दुनिया भारत के वी-आकार के सुधार से हैरान : अमित शाह - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 21 जनवरी 2021

दुनिया भारत के वी-आकार के सुधार से हैरान : अमित शाह

wolrd-watching-our-vaccination-amit-shah
अहमदाबाद, 21 जनवरी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि भारतीय अर्थव्यवस्था वी-आकार का सुधार दर्ज कर रही है जिसे दुनिया हैरान होकर देख रही है। वी-आकार के सुधार के आशय अर्थव्यवस्था में तेज गिरावट के बाद तेजी से सुधार से है। शाह ने बृहस्पतिवार को कहा कि कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण अभियान अच्छे तरीके से चल रहा है और एक बार सभी को यह टीका लगने के बाद ‘हम महामारी पर विजय हासिल कर लेंगे।’’ गुजरात के उप-मुख्यमंत्री नितिन पटेल द्वारा यहां शिलज में चार लेन के ओवर-ब्रिज के उद्घाटन कार्यक्रम को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये संबोधित करते हुए शाह ने यह बात कही। शाह ने कहा, ‘‘कोरोना वायरस महामारी से दुनिया की सभी अर्थव्यवस्थाएं प्रभावित हुई हैं। लेकिन दुनिया भारतीय अर्थव्यवस्था के वी-आकार के सुधार से हैरान है।’’ चालू वित्त वर्ष की पहली अप्रैल-जून तिमाही में भारतीय अर्थव्यवस्था में 23.9 प्रतिशत की गिरावट आई है। दूसरी तिमाही में यह गिरावट कम होकर 7.5 प्रतिशत रह गई है। दिसंबर तिमाही में त्योहारी सीजन की वजह से मांग की स्थिति और सुधरी है। शाह ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार ने पिछले छह साल के दौरान जो बुनियादी ढांचा विकास किया है, वह पूर्ववर्ती सरकारें इससे पिछले 20 साल के दौरान भी नहीं कर पाई थीं। गृह मंत्री ने बुनियादी ढांचा विकास को लेकर मेट्रो लाइन, बुलेट ट्रेन और अन्य परियोजनाओं का हवाला दिया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी देश के बुनियादी ढांचा विकास के लिए काफी मेहनत कर रहे हैं। चाहे वह शहरी क्षेत्र हो या ग्रामीण। शाह ने कहा कि मोदी सरकार ने देश के सभी गांवों तक बिजली पहुंचाई है और सड़क संपर्क उपलब्ध कराया है। प्रत्येक परिवार का कम से कम से कम एक बैंक खाता खोला गया है। उन्होंने कहा, ‘‘देश में 10 करोड़ परिवारों या 30 करोड़ लोगों के पास अपना घर नहीं है। कम आय वर्ग के लिए जिस तरीके से घरों का निर्माण किया जा रहा है, उससे हमें विश्वास है कि 2022 तक सभी परिवारों का अपना घर होगा।’’

कोई टिप्पणी नहीं: