मधुबनी : अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति का केंडल मार्च - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 14 फ़रवरी 2021

मधुबनी : अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति का केंडल मार्च

aikscc-candle-march-madhubani
मधुबनी 
(आर्यावर्त संवाददाता),  अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति , मधुबनी द्वारा पुलवामा के शहीदों एवं किसान आंदोलन के शहीदों  के सम्मान में केंडल मार्च निकाला गया । केंद्र सरकार के मुखिया के द्वारा आजतक पुलवामा हमला के कारणों की जांच का खुलासा नही किया गया है । आरडीएक्स प्रयोग करने वाली गाड़ियों के बारे में जनकारी को सार्वजनिक नही किया । हम दावा करते है कि पुलवामा हमला सरकारी चूक एवं लापरबाही के कारण हुई । उक्त बातें केंडल मार्च का नेतृत्व कर रहे किसान नेता मनोज मिश्रा , लक्ष्मण चौधरी , राकेश कुमार पांडेय , सीपीआई जिला मंत्री मिथिलेश झा , महिला समाज के महासचिव राज श्री किरण ,जुबेर अंसारी , शहर मंत्री मोतीलाल शर्मा , सूर्यमोहन झा , बैद्यनाथ ठाकुर , रामचंद्र दास , अमरेश ठाकुर , राजेन्द्र मिश्र , मो फारुख,सत्यनारायण राय शहित अन्य किसान नेताओं ने कहा । केंडल मार्च शहर के  विभिन्य मार्ग होते हुए थाना चौक पहुँचा जहाँ एक नुक्कर सभा आयोजित किया गया । सभा को सम्बोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा किसानों  का आंदोलन दो महीने से भी अधिक दिनों से अनवरत जारी है । 200 से अधिक किसान शहीद हो चुके है । लेकिन प्रधानमंत्री एवं अन्य किसी मंत्रियों के द्वारा शहीदों के सम्मान में एक भी शब्द एवं सहानुभूति नही दिखया गया है । उलट किसानों के विरुद्ध अपमानित करने वाले भाषण एवं शब्दों का प्रयोग किया जाता है । किसान संगठन पुलवामा एवं किसान आंदोलन के शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए सरकार की ऐसी रवैया की निदा करती है एवं तीनों  कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग करती है ।

कोई टिप्पणी नहीं: