अगले चरण में लगवाऊंगा टीका : अमरिंदर सिंह - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 16 जनवरी 2021

अगले चरण में लगवाऊंगा टीका : अमरिंदर सिंह

will-vaccinate-in-next-phase-amrinder-singh
मोहाली(पंजाब), 16 जनवरी, पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने यहां कोरोना वायरस टीकाकरण अभियान की शुरुआत करते हुए शनिवार को कहा कि वह अगले चरण में टीका लगवाएंगे। यहां सिविल हॉस्पिटल में मुख्यमंत्री की मौजूदगी में तीन डॉक्टरों समेत चार स्वास्थ्य कर्मियों को "कोवीशील्ड" टीके की पहली खुराक दी गई। सिंह ने इन स्वास्थ्य कर्मियों को सराहना के प्रतीक के तौर पर पौधे उपहार में दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह आरंभ में ही टीका लगवाना चाहते थे, लेकिन भारत सरकार के निर्देशों के तहत प्रथम चरण में सिर्फ स्वास्थ्य कर्मियों को ही टीका लगाया जाना है। उन्होंने कहा, " मैं निश्चित रूप से अगले चरण में टीका लगवाऊंगा।" सिंह ने कहा कि भारत सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुरूप पहले स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जाएगा। इसके बाद सेना और पुलिस कर्मियों को टीका लगाया जाएगा। पहले चरण में 1.74 लाख स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जाएगा। सिंह ने बताया कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर कम आय समूहों से आने वाले लोगों के लिए टीके के निशुल्क वितरण की इजाज़त मांगी थी। टीके की सुरक्षा को लेकर किए गए सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर वैज्ञानिक टीके की सुरक्षा को लेकर निश्चित नहीं होते, तो टीके को मंजूरी नहीं दी गई होती। सिंह ने कहा कि ब्रिटेन की 93 वर्षीय महारानी एलिज़ाबेथ, उनके 99 साल के पति प्रिंस फिलिप समेत कई प्रतिष्ठित लोगों ने कोविड-19 का टीका लगवाया है और इसका कोई दुष्प्रभाव सामने नहीं आया है। इससे पहले, अपने संबोधन में मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्यव्यापी कोविड टीकाकरण की शुरुआत करते हुए उन्हें खुशी हो रही है। उन्होंन लोगों से अपील की कि वे मास्क लगाए, दूरी बनाए रखें एवं अन्य सुरक्षा उपाय अपनाना जारी रखें। मुख्यमंत्री ने कहा कि पांबदियां, कर्फ्यू आदि लगाने का मकसद यह था कि महामारी को चरम पर पहुंचने में देर की जाए, ताकि टीका उपलब्ध हो सके। सिंह ने मुश्किल दौर में संयम बरतने और सहयोग करने के लिए लोगों का आभार व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने उम्मीद जताई की टीकाकरण से कोविड महामारी पंजाब और देश से पूरी से तरह से खत्म हो जाएगी। उन्होंने कहा कि देश में कोरोना वायरस का पहला मामला 20 जनवरी 2020 को केरल में सामने आया था जबकि पंजाब में पांच मार्च 2020 को संक्रमण का पहला मामला मिला था। स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने बताया कि टीकाकरण को सुचारू रूप से चलाने के लिए सभी इंतजाम किए गए हैं। उन्होंने कहा कि शुरुआती चरण में 408 टीकाकरण टीमें गठित की गई हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: