कोविड-19 टीकाकरण के मामले में भारत दुनिया में तीसरे नंबर पर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 18 फ़रवरी 2021

कोविड-19 टीकाकरण के मामले में भारत दुनिया में तीसरे नंबर पर

india-third-in-vaccination
नयी दिल्ली, 18 फरवरी, केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को कहा कि कोविड-19 टीकाकरण के मामले में अमेरिका और इंग्लैंड के बाद भारत, दुनिया भर में तीसरे स्थान पर है। मंत्रालय ने बताया कि बृहस्पतिवार की सुबह आठ बजे तक देश भर में 94 लाख से ज्यादा स्वास्थ्यकर्मियों और कोरोना योद्धाओं को कोविड-19 का टीका लगाया जा चुका है। उसने कहा कि कोविड-19 संक्रमण के दर में भी पिछले सात दिनों में लगातार कमी आयी है। एक फरवरी को यह 1.89 प्रतिशत थी जो गिर कर बृहस्पतिवार को 1.69 प्रतिशत रह गयी। प्रांतों से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार, 18 फरवरी को सुबह आठ बजे तक 1,99,305 टीकाकरण सत्रों में टीके की कुल 94,22,228  खुराक के इंजेक्शन लाभार्थियों को लगाये गये हैं। इनमें 61,96,641 स्वास्थ्यकर्मी (पहली खुराक), 3,69,167 स्वास्थ्यकर्मी (दूसरी खुराक) और 28,56,420 कोरोना योद्धा (पहली खुराक) शामिल हैं। देश में 16 जनवरी से शुरू हुए कोविड-19 टीकाकरण अभियान के 28 दिन पूरे होने के बाद 13 फरवरी से उन लोगों को टीके की दूसरी खुराक का इंजेक्शन लगना शुरू हो गया है जिन्होंने कम से कम 28 दिन पहले पहली खुराक ली थी। कोरोना योद्धाओं का टीकाकरण दो फरवरी से शुरू हुआ। टीकाकरण के 33वें दिन (18 फरवरी) को 7,932 सत्रों में टीके के  4,22,998 खुराक के इंजेक्शन लगाए गए। इनमें से 3,30,208 लोगों को पहली खुराक जबकि 92,790  लोगों को टीके की दूसरी खुराक दी गई। मंत्रालय ने बताया कि टीके की दूसरी खुराक लेने वालों में से 58.20 प्रतिशत लोग सात राज्यों से हैं। अकेले कर्नाटक में 14.74 प्रतिशत (54,397 खुराक) इंजेक्शन लगे हैं। मंत्रालय ने बताया कि बृहस्पतिवार तक करीब 1.06 करोड़ (1,06,56,845) लोग संक्रमण मुक्त हुए हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: