गया : न्यू ईयर पर वैक्सीन के गिफ्ट के साथ ही पॉलिटिक्स का डबल डोज - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 4 जनवरी 2021

गया : न्यू ईयर पर वैक्सीन के गिफ्ट के साथ ही पॉलिटिक्स का डबल डोज

vaccine-and-politics-reches
गया। देश में अब तक दो कोरोना वैक्सीन को मंजूरी मिल चुकी है, न्यू ईयर पर वैक्सीन के गिफ्ट के साथ ही पॉलिटिक्स का डबल डोज भी तैयार हो चुका है। एक तरफ एसपी सुप्रीमो अखिलेश यादव और कांग्रेसी नेताओं ने वैक्सीन के अप्रूवल पर सवाल उठाए हैं, वहीं दूसरी तरफ अब विपक्ष के सवालों पर पलटवार करते हुए केन्द्रीय मंत्री हरदीप पुरी ने अखिलेश यादव और कांग्रेस नेता जयराम रमेश को कटघरे में खड़ा करते हुए उनके राजनीतिक अस्तिव पर सवाल खड़े कर दिए।  कांग्रेस नेता शशि थरूर से लेकर जयराम रमेश ने भारत बायोटेक की देसी वैक्सीन को मंजूरी मिलने पर चिंता जताई। शशि थरूर ने कहा कि कोवैक्सिन ने अभी फेज-3 के ट्रायल पूरे नहीं किए हैं, ऐसे में इसे मंजूरी देना चिंताजनक हो सकता है। डॉक्टर हर्षवर्धन को इस पर स्पष्टीकरण देना चाहिए। पूरे ट्रायल खत्म होने तक इसके इस्तेमाल से भी बचना चाहिए। भारत इस दौरान एस्ट्रा जेनेका के इस्तेमाल से शुरुआत कर सकता है। इससे पहले सपा नेता अखिलेश यादव ने भी वैक्सीन पर चिंता जताते हुए कहा था कि वे भाजपा की वैक्सीन नहीं लगवाएंगे। इस बीच कोविड-19 महामारी के प्रभाव को नियंत्रण के लिए वैक्सीनेशन के लिए राष्ट्रीय स्तर पर, राज्य स्तर पर एवं जिला स्तर पर कार्रवाई तेजी से की जा रही है।जिला में भी कोविड-19 वैक्सीनेशन से संबंधित तैयारी की समीक्षा के लिए जिला पदाधिकारी की अध्यक्षता में डिस्ट्रिक्ट टास्क फोर्स की बैठक आयोजित की गई। बैठक में मुख्य रूप से बताया गया कि कोविड-19 से संबंधित वैक्सीनेशन के लिए निर्वाचन की तरह बूथ लेवल एक्सरसाइज करना होगा। सर्वप्रथम स्वास्थ्य विभाग के संबंधित हेल्थ वर्कर को वैक्सीनेशन दी जाएगी। उसके बाद फ्रंटलाइन वर्कर को वैक्सीनेशन देने की तैयारी की जा रही है। टास्क फोर्स की बैठक में बताया गया कि केंद्र सरकार द्वारा अनुमोदित वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित है तथा इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं के बराबर है। वैक्सीन लेने के बाद अगर किसी व्यक्ति को कुछ परेशानी होती है तो यह अन्य शारीरिक कारणों से भी हो सकता है, इसमें घबराने की बात नहीं है। वैक्सीन देने के बाद आधा घंटा तक ऑब्जरवेशन रूम में रखने की व्यवस्था होगी ताकि वैक्सीन लगने के बाद निगरानी किया जा सके। बैठक में बताया गया कि वैक्सीन से संबंधित अफवाहें उड़ाई जा रही है जो पूरी तरह बेबुनियाद है। बैठक में बताया गया कि सभी आम जनों को एवं सभी जनप्रतिनिधियों को भी कोविड-19 की वैक्सीन दी जाएगी, जिसके लिए बड़े पैमाने पर तैयारी की जा रही है। उल्लेखनीय बात यह है कि वैक्सीन के बाद भी मास्क का उपयोग, सामाजिक दूरी का अनुपालन, हैंड सेनीटाइजर का उपयोग आवश्यक होगा। बैठक में बताया गया कि जो हेल्थ केयर वर्कर अब तक वैक्सीन के लिए अपना एंट्री नहीं किए हैं, वह 7 जनवरी तक अवश्य एंट्री कराना सुनिश्चित करें। हेल्थ केयर वर्कर में एंबुलेंस चालक भी शामिल है।  बैठक में बताया गया कि इसमें लोगों को जागरूक करने एवं विभिन्न संस्थाओं का सहयोग लिया जाएगा।बैठक में सिविल सर्जन, डब्ल्यूएचओ के डॉक्टर, अधीक्षक अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल अस्पताल, उप विकास आयुक्त सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: