मुजफ्फरपुर : श्मशान की भूमि हथियान के खिलाफ ज्ञापन दिया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 10 फ़रवरी 2021

मुजफ्फरपुर : श्मशान की भूमि हथियान के खिलाफ ज्ञापन दिया

memorendum-for-enclochment
मुजफ्फरपुर। इस जिला में है कुढ़नी प्रखंड.प्रखंड कार्यालय तुर्की के स्थानीय चौक से दो किलोमीटर दक्षिण चंद्रहट्टी पंचायत की सीमा अंकरहा से शुरू होती है। इसके बीच से पटना-मुजफ्फरपुर एनएच 77 जाता है। ये इसे दो भाग में बांटता है। पूर्वी भाग में मुजफ्फरपुर-हाजीपुर रेलखंड है। इस पंचायत में सबसे बड़ी समस्या शव के दाह संस्कार की है। अनंत कमतौल एनएच से सटे श्मशान घाट की बंदोबस्ती आधा दर्जन लोगों के बीच अंचल कार्यालय ने कर दी है। लाभुकों को जमीन का पर्चा भी दे दिया गया है। पर्चाधारकों ने दखल कब्जा भी कर लिया है। इसके बाद से दाह संस्कार की समस्या खड़ी हो गई है। परिजन को इधर-उधर भटकना पड़ रहा है। अभी यह मसला शांत नहीं थी कि मुशहरी प्रखंड के मनिका मन के समीप स्थित श्मशान में वाटर ट्रीटमेंट प्लांट के निर्माण को लेकर ग्रामीणों व प्रशासन में गतिरोध कायम हो गया है। एक ओर प्रशासन जहां निर्माण को लेकर प्रयासरत है। वहीं, दूसरी ओर ग्रामीण खुलकर इसकी खिलाफत कर रहे हैं। एक वर्ष पूर्व विरोध के बाद तत्कालीन डीएम अतुल कुमार घोष द्वारा निर्माण पर रोक लगाने के बाद मामला शांत हो गया था। इधर, बुडको अधिकारियों द्वारा उक्त स्थल पर ही निर्माण का प्रयास शुरू करने का विरोध शुरू हो गया है। इस मुद्दे पर सहमति बनाने के लिए एसडीओ पूर्वी कुंदन कुमार के निर्देश पर प्रखंड प्रशासन व ग्रामीणों के साथ जनप्रतिनिधियों की बैठक बुलाई। इस बैठक से पूर्व अंबेदकर भवन में माले नेता रामवृक्ष राम की अध्यक्षता में बैठक हुई जिसमें श्मशान भूमि पर प्लांट निर्माण से लोगों की आस्था को ठेस पहुंचने की बात कहकर इसका विरोध किया गया। वहीं, स्थानीय स्तर पर  प्रदूषण बढ़ेगा जो ग्रामीणों के लिए  अभिशाप साबित होगा। लोगों ने प्लांट निर्माण का विरोध करने का निर्णय लिया।


वहीं, प्रखंड सभाकक्ष में एसडीओ, सीओ, कार्यपालक अभियंता बुडको अरुण कुमार ने लोगों को बताया कि नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के निर्देश पर प्लांट बनाया जाना है। अगर निर्माण से वातावरण प्रदूषित होता तो एनजीटी आदेश ही नहीं देती। प्लांट बनने से मत्स्यपालन बेहतर होगा। ट्रीटमेंट करने पर पानी का पीएच 7 हो जाएगा जो पूरी तरह स्वच्छ होगा। गाद का खाद बनेगा। श्मशान को आधुनिक बनाया जाएगा। अंत में लोगों ने कहा कि वे निर्माण के विरोधी नहीं, केवल श्मशान की भूमि को छोड़ दें। तब एसडीओ ने कहा कि जमीन सरकारी है निजी नहीं। क्षेत्र के विकास के लिए आपलोग सकारात्मक सोच बनाएं।  दोनों बैठकों में जिला पार्षद अमित कुमार, जिला पार्षद रूदल राम ,पूर्व जिला पार्षद मुक्तेश्वर प्रसाद सिंह, प्रियदर्शनी शाही उर्फ मन्नू शाही, ओम प्रकाश सिंह, बाबूलाल पासवान, उदय चौधरी, परशुराम पाठक, शत्रुघ्न सहनी, रामकिशोर झा, विपिन शाही, विजय सिंह, सतीश कुमार आदि शामिल थे। इस बीच मुजफ्फरपुर के मुशहरी अंचल अन्तर्गत श्मशान की भूमि को प्रशाशन द्वारा नाजायज अधिग्रहीत करने के विरोध में माननीय सांसद अजय निसाद जी से मिलकर ज्ञापन दिया गया। ज्ञापन के बाद वार्ता हुआ तो मंत्री जी से अश्वासन मिला कि श्मशान की भूमि में नहीं बनेगा,साथ ये भी बोले कि शहर के पानी की नीचे स्तर फरदो पुल की तरफ है उधर होना चाहिये साथ अगर सरकारी जमीन नही है वहां तो सरकार खरीदेगी और अपनी काम करवाएगी.सरकार विकास देखती है पैसा नही पर श्मशान के जमीन पर न तो कोई भवन बननी चाहिये न रोड या कोई भी  सरकारी कार्य नही होनी चाहिये।सांसद जी का साथ मिला ओ बोले हम जनता के साथ है।


बता दे की सैकड़ों वर्ष पुराना हिन्दुओं का दाह संस्कार स्थल आज कचरा खाना में परिणित होने जा रहा है ।हमारे पूर्वजों के अस्थि को शहर के नालो के पानी से अभिषेक होगा। हम भगीरथ के वंशज आपने पूर्वजों के सम्मान में स्वर्ग से गंगा उतारने की क्षमता रखते है।प्रशाशन के इस नापाक इरादों को हम कामयाब नहीं होने देंगे।अपनी हिन्दू एकता का परिचय देते हुये समसान बचाव समिति के कुछ सदस्य मंत्री से मिले जो हैं  प्रहलादपुर के जिला पार्षद रूदल राम जी, पूर्व मुखिया संघ अध्यक्ष एवं वर्तमान पैक्स अध्यक्ष प्रियदर्सनी शाही उर्फ मन्नु शाही, पूर्व उप मुखिया लखेन्द्र साह जी, पूर्व जिला परिसद-मुक्तेस्वर सिंह उर्फ मुकेश सिंह जी, छपरा पैक्स अध्यक्ष-राजेश शर्मा जी,समाज सेवी -चंद्रकिशोर बैठा एवं बोचहा विधानसभा के विधायक  प्रतियाशी एवं सांसद जी के भांजा -विक्रम निसाद जी,श्री सतपाल रंजीत स्टडी सेन्टर के फाउंडर & सीईओ:- मुकेश कुमार कुशवाहा जी उपस्थित थे ये लड़ाई अब समसान बचाने के लिये मुज़फ्फरपुर के प्रशासनिक अधिकारी बनाम  मुशहरी प्रखंड  के सभी जनता के बीच हो रही है सभी राजनीति दल एवं सामाजिक, एवं जन प्रतिनिधियों एवं सभी जनता के एकता के साथ लड़ा जा रहा है अब देखना है आगे क्या होता है ।

कोई टिप्पणी नहीं: