बिहार : बिना मास्क लगाएं श्रद्धालुओं को चर्च परिसर में प्रवेश नहीं - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 27 मार्च 2021

बिहार : बिना मास्क लगाएं श्रद्धालुओं को चर्च परिसर में प्रवेश नहीं

no-entry-without-mask-in-church
पटना. अल्पसंख्यक ईसाई समुदाय का दुख भोग अब अंतिम चरण में आ गया है.यह समुदाय  28 मार्च को खजूर रविवार पर्व मनाएगा.इसके साथ ही पवित्र सप्ताह शुरू हो जाएगा.इस पवित्र सप्ताह के दौरान चर्च में विभिन्न तरह का धार्मिक कार्यक्रम किया जाता है.इसमें ईसाई धर्मावलम्बी शामिल होते हैं.उनके द्वारा शामिल होने पर श्रद्धालुओं की भीड़ उत्पन्न हो जाती है.वैश्विक कोरोना काल को देखते हुए श्रद्धालुओं से निवेदन किया गया है. घर से मास्क लगाकर चर्च परिसर में प्रवेश करें.बिना मास्क लगाएं  श्रद्धालुओं को चर्च परिसर में प्रवेश करने नहीं दिया जाएगा. बता दें कि 'स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक राज्य में 15 मार्च को जहां 26 मरीजों की पहचान की गई थी, वहीं 20 मार्च को 88 कोविड-19 के मरीज मिले थे. इसी तरह 23 मार्च को 111 मरीजों की पहचान हुई जबकि 24 मार्च को 170 व 25 मार्च को 258 संक्रमितों की पुष्टि हुई. वहीं 26 मार्च को 211 नए मरीजों की पहचान हुई है.मरीजों की संख्या बढ़ने के कारण सक्रिय मरीजों की संख्या में भी वृद्धि हुई है. बिहार में 15 मार्च को जहां 327 सक्रिय मरीज थे वहीं 20 मार्च को कोविड-19 के सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 472 हो गई. इसी तरह 23 मार्च को सक्रिय मरीजों की संख्या 623 हो गई तथा 24 मार्च को यह संख्या 726 तथा 25 मार्च 924 तक पहुंच गई. वहीं 26 मार्च को संख्या 1000 को छू गई. इस बीच, होली पर्व के मौके पर अन्य राज्यों से आने वाले लोगों को लेकर भी स्वास्थ्य विभाग सशंकित है. बिहार के काफी लोग अन्य राज्यों में रहते हैं. होली पर्व में लोग अपने घर आते हैं. स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि सभी रेलवे स्टेशनों, बस स्टैंड और हाट बाजारों में रैंडम कोरोना जांच की जा रही है. अन्य राज्यों से आने वाले लोगों पर विशेष नजर रखी जा रही है.इधर, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि कोरोना को लेकर लोगों को सचेत और जागरूक रहने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि सरकार पूरी तरह से सजग है. राज्य में सबसे अधिक सक्रिय मरीजों की संख्या पटना में है. शुक्रवार को पटना में 36 संक्रमितों की पहचान की गई, जिससे पटना में सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 418 हो गई है. राहत की बात है कि राज्य में संक्रमित मरीजों के स्वस्थ होने की दर 99.03 प्रतिशत है.बिहार में 2 करोड़ 33 लाख 75 हजार 172 सैंपलों की जांच हो चुकी है, जिसमें से 2 लाख 64 हजार 409 लोगों को अब तक संक्रमित पाया गया है. वहीं, अबतक 2 लाख 61 हजार 839 लोग ठीक हो चुके हैं जबकि अब तक 1,569 संक्रमितों की मौत हो चुकी है. इसके आलोक में प्रेरितों की रानी ईश मंदिर के पल्ली पुरोहित फादर पायस प्रशांत ओस्ता ने कहा है कि कुर्जी में बिहार के सबसे बड़ा चर्च है.एक साथ बैठकर पांच हजार लोग धार्मिक कार्यक्रम में भाग ले सकते हैं.इस समय प्रभु के दुख भोग का समय है और यह उचित है कि हम सब श्रद्धा और भक्ति के साथ क्रूस ढो रहे प्रभु के साथ उनके दुख में सहभागी बने.

 

उन्होंने कहा कि इसके साथ ही हम ध्यान रखें कि कोविड-19 की वजह से आज देश दुनिया की स्थिति अच्छी नहीं है.आपसे सादर आग्रह है कि आप इन बातों को ध्यान में रखें.

- बिना मास्क के गिरजाघर के परिसर में ना आए.

- यदि आप बिना मास्क के आते हैं तो आपको मुख्य द्वार पर ही रोक दिया जाएगा.

-कृपया स्वयंसेवकों से बहस ना करें.

- छोटे बच्चे और गर्भवती महिलाएं पूजन समारोह के लिए ना आए.

- विभिन्न प्रकार के वाहनों से आने वाले भक्तगण अपने वाहन गेट के बाहर ही सड़क के किनारे लगाएं.

- परम प्रसाद ग्रहण करने के लिए भक्तगण  केवल एक कतार में (लाइन में) जायें.बता दें कि रविवार, बुधवार, गुरूवार ,शुक्रवार,शनिवार और रविवार को धार्मिक कार्यक्रम होगा.


इस बीच अल्पसंख्यक ईसाई कल्याण संघ के प्रयास तथा भक्तजनों के सहयोग से प्रभु येसु के दुख भोग से सम्बन्धित 'मुसीबत' नामक भजन, भक्तिमय गीत तथा प्रार्थना का कार्यक्रम एस.के.लॉरेंस के नेतृत्व में भक्तिभाव के साथ किया जा रहा है.एस.के.लॉरेंस के साथ-साथ क्लारेन्स हेनरी,इग्नासियुस पीटर,सिरील मरान्डी,विजय कुमार पौल,ब्रदर विक्टर,प्रवीण साह,रीता अगस्टीन,रोजलिन इग्नासियूस, अलका पौल,मरिया तथा इस भक्तिमय कार्यक्रम के आयोजन में पूर्ण रूप से सहयोग करने वाले बांस कोठी के चार्ली तथा सोना रेमी के साथ-साथ बहुत सारे कॉलोनीवासी तथा साधु शीलानंद जी के गायक मंडली के भक्तजन भी शामिल होते हैं. 26 मार्च को न्यू पाटलिपुत्र कॉलोनी में स्थित सेक्रेट हार्ट चर्च में अल्पसंख्यक ईसाई कल्याण संघ के प्रयास तथा भक्तजनों के सहयोग से एस.के.लॉरेंस के नेतृत्व में प्रभु येसु के दुख भोग से सम्बन्धित 'मुसीबत' नामक गीत(भजन) तथा प्रार्थना का सफल धार्मिक कार्यक्रम हुआ.जिसमें काफी संख्या में इस इलाका के भक्त जन शामिल हुए.इस दौरान इस पल्ली के  पल्ली पुरोहित फादर मार्टिन आनंद ने समस्त मानव के अच्छे स्वास्थ्य,आपसी सौहार्द तथा कोरोना महामारी के प्रकोप से सभी मानव की सुरक्षा के लिये प्रार्थना की.इससे पहले 24 मार्च 2021 को दिव्या रानी हांसदा के निवास स्थान फेयरफील्ड कॉलोनी में यह भक्तिमय कार्यक्रम हुआ.

कोई टिप्पणी नहीं: