ममता ने अमित शाह को दी अभिषेक के खिलाफ चुनाव लड़ने की चुनौती - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 19 फ़रवरी 2021

ममता ने अमित शाह को दी अभिषेक के खिलाफ चुनाव लड़ने की चुनौती

mamta-banerjee-challenge-amit-shah
कोलकाता, 18 फरवरी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री एवं तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी ने गुरुवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को चुनौती दी कि चुनावी मैदान में उनसे मुकाबला करने के बारे में सोचने से पहले वह उनके (सुश्री बनर्जी के) भतीजे अभिषेक बनर्जी के खिलाफ चुनाव लड़कर दिखायें। सुश्री बनर्जी ने यहां अपने समर्थकों को संबाेधित करते हुए कहा, “दिन-रात वे दीदी-भतीजा के बारे में बात कर रहे हैं। मैं अमित शाह को चुनौती देती हूं, पहले अभिषेक बनर्जी के खिलाफ चुनाव लड़े और फिर मेरे खिलाफ।” दक्षिण 24 परगना जिले के पैलन में पार्टी की एक रैली को संबोधित करते हुए सुश्री बनर्जी ने कहा कि अभिषेक राज्यसभा सदस्य के रूप में चुनकर सांसद होने का आसान रास्ता अपना सकते थे, लेकिन उन्होंने लोकसभा चुनाव लड़ा और जनादेश हासिल किया। श्री शाह के इस आरोप के जवाब में कि वह अपने भतीजे को बंगाल के मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं, उन्होंने कहा, “मैंने अभिषेक को उपमुख्यमंत्री नहीं बनाया।” उन्होंने कहा, “मेरा परिवार ऐसा कुछ नहीं करेगा जिससे बंगाल की छवि खराब हो। मेरे परिवार का हर सदस्य राजनीति में शामिल है। मैंने अभिषेक को कोई फायदा नहीं पहुंचाया है। अभिषेक मेरी वजह से उनके हमलों का सामना कर रहे हैं।” तृणमूल युवा कांग्रेस के अध्यक्ष अभिषेक बनर्जी ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि ‘बाहरी लोगों’ को राज्य विधानसभा चुनाव के बाद लौटना ही होगा। सुश्री बनर्जी ने कहा, “यहां आने वालों को बंगाल की अनूठी संस्कृति के बारे में पता नहीं है, लेकिन राज्य को सोनार बांगला (समृद्ध बंगाल) बनाने का वादा कर रहे हैं। हमारी नेता ममता बनर्जी इस बार हैट्रिक बनाएंगी और बाहरी लोगों को फिर वापस लौटना होगा। यह समय की बात है।”

कोई टिप्पणी नहीं: