दरभंगा : आयुष्मान पखवाड़ा की सफलता को लेकर हुई बैठक - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 24 फ़रवरी 2021

दरभंगा : आयुष्मान पखवाड़ा की सफलता को लेकर हुई बैठक

26 लाख लाभुकों का बनेगा निःशुल्क गोल्डन कार्ड, गोल्डन कार्ड से 5 लाख तक का होगा मुफ्त इलाज

ayushman-pakhwada-darbhanga
दरभंगा। अम्बेडकर सभागार, दरभंगा में उप विकास आयुक्त तनय सुल्तानिया की अध्यक्षता में आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत गोल्डन कार्ड के लक्ष्य को पूर्ण करने के उद्देश्य से 17 फरवरी से 03 मार्च 2021 तक चलाया जा रहा है *आयुष्मान पखवारा*। इसकी सफलता को लेकर सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी के साथ ऑनलाइन बैठक की गई। बैठक में दरभंगा के सिविल सर्जन डॉ. संजीव कुमार सिन्हा द्वारा बताया गया कि 2011 में सामाजिक, आर्थिक एवं जातीय जनगणना हुई थी, इस सूची के आधार पर दरभंगा जिला के 27 लाख 89 हजार 706 लाभार्थी गोल्डन कार्ड के लिए योग्य पाए गए हैं। लेकिन अब तक सिर्फ 1लाख 63 हजार लाभार्थी का ही गोल्डन कार्ड बना है। शेष लाभार्थियों का गोल्डन कार्ड *आयुष्मान पखवाड़ा* 17 फरवरी से 03 मार्च 2021 तक सभी पंचायतों में पंचायत सरकार भवन में/ आरटीपीएस केंद्रों पर निःशुल्क कार्ड बनाया जाना है। इस योजना के अंतर्गत गोल्डन कार्डधारी एक वर्ष के अंदर 5 लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज सूचीबद्ध सरकारी/निजी अस्पताल में करा सकता है। सामान्य दिनों में यह कार्ड राशन कार्ड एवं आधार कार्ड या कोई फोटो युक्त पहचान पत्र प्रस्तुत करने पर वसुधा केंद्र (सीएससी) पर बन जाता है। लेकिन वहाँ 30 रुपये कार्ड का लगता है।  सामाजिक आर्थिक एवं जातीय जनगणना 2011 में हुई थी। उसके पश्चात यदि किसी की शादी हुई है तो उसकी पत्नी का नाम या यदि किसी के बच्चे हुए हैं तो उनके नाम भी सूची में जुड़ेगा। उप विकास आयुक्त ने सभी बीडीओ एवं प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को इसका व्यापक प्रचार-प्रसार करवाने के निर्देश दिए।उन्होंने कहा कि इसके लिए जीविका दीदी, आंगनबाड़ी सेविका, सहायिका, आशा कार्यकर्ता, जन वितरण प्रणाली के विक्रेता एवं स्वेच्छा ग्राही के माध्यम से घर-घर में इसकी जानकारी दी जाए। साथ ही स्थानीय जनप्रतिनिधियों यथा मुखियाजी, पंचायत समिति सदस्य, वार्ड सदस्य को भी इस अभियान में शामिल किया जाए। पंचायत चुनाव के लिए उनकी भी एक बड़ी उपलब्धि हो जाएगी। उन्होंने कहा कि यह एक सुनहरा अवसर है लोगों को गोल्डन कार्ड से लाभान्वित करने का।  उन्होंने कहा कि इसके प्रचार-प्रसार के लिए सोशल मीडिया एवं व्हाट्सएप ग्रुप का व्यापक प्रयोग किया जा सकता है। उन्होंने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी को इस अभियान की सफलता के लिए माइक्रो प्लान बना कर तुरंत अमल करने के निर्देश दिए तथा प्रतिदिन संध्या में प्राप्त आवेदनों की संख्या की जानकारी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि लाभार्थी अपने या अपने परिवार के पात्रता की जांच www.mera.pmjay. gov.in एवं www.biswass.bihar.gov. in वेब पोर्टल पर कर सकते हैं। राज्य कॉल सेंटर के टॉलफ्री नंबर 104 या राष्ट्रीय कॉल सेंटर टॉलफ्री नंबर 14555 पर इसकी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त व्हाट्सएप नंबर-98689 14555(मास्टर आयुष्मान) पर भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। साथ ही सूचीबद्ध अस्पतालों की जानकारी भी प्राप्त की जा सकती है। बैठक में प्रधानमंत्री जन विकास योजना के अंतर्गत सामाजिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम के लिए प्रखंड स्तर पर बनाया जा रहा सद्भाव मंडप को लेकर भी संबंधित अंचलाधिकारी से समीक्षा की गयी। जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी मो. रिजवान ने बताया कि सिंहवाड़ा, गौड़ाबौराम एवं मनीगाछी अंचल द्वारा वांछित जमीन 110 फिट ×100 फीट उपलब्ध करा दिया गया है। लेकिन टेंडर एवार्ड हो जाने के बाद अब कार्य एजेंसी को जमीन की उपलब्धता नहीं बतायी जा रही है। उप विकास आयुक्त ने तीनों अंचलाधिकारियों को जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी,दरभंगा से समन्वय स्थापित कर इसका अभिलंब निराकरण करने का निर्देश दिया। बैठक में बताया गया कि अलीनगर, हायाघाट एवं दरभंगा सदर अंचल द्वारा अब तक वांछित जमीन उपलब्ध नहीं कराया गया है। जिसके कारण टेंडर की प्रक्रिया नहीं हो पा रही है। उप विकास आयुक्त ने तीनों अंचलाधिकारियों को जमीन उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। बैठक में सिविल सर्जन डॉ. संजीव कुमार सिन्हा, उप निदेशक जन संपर्क नागेंद्र कुमार गुप्ता, जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी मो. रिजवान, डीपीएम विशाल कुमार एवं आयुष्मान भारत कार्यक्रम के जिला समन्वयक वीरेंद्र राम उपस्थित थेl

कोई टिप्पणी नहीं: