बिहार : गुरु गोविंद सिंह जी महाराज हम सभी के प्रेरणाश्रोत : नीतीश - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 20 जनवरी 2021

बिहार : गुरु गोविंद सिंह जी महाराज हम सभी के प्रेरणाश्रोत : नीतीश

nitish-reach-patna-sahib
पटना : सिखों के दशमेश पिताश्री गुरु गोविंद सिंह जी महाराज की जयंती पर सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पटना साहिब स्तिथ गुरुद्वारा पहुंच मत्था टेक कर बिहार की भलाई के लिए प्रार्थना किया। वहीं गुरुद्वारा पहुंचे सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि श्री गुरु गोविंद सिंह जी महाराज सर्ववंशदानी थे। उनका योगदान,बहादुरी, त्याग पूरे विश्व भर में कोई नहीं भूल सकता। वे हम सभी के प्रेरणास्त्रोत है। साथ ही उन्होंने कहा कि गुरु गोविंद सिंह का मानना था कि समाज में शांति बहाल करना और आपसी भाईचारे की बेहद जरूरत है। इसलिए हम सभी को भी समाज के प्रति बैर-भाव न रख कर प्रेम, सद्भाव और समानता का भाव रखना चाहिए। यहीं उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी। जानकारी हो कि श्री गुरु गोविंद सिंह जी महाराज का जन्म पौष महीने के शुक्लपक्ष की सप्तमी तिथि को बिहार के पटना साहिब में हुआ था। इनके बचपन का नाम गोविंद राय था। वह अपने पिता गुरु तेज बहादुर जी की शहादत के बाद वे 9 साल की आयु में दसवें सिख गुरु बनाए गए थे।सिखों के लिए 5 चीजें- केश, कड़ा, कछैरा (कच्छा), कृपाण और कंघा धारण करने का आदेश गुरु गोबिंद सिंह ने ही दिया था।

कोई टिप्पणी नहीं: