किसान कानूनों का विरोध करने के लिए ट्रैक्टर के साथ बेंगलुरू का घेराव करें : टिकैत - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 21 मार्च 2021

किसान कानूनों का विरोध करने के लिए ट्रैक्टर के साथ बेंगलुरू का घेराव करें : टिकैत

farmer-protest-with-tractor-in-bangluru-tikait
शिवमोगा, 21 मार्च, किसान नेता राकेश टिकैत ने कर्नाटक के किसानों से अपील की है कि केंद्र सरकार के तीन विवादास्पद कृषि कानूनों के विरोध में वे ट्रैक्टर से बेंगलुरू का घेराव करें और महानगर को दिल्ली की तरह आंदोलन का केंद्र बिंदु बनाएं। उन्होंने शनिवार को यहां किसानों की एक महापंचायत में कहा, ‘‘...आपको बेंगलुरू को दिल्ली बनाना है। आपको हर दिशाओं से महानगर को घेर लेना है।’’ उन्होंने कहा कि दिल्ली की तरह केवल ट्रैक्टर का इस्तेमाल करना चाहिए, जहां 25 हजार से अधिक ट्रैक्टरों ने महानगर के प्रवेश बिंदुओं को जाम कर रखा है। दिल्ली के सीमावर्ती क्षेत्रों-- सिंघू, टीकरी और गाजीपुर में पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश सहित देश के विभिन्न हिस्से के हजारों किसानों ने कृषि कानूनों को वापस लेने और अपनी फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की मांग को लेकर तीन महीने से अधिक समय से डेरा डाले हुए हैं। टिकैत ने दावा किया कि किसानों और उनके परिवारों ने सीमावर्ती स्थानों पर आंदोलन कर दिल्ली को घेर रखा है और कहा कि तीनों कानूनों को वापस लिए जाने तक आंदोलन जारी रहेगा। टिकैत ने कहा, ‘‘जब तक तीनों कानून वापस नहीं लिए जाते हैं, जब तक एमएसपी से संबंधित कानून नहीं बनता है, आपको कर्नाटक में भी आंदोलन जारी रखने की जरूरत है।’’

कोई टिप्पणी नहीं: