दरभंगा प्रमंडल के आयुक्त ने मुख्य समारोह में किया झंडोत्तोलन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 26 जनवरी 2021

दरभंगा प्रमंडल के आयुक्त ने मुख्य समारोह में किया झंडोत्तोलन

  • अपने भाषण द्वारा गिनायी जिले की उपलब्धि

darbhanga-comissenor-flag-hoist
दरभंगा, 26 जनवरी।  72 वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर दरभंगा के नेहरू स्टेडियम (पोलो) मैदान में गणतंत्र दिवस मुख्य समारोह का आयोजन किया गया। समारोह में बी.एम.पी./डी.ए.पी. (पुरूष)/डी.ए.पी. (महिला)/गृह रक्षा वाहिनी एवं फायर ब्रिगेड के जवानों की टुकड़ियों द्वारा सामूहिक रूप से परेड का प्रदर्शन किया गया एवं इस अवसर पर जिला पुलिस बल द्वारा बैंड का प्रदर्शन किया गया ।  सिटी एसपी श्री अशोक प्रसाद, वरीय पुलिस अधीक्षक श्री बाबूराम, जिलाधिकारी डॉ त्यागराजन एस.एम, पुलिस महानिरीक्षक मिथिला प्रक्षेत्र दरभंगा श्री अजिताभ कुमार का क्रमशः मंच पर आगमन हुआ और उन्होंने परेड की सलामी ली।  श्री राधेश्याम साह, आयुक्त दरभंगा प्रमंडल, दरभंगा का 8.55 पूर्वाह्न में मुख्य मंच पर आगमन हुआ। उन्होंने मंच से परेड की सलामी ली। इसके उपरांत वरीय पुलिस अधीक्षक के साथ खुले वाहन पर सवार होकर विभिन्न टुकड़ियों के जवानों के परेड का क्रमशः निरीक्षण किया। इसके उपरांत उन्होंने राष्ट्रीय झंडोत्तोलन किया इस अवसर पर जिला पुलिस बैंड द्वारा राष्ट्रगान धुन बजाया गया।  आयुक्त महोदय ने जिलेवासियों को संबोधित करते हुए कहा कि। "आज 72वें गणतंत्र दिवस के शुभ अवसर पर दरभंगा के सम्मानित स्वतंत्रता सेनानी, माननीय जन प्रतिनिधिगण, पदाधिकारीगण, मीडिया के प्रतिनिधिगण, दरभंगा जिला के सम्मानित नागरिकगण, भाइयों, बहनों तथा प्यारे बच्चों।  सर्वप्रथम मैं आप सभी का हार्दिक अभिनन्दन करता हूँ। साथ ही आप सभी को देश के 72वें गणतंत्र दिवस की बधाई भी देता हूँ। हम अवगत हैं कि हमारे देश के असंख्य महापुरूष/क्राँतिकारी के त्याग एवं बलिदान के बदौलत हमारा देश 15 अगस्त 1947 को स्वतंत्र देश के रूप में उभर कर विश्व मानचित्र पर आया तथा 26 जनवरी 1950 को हमारा संविधान लागू हुआ।  इस पुनित अवसर पर भारतीय संविधान के वास्तुकार डॉ. भीमराव अम्बेडकर का हम शत्-शत् नमन करते हैं। जिन्होंने अपने शिल्पकला से इसे मूर्त रूप दिया है। इस अवसर पर मुझे यह कहते हुए गर्व महसूस हो रहा है कि भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के समग्र इतिहास में मिथिलावासियों का योगदान अतुलनीय रहा है। भारत माता के बलीवेदी पर हंसते-हंसते अपने प्राण न्यौछावर करने वाले सभी वीर सपूतों का इस अवसर पर हम हृदय से नमन करते हैं। 


सर्वविदित है कि दरभंगा जिला विकास के पथ पर तीव्रगति से अग्रसर है। केन्द्र सरकार और राज्य सरकार के विकास एवं कल्याण की सभी योजनाओं का यहाँ प्रभावी ढ़ंग से क्रियान्वयन किया जा रहा है।  आम आवाम के अमन चैन के लिए शांति व्यवस्था बनाये रखने में जिला प्रशासन सफल रहा है। भूमि विवाद को निबटाने हेतु थाना एवं अनुमण्डल स्तर पर नियमित रूप से सुनवाई की जा रही है। आम जनता की शिकायतों का निष्पादन जिला एवं अनुमण्डल स्तरीय लोक शिकायत निवारण केन्द्रों में तीव्र गति से किया जा रहा है।  प्रधानमंत्री आवास योजना एवं मुख्यमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत आवास रहित परिवारों को आवास उपलब्ध कराया जा रहा है। सात निश्चय पार्ट-2 के अन्तर्गत असिंचित भूमि के लिए सिंचाई व्यवस्था करने हेतु राजस्व ग्राम स्तर पर सर्वे का कार्य जारी है।  मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना के अन्तर्गत स्टूडेंड क्रेडिट कार्ड, कुशल युवा कार्यक्रम एवं मुख्यमंत्री निश्चय भत्ता योजना के अन्तर्गत युवाओं को सबल एवं कुशल बनाने का प्रयास जारी है।  नल-जल योजना के तहत शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र के सभी परिवारों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने का संकल्प अंतिम दौर में है। गाँव के हर गली को पक्की गली में परिवर्तित किया जा रहा है। जिले के सभी परिवारों को शौचालय मुहैय्या करायी जा चुकी है तथा शराबबन्दी भी लागू है।  आयुष्मान भारत के अन्तर्गत नीचले पायदान पर खड़े लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा, जननी बाल सुरक्षा योजना के अन्तर्गत शत्-प्रतिशत् संस्थागत प्रसव, प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के अन्तर्गत सभी गर्भवती महिलाओं का स्वास्थ्य की निःशुल्क जाँच, जनसंख्या नियंत्रण के लिए परिवार नियोजन कार्यक्रम का सफल क्रियान्वयन, नवजात शिशु एवं बच्चों के सुरक्षित जीवन के लिए नियमित रूप से टीकाकरण एवं उनके पोषण के लिए पौष्टिक आहार की व्यवस्था आंगनवाड़ी एवं विद्यालय स्तर पर की जा रही है।  जिला एवं प्रखण्ड स्तरीय अस्पतालों में लगातार स्वास्थ्य सुविधा का विस्तार किया जा रहा है।  ओ.पी.डी. एवं आई.पी.डी. में लगातार बढ़ते मरीजों की संख्या इसका प्रमाण है। इस कड़ी में दरभंगा जिले में एम्स की स्थापना से न सिर्फ दरभंगा के बल्कि पूर्वांचल सहित मिथिलाचंल के लोगों को अत्याधुनिक स्वास्थ्य सेवाएँ उपलब्ध हो जाएगी।  एम्स के लिए भूमि हस्तांतरण की कार्रवाई की जा रही है। आशा है कि यह शीघ्र तैयार हो जाएगा।  दरभंगा जिला में मातृत्व एवं नवजात शिशु मृत्यु दर को नियंत्रित करने के उद्देश्य से वंडर नामक मोबाईल एप्प लॉन्च किया गया है। इस एप्प में गर्भवती महिलाओं का निबंधन एवं उनका मेडिकल हिस्ट्री अपलोड किया जाता है। गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान किसी भी प्रकार की जटिलता उत्पन्न होने पर वंडर एप्प से एलर्ट (चेतावनी) जारी हो जाती है। वंडर एप्प के इस्तेमाल से जिला में पहली बार गर्भवती महिलाओं के चिकित्सीय व्यवस्था को डिजिटली मोनिटर किया जा रहा है। 


दरभंगा में वंडर एप्प का सफल क्रियान्वयन राज्य स्तर पर प्रशंसनीय रहा और इसे पटना, गया, भागलपुर, मुजफ्फरपुर, नालन्दा सहित दरभंगा जिले में राज्य सरकार के स्तर से लागू करने का प्रयास जारी है। इस एप्प के आ जाने से समस्याग्रस्त गर्भवती महिलाओं की परेशानी समाप्त हो जाएगी और शत्-प्रतिशत् सुरक्षित प्रसव कराया जा सकेगा।  मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना के तहत दरभंगा के 16517 कन्याओं को लाभान्वित किया गया है। प्रधानमंत्री मातृ वन्दन योजना के तहत अबतक दरभंगा के 48,721 गर्भवती महिलाएँ लाभान्वित हुई है। वहीं 4260 आँगनवाड़ी केन्द्रों पर तीन से छः साल के बच्चों को पौष्टिक आहार एवं दुध उपलब्ध कराया जा रहा है। वर्ष 2020 विश्वव्यापी महामारी कोविड-19 (कोरोना) के लिए जाना जाएगा। इस विपदा से दरभंगा ही नहीं बल्कि देश/दुनियाँ भी प्रभावित रहा। लोगों को इस महामारी के संबंध में जागरूक करने हेतु व्यापक प्रचार-प्रसार कराया गया। सरकार एवं प्रशासन की दूरदर्शिता एवं भागरथी प्रयास से यहाँ इसका कु-प्रभाव कम रहा। 16 जनवरी 2021 से कोविड-19 के लिए टीकाकरण प्रारंभ हो गया है। हम आशान्वित हैं कि शीघ्र ही हम इस विपदा से निकलकर सामान्य जीवन में लौट आएगें। अच्छी शिक्षा के लिए पंचायत स्तर पर उच्च विद्यालय की व्यवस्था की गई है तथा विद्यार्थियों को पोशाक, छात्रवृत्ति एवं साईकिल उपलब्ध कराया जा रहा है। प्राथमिक एवं मध्य विद्यालयों में निःशुल्क मध्याह्न भोजन की व्यवस्था जारी है।  अनूसुचित जाति एवं जनजाति, कमजोर वर्ग बालिकाओं की शिक्षा को प्रोत्साहित करने के लिए आवासीय कस्तुरबा गाँधी छात्रावास की व्यवस्था की गई है। साथ ही इन्टर करने पर 10 हजार एवं स्नातक करने पर 25 हजार रूपये प्रोत्साहन के रूप में दिया जा रहा है। जल-जीवन-हरियाली अभियान के तहत पर्यावरण संरक्षण एवं जल संचयन के उद्देश्य से प्राकृतिक जल स्रोतों यथा आहर/पैन/पोखर/तालाब आदि का जीर्णोद्धार एवं सौंदर्यीकरण का कार्य तेजी से किया जा रहा है। हर घर बिजली लगातार योजना के तहत दरभंगा जिला में शत्-प्रतिशत घरों को बिजली से अच्छादित किया जा चुका है।  जिले में लगातार सड़क, पुल और पूलिया का निर्माण कार्य जारी है। आवागमन की सुविधा में लगातार विस्तार जारी है। भारत माला परियोजना के अन्तर्गत औरंगाबाद के आमस से गया, पटना, वैशाली होते हुए दरभंगा तक 06 लेन सड़क का निर्माण कराया जाना है। इसके साथ ही समस्तीपुर-दरभंगा मार्ग को 04 लेन में परिवर्तित किया जा रहा है। इसी कड़ी में बहुप्रतीक्षित शंकर रोसड़ा-सिसौनी पथ पर भी निर्माण कार्य जारी है।


07 नवम्बर 2020 से दरभंगा एयरपोर्ट से हवाई उड़ान प्रारंभ हो जाने से तिरहुत एवं पूर्वांचल सहित मिथिलांचल के लोगों को दिल्ली, मुम्बई एवं बैंगलुरू जाना आसान हो गया है। शीघ्र ही अहमदाबाद एवं कोलकत्ता के लिए हवाई सेवाएँ शुरू होने वाली है। समाज कल्याण विभाग के द्वारा दिव्यांग, बेसहारा, बुर्जूग, विधवा एवं निःसहाय लोगों के लिए निरंतर सहायता मुहैय्या करायी जा रही है। 03 लाख 77 हजार 238 लोगों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन दिया जा रहा है। वहीं मुख्यमंत्री वृद्धजन पेंशन योजना के तहत 60 वर्ष से अधिक उम्र के सभी वर्ग के लोगों को लाभान्वित किया जा रहा है। कबीर अन्येष्टि योजना, बिहार शताब्दी कुष्ठ कल्याण योजना, राष्ट्रीय परिवार लाभ योजना के तहत सहायता प्रदान किया जा रहा है तथा सामाज में समरास्ता कायम करने के लिए अंतर्जातीय विवाह प्रोत्साहन अनुदान योजना के अन्तर्गत अंतर्जातीय विवाह करने वाले जोड़ो को एक लाख रूपये का वित्तीय सहायता प्रदान किया जा रहा है। ग्रामीण महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़कर उन्हें आत्मनिर्भर बनाने हेतु बिहार ग्रामीण जीविका प्रोत्साहन समिति, जीविका द्वारा 41245 स्वयं सहायता समूहों का गठन किया गया है।  जिला औद्योगिक नव प्रवर्तन उद्यमी योजना के अन्तर्गत दरभंगा जिले में एल.एल.पी. (लिमिटेड लायबिलिटी पार्टनरशिप) के आधार पर 05 समूहों को स्थापित करवाया गया है। जिनमें मिथिला पेंटिग, मखाना व्यंजन, फेवर ब्लॉक एवं रेडीमेड गारमेंट्स निर्माण का नूतन प्रयोग कर अप्रवासी कुशल मजदूरों को रोजगार मुहैय्या कराने का प्रयास किया जा रहा है। इसके अन्तर्गत जिले में वृहत उद्योग की स्थापना कर हजारों कुशल कामगारों को रोजगार उपलब्ध कराने का प्रयास जारी है।  आज इस पुनीत अवसर पर हम समाज के सभी लोगों का आह्वान करते हैं कि देश और राज्य को आगे बढ़ाने के लिए हम मिलजुलकर काम करेंगे एवं जागरूक रहकर एक स्वस्थ एवं समृद्ध देश का निर्माण करेंगे।" इस अवसर पर उप विकास आयुक्त तनय सुल्तानिया, अपर समाहर्त्ता विभूति रंजन चौधरी, अपर समाहर्त्ता विभागीय जांच अखिलेश प्रसाद सिंह, सदर अनुमंडल पदाधिकारी राकेश कुमार गुप्ता, जिला भू अर्जन पदाधिकारी अजय कुमार, जिला आपूर्ति पदाधिकारी अजय कुमार एवं उप निदेशक जन संपर्क नागेंद्र कुमार गुप्ता आदि उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: