कर्जविहीन किसान झारखंड की खुशहाली की पहचान : डॉ. उरांव - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 8 मार्च 2021

कर्जविहीन किसान झारखंड की खुशहाली की पहचान : डॉ. उरांव

loan-less-farmer-jharkhand-rameshwar-uranv
रांची, 07 मार्च, झारखंड के वित्त सह योजना मंत्री डॉ. रामेश्वर उरांव ने गरीब, किसान, मजदूर एवं भूमिहीन लोगों के हित को राज्य सरकार की प्राथमिकता बताया और कहा कि कर्जविहीन किसान ही प्रदेश की खुशहाली की पहचान है। डॉ. उरांव ने यहां पूर्वी क्षेत्र प्रादेशिक एवं एग्रोटेक-2021 किसान मेला के समापन के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में कहा कि कोरोना के कारण किसानों की कर्ज माफी में देरी हुई। राज्य की वित्त व्यवस्था में सुधार होते ही अगले वर्ष किसानों की एक लाख तक के रिण को सरकार माफ करेगी। उन्होंने कृषि उत्पादन को बाजार से जोड़ने, किसानों को कम कृषि लागत से उचित मूल्य और अधिक मुनाफा से किसानों की आय बढ़ाने और किसानों के कल्याण में हर संभव मदद की बात कही। मंत्री ने कहा कि देश में किसानों के हित में अनेकों शोध हो रहे हैं। इनसे मिली तकनीकों का आदिवासी किसानों को गांवों तक लाभ दिलाने की कोशिश होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि किसान जन्म से लेकर मरण तक कर्ज में जीता है। सरकार उनके चेहरे में मुस्कान लाने का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि कर्जविहीन किसान ही प्रदेश की खुशहाली की पहचान है।

कोई टिप्पणी नहीं: