अगले वित्त वर्ष में 11 फीसदी विकास दर : जयशंकर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 6 फ़रवरी 2021

अगले वित्त वर्ष में 11 फीसदी विकास दर : जयशंकर

11-percent-growth-in-next-financial-year-jaishankar
विजयवाडा 06 फरवरी, विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने कहा कि देश अगले वित्त वर्ष 2021-22 में 11 फीसदी विकास दर हासिल करेगा। श्री जयशंकर ने शनिवार को यहां संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्रीय बजट ने पूरे देश में बुनियादी ढांचे और मानव क्षमता बनाने पर ध्यान केंद्रित किया। उन्होंने  कहा कि बजट प्रस्तावों में बाकी छह पिलरों और स्वास्थ्य क्षेत्र में प्राथमिकता दी गयी है। बजट में दो लाख करोड रुपए उत्पादन से जुड़े प्रोत्साहन और नवाचार को प्रोत्साहित करने के लिए आवंटित किया गया है। विदेश मंत्री ने कहा कि बजट का मुख्य आधार मानव क्षमता का विकास करना है। उन्होंने कहा कि 13 क्षेत्रों की पहचान की गयी है और बजट में दृढ़ता से इसका समर्थन किया गया है। श्री जयशंकर ने कहा कि भारत कोरोना वायरस से प्रभावी ढंग से निपटने के लिए कई कदम उठा रहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के प्रकोप के बाद स्वास्थ्य सबसे महत्वपूर्ण चिंता का विषय बन गया है और इसीलिए बजट में स्वास्थ्य क्षेत्र को प्राथमिकता दी गई है। सीमा गतिरोध पर चीन के साथ मंत्रिस्तरीय स्तर की वार्ता हुई या नहीं इस सवाल का जवाब देते हुए श्री जयशंकर ने कहा कि किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए चीन सीमा पर बड़ी संख्या में सैनिकों को तैनात किया गया है। उन्होंने कहा कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रूस में अपने समकक्ष मंत्री से मुलाकात की और चीन के साथ मुद्दे को हल करने की बातचीत की। उन्होंने कहा, “प्रतिरोध बात एक बहुत ही जटिल मुद्दा है क्योंकि यह सैनिकों पर निर्भर करता है। भारत और चीन के सैन्य कमांडरों ने इस मुद्दे पर नौ दौर की वार्ता की और हमारा मानना ​​है कि कुछ प्रगति हुई है, लेकिन यह एक उस तरह की स्थिति में नहीं है, जहां जमीनी स्तर पर अभिव्यक्ति दिखाई देती हो।” इस अवसर पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सोमू वीरराजू और सांसद जी वी एल नरसिम्हा राव भी उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: