कोविशील्ड की पहली खेप दिल्ली के केंद्रीय भंडारण केंद्र पहुंची - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 12 जनवरी 2021

कोविशील्ड की पहली खेप दिल्ली के केंद्रीय भंडारण केंद्र पहुंची

vaccine-reaches-delhi
नयी दिल्ली, 12 जनवरी, दिल्ली के केंद्रीय भंडारण केंद्र राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल (आरजीएसएसएच) में मंगलवार दोपहर को कोविशील्ड टीके की पहली खेप पहुंच गयी। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। आरजीएसएसएच के चिकित्सा अधीक्षक बी एल शेरवाल ने बताया कि ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के कोविड-19 टीके की करीब ढाई लाख खुराक अस्पताल पहुंचायी गयी है। टीके की इस खेप को लेकर सुबह करीब दस बजे स्पाइसजेट की उड़ान दिल्ली हवाई अड्डे पर उतरी। उसके बाद दिल्ली पुलिस ने दिल्ली सरकार के सबसे बड़े कोविड-19 अस्पताल तक उसे सुरक्षित ढंग से पहुंचाने में सहयोग के लिए ‘ग्रीन कोरिडोर’ (निर्बाध मार्ग) कायम किया। चार दिन बाद देशभर में कोरोना वायरस के विरूद्ध टीकाकरण अभियान शुरू होने वाला है। सूत्रों ने कहा, ‘‘ टीके को लेकर ट्रक करीब तीन बजकर 10 मिनट पर अस्पताल पहुंचा।’’ आरजीएसएसएच में टीके के भंडारण के लिए समुचित व्यवस्था की गयी है। पुलिस उपायुक्त (इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा) राजीव रंजन ने बताया कि भंडार स्थल पर पर्याप्त सुरक्षा प्रबंध किए गए हैं और पुलिस नियंत्रण कक्ष की गाड़ियां अपनी गश्त योजना के तहत उसके आसपास भी चक्कर लगाएंगी। पुलिस उपायुक्त (शाहदरा) अमित शर्मा ने कहा, ‘‘ हमने राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के भंडारण क्षेत्र में कर्मी तैनात किये हैं।’’ आरजीएसएसएच से ये टीके कड़ी सुरक्षा में विशेष वाहनों से टीकाकरण केंद्रो पर पहुंचाये जायेंगे। दिल्ली सरकार ने राष्ट्रीय राजधानी में सरकारी एवं निजी अस्पतालों समेत 89 स्थान निर्धारित किये हैं जहां टीकाकरण के पहले चरण में करीब तीन लाख स्वास्थ्यकर्मियों को टीका लगाया जाएगा। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, सफदरजंग अस्पताल, एलएनजेपी अस्पताल, जीटीबी अस्पताल, अपोलो अस्पताल और मैक्स अस्पताल आदि उनमें शामिल हैं। सूत्रों ने बताया कि लोकनायक जयप्रकाश नारायण अस्पताल में 16 जनवरी को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन की मौजूदगी में सादे समारोह में टीकाकरण शुरू होने की संभावना है। भारत के दवा नियामक ने कोविशील्ड और कोवैक्सीन को देश में सीमित आपात उपयोग की मंजूरी दी थी। कोविशील्ड को ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय एवं ब्रिटिश स्वीडिश कंपनी आस्ट्रेजेनेका ने विकसित किया है और उसका उत्पादन सेरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने किया है। कोवैक्सीन भारत बायोटेक द्वारा विकसित स्वदेशी टीका है।

कोई टिप्पणी नहीं: