भारतीय लोकतंत्र के लिए दुखद दिन : केजरीवाल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 25 मार्च 2021

भारतीय लोकतंत्र के लिए दुखद दिन : केजरीवाल

black-day-for-democracy-kejriwal
नयी दिल्ली 24 मार्च, ‘दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी राज्यक्षेत्र शासन  (संशोधन) विधेयक, 2021’ के राज्यसभा से पास होने पर प्रतिक्रिया देते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को भारतीय लोकतंत्र के लिए दुखद दिन बताया । श्री केजरीवाल ने कहा, ''यह भारतीय लोकतंत्र के लिए दुखद दिन है और आम आदमी पार्टी (आप) जनशक्ति को वापस लाने के लिए संघर्ष करती रहेगी।'' उल्लेखनीय है कि ‘दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी राज्यक्षेत्र शासन  (संशोधन) विधेयक, 2021’ विपक्ष के भारी हंगामे तथा बीजू जनता दल, समाजवादी पार्टी और वाईएसआर कांग्रेस के सांसदों के सदन से बहिर्गमन के बीच बुधवार को  राज्यसभा में ध्वनी मत से पारित हो गया। यह विधेयक सोमवार को लोकसभा से पारित हुआ था।   श्री केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, ''राज्यसभा ने जीएनसीटीडी संशोधन विधेयक को पारित कर दिया। भारतीय लोकतंत्र के लिए दुखद दिन। हम लोगों को उनकी शक्ति को वापस दिलाने के लिए अपना संघर्ष जारी रखेंगे। जो भी बाधाएं हो, हम अच्छा काम करते रहेंगे। काम न तो रुकेगा और न ही धीमा होगा। '' 

कोई टिप्पणी नहीं: