बिहार : महिला मुखिया ने ससुर के अर्थी को दी कंधा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 1 मार्च 2021

बिहार : महिला मुखिया ने ससुर के अर्थी को दी कंधा

women-mukhiya-join-in-law-last-journy
नवादा : जिले के अकबरपुर प्रखंड में महिलाओं ने अर्थी को कंधा दी। पुरानी रूढ़ीवादी परंपरा एवं रीति-रिवाजों से हटकर महिलाओं का यह कदम नारी सशक्ति करण की बड़ी मिशाल है। यह काम किसी और ने नहीं बल्कि वहां के पांती पंचायत की मुखिया कांति देवी व उसके परिजनों ने की है। मुखिया के साथ घर की अन्य महिलाएं अर्थी को कंधा दी। दरअसल मुखिया के ससुर का निधन हुआ था। ऐसे में उनकी अंतिम यात्रा निकली तो मुखिया बहू अपने को रोक नहीं पाई। खुद को कंधा दी बेटी-बेटे को भी इसमें सहभागी बनाई। बहु एवं पोती ने बेटे का फर्ज निभाते हुए अपने ससुर व दादा की अर्थी को कंधा देकर अनूठी मिसाल पेश की है। यह नजारा देख गांव-गिरांव के लोग पहले तो हतप्रभ रह गए, लेकिन बाद में बहु एवं पोती के इस कदम की मुक्तकंठ प्रशांसा करने से भी पीछे नहीं हुए। बताया गया कि अकबरपुर प्रखंड के पाती पंचायत की मुखिया कांति देवी के 90 वर्षीय ससुर बलदेव प्रसाद यादव का निधन सोमवार की सुबह हो गया। दिवंगत सामाजिक और धर्म परायण व्यक्ति थे। वे पाती पंचायत के सामाजिक कार्यक्रम है लगे रहते थे। सुबह में अचानक तबीयत बिगड़ी। इलाज के लिए डॉक्टर को घर में बुलाया गया । डॉक्टरों ने जांच के बाद मृत घोषित कर दिया। सूचना के बाद उनके परिवार में शोक की लहर दौड़ गई। दोपहर जब उनकी शव यात्रा निकली तो इसमें एकमात्र पुत्र पैक्स अध्यक्ष विजय यादव के साथ उनकी पोती स्वीटी कुमारी, प्रियंका कुमारी, प्रीतम कुमारी ,रिंतम कुमारी ,बहू मुखिया कांति देवी सहित ग्रामीण व शुभचिंतक भी शामिल हुए और बेटा के साथ बहू पोती ने भी कंधा देकर अंतिम विदाई दी। खुरी नदी के किनारे हिदू रीति रिवाज के अनुसार उनका दाह संस्कार किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं: