बिहार : रविदास 15वीं शताब्दी के महान संत शिरोमणी एवं गुरू थे : कादरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 27 फ़रवरी 2021

बिहार : रविदास 15वीं शताब्दी के महान संत शिरोमणी एवं गुरू थे : कादरी

ravidas-sant-shiromani-kadri
पटना, 27 फरवरी। आज कृतज्ञ राष्ट्र, संत शिरोमणी महाराज रविदास जी को उनके 644वें जयन्ती पर स्मरण कर, उन्हें शत-शत नमन करती है। इस अवसर पर आज प्रदेश कांग्रेस कमिटी के मुख्यालय सदाकत आश्रम में संत शिरोमणी महाराज रविदास जी की 644वीं जयन्ती मनायी गयी। समारोह की अध्यक्षता प्रदेश कांग्रेस कमिटी के कार्यकारी अध्यक्ष श्री कौकब कादरी ने की। इस अवसर पर संत सिरोमणी रविदास जी को शत-शत नमन करते हुए श्री कौकब कादरी ने कहा कि महाराज रविदास 15वीं शताब्दी के महान संत ही नहीं संत शिरोमणी एवं गुरू थे। उन्हें ईश्वर में पूर्ण विश्वास एवं असीम प्रेम था। उन्होंने अपने अनुयायिओं और सामाजिक लोगों को अनेक आध्यामित्क एवं समाज सुधारक उपदेश दिये। वे पूरा जीवन सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ लड़ते रहे। उन्होंने समाज में फैली कुरीतियों के खिलाफ आवाज उठाई और छुआछूत आदि का विरोध किया। वे अत्यन्त ही दयालू स्वभाव के थे।  इस अवसर पर कार्यकारी अध्यक्ष श्री कौकब कादरी, पूर्व विधायक श्री प्रमोद कुमार सिंह, पूर्व मंत्री श्री संजीव प्रसाद टौनी, पूर्व विधान पार्षद श्री लाल बाबू लाल, प्रदेश प्रवक्ता श्री राजेश राठौड़, श्री अजय कुमार चौधरी, श्री अरविन्द लाल रजक, मिथिलेश शर्मा मधुकर, डा0 पुरूषोत्तम मिश्र, डा0 घनन्जय शर्मा, श्री प्रदुमन कुमार यादव, श्री मृणालय अनामय, श्री शशि रंजन, राजीव सिंहा, चन्द्रमा प्र0 यादव, बबलू शर्मा, रिपुदहन शर्मा, शैलेन्द्र चौधरी, शान्तनू पासवान, नीरज यादव ने महाराज रविदास जी के चित्र पर माल्यार्पण  किया।

कोई टिप्पणी नहीं: