माओवादियों से ज्यादा खतरनाक है भाजपा : ममता बनर्जी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 19 जनवरी 2021

माओवादियों से ज्यादा खतरनाक है भाजपा : ममता बनर्जी

bjp-more-denger-then-maoist-mamta-banerjee
पुरुलिया (पश्चिम बंगाल), 19 जनवरी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को भाजपा को माओवादियों से ज्यादा खतरनाक बताते हुए आरोप लगाया कि भगवा पार्टी चुनाव से पहले लोगों से झूठे वादे कर रही है और जीतने के बाद इन्हें भूल जाएगी। तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ने कहा कि राजनीति एक पवित्र विचारधारा और दर्शन है तथा कपड़ों की तरह रोज विचारधारा नहीं बदली जा सकती है। राज्य में अप्रैल-मई में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले कई नेताओं ने तृणमूल कांग्रेस छोड़ दी है। कभी वामपंथ का गढ़ रहे पुरुलिया जिले में एक रैली को संबोधित करते हुए ममता ने कहा, ‘‘भाजपा माओवादियों से भी ज्यादा खतरनाक है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा से जो जुड़ना चाहते हैं वो जा सकते हैं, लेकिन हम भगवा पार्टी के सामने कभी अपना सिर नहीं झुकाएंगे।’’ बनर्जी ने कहा कि माओवादी राज्य की मुख्यधारा में वापस लौटे हैं और उनकी सरकार ने उन्हें विशेष होम गार्ड के तौर पर नौकरी दी है। उल्लेखनीय है कि तृणमूल कांग्रेस ने माओवादी समर्थित पीपुल्स कमेटी अंगेस्ट पुलिस एट्रोसिटीज (पीसीएपीए) के पूर्व नेता छात्रधर महतो को पार्टी में शामिल किया है। वह आदिवासी बहुल जंगलमहल इलाके में लालगढ़ आंदोलन के दौरान चर्चा में आए थे। महतो के अच्छे व्यवहार की वजह से उम्र कैद की सजा को 10 साल कैद में बदलने के कलकत्ता उच्च न्यायालय के फैसले के बाद फरवरी में रिहाई हुई थी। विधानसभा चुनाव से पहले तृणमूल कांग्रेस विधायकों और सांसदों के भाजपा में शामिल होने की घटना पर बनर्जी ने कहा, ‘‘ जिन्हें भाजपा में शामिल होना है वे शामिल हों लेकिन हम अपना सिर नहीं झुकाएंगे।’’ उन्होंने पार्टी छोड़ने वाले नेताओें के बारे में कहा कि उनसे छुटकारा मिला क्योंकि वे अगर तृणमूल कांग्रेस में रहते तो पार्टी को नुकसान पहुंचाते। बनर्जी ने कहा, ‘‘राजनीति में तीन तरह के लोग- लोभी, भोगी और त्यागी- होते हैं।’’ मुख्यमंत्री ने दावा किया कि भाजपा नेताओं ने झूठे वादे कर जंगलमहल इलाके के आदिवासियों को गुमराह किया और लोकसभा चुनाव जीतने के बाद उनके पास कभी नहीं आए। पुरुलिया भी जंगलमहल इलाके में आता है। भाजपा ने 2019 के लोकसभा चुनाव में पुरुलिया समेत जंगलमहल इलाके में सभी सीटों पर जीत हासिल की थी। बनर्जी ने भाजपा की तुलना सांप से करते हुए कहा कि उसकी पकड़ में जो भी आता है उसे वह बर्बाद कर देती है। चुनाव पूर्व सर्वेक्षण के नतीजों को खारिज करते हुए तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ने दावा किया कि भाजपा की शह पर ‘झूठ’ फैलाया जा रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘जितनी सीटों का वे पूर्वानुमान लगा रहे हैं उससे चार गुना अधिक सीटें तृणमूल कांग्रेस को मिलेंगी। उन्होंने आरोप लगया कि भाजपा की दुष्प्रचार प्रणाली सोशल मीडिया पर फर्जी वीडियो का प्रसार कर रही है। भाजपा पर ईश्वर चंद्र विद्यासागर और रवींद्र नाथ टैगोर जैसी हस्तियों का अपमान करने का आरोप लगाते हुए ममता बनर्जी ने कहा, ‘‘वे ठीक से बांग्ला का उच्चारण भी नहीं कर सकते हैं और कहते हैं कि बंगाली हैं। उन्हें बंगाल तभी याद आता है जब चुनाव होने वाले होते हैं।’’ बनर्जी ने दावा किया कि भाजपा नेता पश्चिम बंगाल के गांवों में जा रहे हैं और कह रहे हैं कि वे दिल्ली या गुजरात से आए हैं व उन्हें स्थानीय निवासियों के घर से खाना चाहिए । उल्लेखनीय है कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने अपने हालिया दौरे में स्थानीय लोगों के घरों में भोजन किया था। भाजपा, कांग्रेस और माकपा के एक साथ होने का आरोप लगाते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि वाम दल ने अपने मतों को भगवा पार्टी को सौंप दिया। उन्होंने कहा कि किसान कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर एक महीने से अधिक समय से प्रदर्शन् कर रहे हैं और जबकि तृणमूल कांग्रेस शासित बंगाल में किसान खुश है। बनर्जी ने आरोप लगाया, ‘‘भाजपा मेरी रैलियों में कुछ उपद्रवियों को भेजकर गड़बड़ी फैलाने की कोशिश कर रही है।’’ उन्होंने धमकी देते हुए कहा कि वह भी अपने पार्टी कार्यकर्ताओं को भाजपा एवं माकपा की रैलियों में ऐसा ही करने को कहेंगी।

कोई टिप्पणी नहीं: