शाम उन्होंने वहीं अंतिम सांस ली। डॉ. शांति सिंह के बेटे डॉ. अरुण सिंह पेडिएट्रिक सर्जन हैं। शनिवार को पटना के IGIMS के लैब टेक्नीशियन धनंजय कुमार की कोरोना से मौत हो गई है। ड्यूटी के दौरान ही वह संक्रमित हो गए थे। पहले उनका इलाज IGIMS में चल रहा था लेकिन बाद में उन्हें AIIMS में रेफर कर दिया गया था। शनिवार को इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। वह ऑल इंडिया लैब टेक्नीशियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी थे। शनिवार को शोक सभा के बाद IGIMS में कार्यालय का काम बंद कर दिया गया, जबकि इमरजेंसी सेवाएं चलती रहीं। IGIMS में हेल्थ वर्कर की यह तीसरी मौत है।


धनंजय कुमार IGIMS में 15 जनवरी 1991 से तैनात थे। संस्थान के कर्मियों ने बताया कि लैब में जांच के दौरान ही वह कोरोना संक्रमित हो गए थे। संक्रमित होने के बाद से लगातार उनकी हालत खराब हो रही थी। AIIMS में उन्हें भर्ती कराया गया था जहां शनिवार को उनकी मौत हो गई। लैब टेक्नीशियन धनंजय कुमार से पहले IGIMS में कोरोना से दो मौतें हो चुकी हैं। इनमें स्टोर अफसर और एक नर्सिंग सिस्टर शामिल हैं। संस्थान में अब तक 15 हेल्थ वर्कर कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं। लैब टेक्नीशियन धनंजय कुमार की मौत से संस्थान में साथी हेल्थ वर्कर और डॉक्टरों में शोक है। इस घटना के बाद मास्क और सामाजिक दूरी बनाए रखने को लेकर विशेष आदेश दिया गया है। संस्थान के निदेशक डॉ. एन आर विश्वास का कहना है कि कोरोना से बचाव को लेकर सभी हेल्थ वर्कर और डॉक्टर कोविड गाइडलाइन का पालन करें। आम लोगों के साथ मरीजों से भी उन्होंने अपील की है कि कोरोना से बचाव को लेकर स्वास्थ्य विभाग के निर्देशों का पालन किया जाए। पटना में 24 घंटे के अंदर कोरोना के 233 नए मामले आए हैं। नालंदा मेडिकल कॉलेज मे शनिवार को मोतिहारी के संक्रमित युवक की मौत हो गई है। प्रदेश में 24 घंटे में कुल 493 नए मामले आए हैं। अररिया में 2, अरवल में 3, औरंगाबाद में 11, बांका में 3, बेगूसराय में 17, भागलपुर में 5, भोजपुर में 4, बक्सर में 4, दरभंगा में 7, पूर्वी चंपारण में 9, गया में 14, गाेपालगंज में 17, जहानाबाद में 1, कैमूर में 8, कटिहार में 6, खगड़िया में 7, किशनगंज में 2, लखीसराय में 11, मधेपुरा में 3, मधुबनी में 7, मुंगेर में 3, मुजफ्फरपुर में 12, नालंदा में 12, नवादा में 3, पूर्णिया में 5, रोहतास में 19, सहरसा में 5, समस्तीपुर में 7, सारण में 7, शेखपुरा में 2, शिवहर में 6, सीतामढ़ी में 4, सीवान में 10, सुपौल में 1, वैशाली में 17 और पश्चिमी चंपारण में 2 नए मामले सामने आए हैं। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय ने ट्वीट कर कहा है कि  "बिहार में कोरोना जांच का आंकड़ा पहुंचा 1 करोड़ 91 लाख से ज्यादा"।पिछले 24 घंटे में 94 हजार 527 जांच की गई।बिहार में अभी तक कुल 1 करोड़ 91 लाख 76 हजार 945 जांच की जा चुकी हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: