राजनीति का आधार कभी भी धर्म नहीं हो : आजाद - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 27 फ़रवरी 2021

राजनीति का आधार कभी भी धर्म नहीं हो : आजाद

religion-never-base-for-politics-ghulam-nabi-azad
जम्मू 27 फरवरी, राज्यसभा के पूर्व सदस्य गुलाम नबी आजाद ने शनिवार को कहा कि राजनीति धर्म आधारित नहीं होनी चाहिए। गांधी गलोबल परिवार द्वारा आयोजित ‘शांति सम्मेलन’ में सभा को संबोधित करते हुए श्री आज़ाद ने कहा कि मेरी राजनीति कभी भी धर्म या जाति पर आधारित नहीं थी और मुझे कहना होगा कि हर किसी को सरकार बनाने का अधिकार है लेकिन धर्म को राजनीति में शामिल नहीं होना चाहिए।” कांग्रेस पार्टी के जी -23 सदस्यों में से एक, श्री आज़ाद ने द गांधी ग्लोबल फैमिली इवेंट के लिए अपने सहयोगियों को भी आमंत्रित किया है, जिसमें कपिल सिब्बल, मनीष तिवारी, आनंद शर्मा, भूपिंदर हुड्डा और राज बब्बर शामिल हैं। श्री आजाद ने कहा,“महात्मा गांधी की निस्वार्थ सेवा हमेशा हमारे साथ रहेगी और मैंने राजनीति में अपना करियर महात्मा के दर्शन से शुरू किया।” उन्होंने हालांकि कहा कि वह राज्यसभा से सेवानिवृत्त हुए हैं लेकिन राजनीति से नहीं। पूर्व जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री ने कहा, “हमने राज्य की हार से अपनी पहचान खो दी है लेकिन हम इसकी बहाली के लिए लड़ेंगे।” जम्मू में भारतीय जनता पार्टी, नेशनल कांफ्रेंस, पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी या यहां तक कि आरएसएस में से भी हर कोई चाहता है कि राज्य वापस आ जाए। उन्होंने देश में कांग्रेस को एक मजबूत ताकत बनाने के लिए सामूहिक लड़ाई और एकता की वकालत की। उन्होंने कहा,“चाहे वह जम्मू या कश्मीर या लद्दाख हो, हम सभी धर्मों, लोगों और जातियों का सम्मान करते हैं। हम सभी का समान रूप से सम्मान करते हैं, यही हमारी ताकत है और हम इसे जारी रखेंगे।” बाद में दिन में, श्री आज़ाद ने गुरु रविदास जयंती के अवसर पर जम्मू-कश्मीर श्री गुरु रवि दास सभा द्वारा आयोजित एक सामाजिक समारोह में भी भाग लिया।

कोई टिप्पणी नहीं: