नीरव मोदी को शीघ्र भारत लाने के लिए ब्रिटेन से बात करेगी सरकार - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 25 फ़रवरी 2021

नीरव मोदी को शीघ्र भारत लाने के लिए ब्रिटेन से बात करेगी सरकार

india-will-talk-for-neerav-modi
नयी दिल्ली 25 फरवरी, ब्रिटेन की अदालत द्वारा पंजाब नेशनल बैंक से हजारों करोड़ रुपए के गबन के भगोड़े अपराधी नीरव मोदी के प्रत्यर्पण की सिफारिश किये जाने के बाद सरकार उसे भारत लाने के लिए ब्रिटिश सरकार के साथ बात करेगी। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने यहां नियमित ब्रीफिंग में कहा कि ब्रिटेन की वेस्टमिन्स्टर की अदालत में मजिस्ट्रेट ने आज नीरव मोदी को भारत में मुकदमे का सामना करने के लिए प्रत्यर्पित करने का आदेश दिया और उसके मानसिक स्वास्थ्य को लेकर व्यक्त की गईं चिंताओं को खारिज करते हुए कहा है कि नीरव मोदी ने सबूतों को नष्ट करने की साजिश रची और गवाहों को धमकाया है। प्रवक्ता ने कहा, “चूंकि वेस्टमिन्स्टर मजिस्ट्रेट की अदालत ने ब्रिटेन के गृह मंत्री को नीरव मोदी के प्रत्यर्पण की सिफारिश की है, भारत सरकार ब्रिटेन की सरकार से उसके शीघ्रातिशीघ्र प्रत्यर्पण के लिए बातचीत शुरू करेगी।” नीरव मोदी पंजाब नेशनल बैंक से हजारों करोड़ रुपए के गबन के मामले में वांछित है। केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने अगस्त 2018 में उसके प्रत्यर्पण के लिए ब्रिटेन की सरकार से अनुरोध किया था जिसके बाद उसे गिरफ्तार करके मार्च 2019 में वेस्टमिन्स्टर की एक अदालत में पेश किया गया था। मुकदमे की प्रक्रिया के दौरान वह न्यायिक हिरासत में रहा। इस मामले की अंतिम सुनवाई 7 -8 जनवरी को हुई थी।

कोई टिप्पणी नहीं: