दिल्ली को राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण में सर्वाधिक अंक स्कूलों के कायाकल्प से - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 20 जनवरी 2021

दिल्ली को राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण में सर्वाधिक अंक स्कूलों के कायाकल्प से

delhi-schools-makes-delhi-proud
नयी दिल्ली, 20 जनवरी, नीति आयोग ने दिल्ली में सरकारी स्कूलों के ऐतिहासिक कायाकल्प की बुधवार को सराहना की। दरअसल, सरकार से सहायता प्राप्त स्कूलों ने देश की राजधानी को राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण (एनएएस) में सर्वाधिक ‘अंक’ हासिल करने में मदद की है। ‘भारत नवाचार सूचकांक 2020’ में सभी राज्यों ने औसतन 35.66 अंक प्राप्त किये हैं। सूचकांक के मुताबिक दिल्ली की अधिक आय और सरकारी स्कूलों के ऐतिहासिक कायाकल्प के चलते राष्ट्रीय राजधानी ने उच्चतम एनएएस ‘स्कोर’ (44.73) हासिल किए। इसमें इस बात का जिक्र किया गया है कि किसी राज्य की आय का स्तर भी एक बड़ी भूमिका निभाता है। सूचकांक में कहा गया है कि सरकार से सहायता प्राप्त स्कूलों में अच्छी गुणवत्ता वाली शिक्षा सुनश्चित कर राज्य एनएएस ‘स्कोर’ बढ़ाने में भी महत्वपूर्ण योगदान दे सकते हैं। सूचकांक के मुताबिक देश भर में इंजीनियरिंग एवं प्रौद्योगिकी पाठ्यक्रमों में दाखिले में कमी दर्ज की गई। आंकड़ों के मुताबिक इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी पाठ्यक्रमों में छात्रों का दाखिला देश के दक्षिणी हिस्सों में केंद्रित रहा, हालांकि यह आंकड़ा पूर्वोत्तर राज्यों में कम रहा।

कोई टिप्पणी नहीं: