SC ने बसपा विधायकों के कांग्रेस में विलय के मामले में भेजा नोटिस - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 7 जनवरी 2021

SC ने बसपा विधायकों के कांग्रेस में विलय के मामले में भेजा नोटिस

sc-notics-to-speeker
जयपुर 07 जनवरी, उच्चतम न्यायालय ने राजस्थान में बहुजन समाजवादी पार्टी (बसपा) विधायकों के कांग्रेस में विलय को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई करते हुए आज विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सी पी जोशी को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। नोटिस में इनके अलावा विधानसभा सचिव और कांग्रेस में शामिल हुए सभी छह बसपा विधायकों को भी न्यायालय ने नोटिस जारी किया है। न्यायाधीश अब्दुल नजीर और न्यायाधीश के एम जोसेफ की खंडपीठ ने यह आदेश बसपा और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधायक मदन दिलावर की एसएलपी पर दिए हैं। बसपा ने अपनी याचिका में दलील दी कि बसपा एक राष्ट्रीय राजनीतिक पार्टी है. लिहाजा, पार्टी की किसी भी यूनिट के विलय का फैसला राज्य की यूनिट नहीं कर सकती, जबतक कि राष्ट्रीय इकाई पार्टी के विलय पर मुहर न लगा दे। एसएलपी में राजस्थान उच्च न्यायालय के पिछले साल के 24 अगस्त के उस आदेश को चुनौती दी गई थी जिसमें उच्च न्यायालय ने बसपा की याचिका को खारिज करते हुए दलबदल का मामला विधानसभा अध्यक्ष के समक्ष उठाने की छूट दी थी। एसएलपी में कहा गया कि बसपा विधायकों को सत्ता का लालच देकर कांग्रेस में शामिल किया गया है। इसके विरुद्ध पार्टी पहले स्पीकर के समक्ष की गई, जहां सुनवाई नहीं होने पर उच्च न्यायालय की एकलपीठ में याचिका पेश की गई लेकिन हाईकोर्ट ने याचिका खारिज करते हुए दल बदल के मामले को विधानसभा अध्यक्ष के सामने उठाने को कहा था।

कोई टिप्पणी नहीं: