बिहार : परिस्थितियों के मुख्यमंत्री परिस्थितिवश मजबूर : राजेश राठौड़ - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 6 मार्च 2021

बिहार : परिस्थितियों के मुख्यमंत्री परिस्थितिवश मजबूर : राजेश राठौड़

helpless-cm-rajesh-rathud
पटना, 6 मार्च. पशुपालन मंत्री मुकेश सहनी के भाई संतोष सहनी के द्वारा सरकारी कार्यक्रम में शिरकत संबंधी विवाद को लेकर बिहार प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता राजेश राठौड़ ने नीतीश सरकार पर निशाना साधा है।उन्होंने कहा कि पशुपालन मंत्री मुकेश सहनी के द्वारा किया गया गलती सिर्फ आश्चर्यजनक ही नहीं बल्कि बड़ी कार्रवाई की योग्य है। उन्होंने कहा कि सीएम नीतीश कुमार इतने मजबूर हो गए हैं कि इतनी बड़ी गलती के बावजूद अपने मातहत मंत्री पर कार्रवाई नहीं कर सकते हैं।क्योंकि वे भली-भांति जानते हैं कि उनकी सरकार इन्हीं वैशाखीयों पर टिकी हुई है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता राजेश राठौड़ ने कहा कि बिहार सरकार को वैशाली के हाजीपुर में आयोजित कार्यक्रम को लेकर मत्स्य विभाग के अधिकारियों पर कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए।उन्होंने कहा कि मंत्री के भाई को मंत्री के समान ट्रीटमेंट देने वाले अधिकारियों को किसी कीमत पर बक्शना राज्य के हित में नहीं है।इससे सरकार के मर्यादा का समय-समय पर हनन होगा।  बिहार प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता राजेश राठौड़ ने कहा कि वर्तमान नीतीश सरकार में आलम यह है कि मंत्री के स्थान पर उनके परिजन भी मंत्री बन कर घूमने लगे हैं।उन्होंने कहा कि पशुपालन मंत्री मुकेश सहनी चाहे जो भी सफाई दे दे,मगर उनकी यह गलती संविधान के ऊपर कलंक के समान है।उन्होंने कहा कि सुशासन के दावा करने वाले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को इस पर कठोर कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि दरअसल बिहार के सीएम नीतीश कुमार परिस्थितियों के मुख्यमंत्री हैं। इसलिए अपने कैबिनेट के मंत्रियों पर भी अब उनका पहले जैसा प्रभाव नहीं रह गया।उन्होंने कहा कि अगर ऐसा ही चलता रहा तो बिहार को भगवान ही बचा सकते हैं।प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता राजेश राठौड़ ने कहा कि मर्यादा विरुद्ध आचरण करने वाले मत्स्य विभाग के अधिकारियों को अविलंब बर्खास्त करना चाहिए।

कोई टिप्पणी नहीं: