श्री कृष्ण सरल सम्मान से सम्मानित हुए डॉ. कृष्णगोपाल मिश्र - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 21 फ़रवरी 2021

श्री कृष्ण सरल सम्मान से सम्मानित हुए डॉ. कृष्णगोपाल मिश्र

krishna-gopal-mishra-honored
साहित्यिक सांस्कृतिक संस्था 'शाम ए यादगार' द्वारा सुदीर्घ साहित्य सेवा के लिए डॉ कृष्णगोपाल मिश्र को श्री कृष्ण सरल सम्मान प्रदान किया गया। शासकीय नर्मदा महाविद्यालय होशंगाबाद में हिंदी विभागाध्यक्ष के रूप में कार्यरत डॉ.मिश्र कविता, निबंध, आलोचना और कोशग्रंथ लेखन में महत्वपूर्ण योगदान के लिए जाने जाते हैं। भारतीय काव्यशास्त्र के विशेषज्ञ डॉ. मिश्र को रस-सिद्धान्त पर तुलनात्मक लेखन के लिए डी. लिट. की उपाधि प्राप्त हुई। राष्ट्रीय स्तर पर प्रकाशित विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में उनके दो सौ से अधिक आलेख प्रकाशित हो चुके हैं। अपनी विशिष्ट व्याख्यान शैली के कारण प्रभावशाली वक्ता के रूप में अपनी अलग पहचान रखने वाले  डॉ. मिश्र ने विभिन्न राष्ट्रीय- अंतरराष्ट्रीय  साहित्यिक गोष्ठियों में अध्यक्षता एवं सहभागिता की है। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री गिरजाशंकर शर्मा (पूर्व विधायक नर्मदापुरम) एवं वरिष्ठ साहित्यकार डॉ. विनोद निगम ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। कार्यक्रम का संचालन डॉ. संतोष व्यास ने किया।

कोई टिप्पणी नहीं: