बिहार : कुर्जी पुल से कुर्जी हॉस्पिटल तक लम्बा मानव श्रृंखला - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 30 जनवरी 2021

बिहार : कुर्जी पुल से कुर्जी हॉस्पिटल तक लम्बा मानव श्रृंखला

rjd-human-chain-kurji
पटना. किसान आंदोलन के पक्ष में आज शीतलहर और ठंड के बावजूद बिहार में महागठबंधन की मानव श्रृंखला अभूतपूर्व रूप से सफल रही.खास बात यह रही कि इसमें लोग गाँव स्तर तक स्वेच्छा से शामिल हुए.पूँजीपतियों की गोद में खेलने वाली सरकार के विरुद्ध पूरे देश का किसान जाग रहा है. किसानों के समर्थन में महागठबंधन के घटक दलों ने सड़क पर उतरकर मानव श्रृंखला बनाये. राजद नेता पप्पू राय के नेतृत्व में कुर्जी पुल से कुर्जी हॉस्पिटल तक लम्बा मानव श्रृंखला  बनायी.   मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत सत्ताधारी नेताओं को सफलता हजम नहीं हुआ. किसानों के मुद्दे पर राजद की तरफ से आज मानव श्रृंखला आयोजित की गई. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की अगुवाई में पूरे बिहार में महागठबंधन के नेता-कार्यकर्ता कतारों में खड़े हुए और किसानों की आवाज को बुलंद किये. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव पटना के बुद्ध स्मृति पार्क के समीप मानव श्रृंखला बनाई. यहां पर कांग्रेस की तरफ से विधायक दल के नेता अजित शर्मा,राजद प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह समेत अन्य नेता कतार में खड़े हुए. कुर्जी दीघा में पप्पू राय के नेतृत्व में ह्यूमन चेन में महागठबंधन के सहयोगी दल के नेता भी शिरकत किये. मानव श्रृंखला में भाई धर्मेंद्र,मुकेश यादव,धनंजय यादव आदि बढ़चढ़ कर हिस्सा लिये.इनलोगों के मानव श्रृंखला में हर तबके के लोग शामिल हुए.पप्पू राय ने कहा कि 80 फीसदी वाले ग्रामीणों ने काला कानून के कलंक से देश को बचाने का आग्रह प्रधानमंत्री से किया है.मुख्यमंत्री जी से आग्रह किये हैं कि तीन कानून को रद कराएं. इस बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने तंज कसा है. उन्होंने कहा है कि चलिए अब तो ये लोग भी मानने लगे न मानव श्रृंखला का महत्व. सबसे पहले हमलोगों ने मानव श्रृंखला की शुरूआत की. सबसे पहले हमलोगों ने शराबबंदी पर मानव श्रृंखला का दूसरी दफे दहेज प्रथा- बाल विवाह और तीसरी बार जल-जीवन-हरियाली को लेकर मानव श्रृंखला बनाई. सीएम नीतीश ने कहा कि सबको मानव श्रृंखला बनाने का अधिकार है.…कोई बात नहीं है.

कोई टिप्पणी नहीं: