मोदी को नहीं है असम के लोगों के प्रति सहानुभूति : प्रियंका गाँधी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 21 मार्च 2021

मोदी को नहीं है असम के लोगों के प्रति सहानुभूति : प्रियंका गाँधी

modi-no-concern-to-assam-priyanka-gandhi
गुवाहाटी 21 मार्च, कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने रविवार को कहा कि प्रधानमंंत्री नरेंद्र मोदी के मन में असम के लोगों के लिए सहानुभूति नहीं है क्योंकि उन्होंने बाढ़ और नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में प्रदर्शनों के दौरान के दौरान हुई हिंसा से प्रभावित लोगों के लिए कोई चिंता नहीं व्यक्त की है। चुनाव प्रचार के सिलसिले में एक दिवसीय असम के दौरान पर श्रीमती वाड्रा ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री 22 वर्षीय महिला के एक ट्वीट से दुखी हैं, लेकिन असम के बाढ़ प्रभावित लोगों के लिए नहीं। उन्होंने कहा, “मैंने कल प्रधानमंत्री का भाषण सुना। मैंने सोचा था कि वह असम के विकास के बारे में बोलेंगे या भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने असम में कैसा काम किया है इसके बारे में बताएंगे, लेकिन मैं आश्चर्यचकित थी कि प्रधानमंत्री एक 22 वर्षीय महिला (दिशा रवि) के ट्वीट के बारे में बात कर रहे थे। उन्होंने (श्री मोदी) कहा कि कांग्रेस ने असम के चाय उद्योग को खत्म करने की साजिश रची। उन्होंने कहा कि वह (श्री मोदी) कांग्रेस द्वारा सोशल मीडिया पर दो गलत तस्वीरें डालने से भी दुखी थे। ” उन्होंने आरोप लगाया कि असम को यहां की सरकार नहीं बल्कि दिल्ली की केंद्र सरकार चला रही है। उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री कहते है कि आपके पास डबल इंजन की सरकार है, लेकिन असम में दो मुख्यमंत्री है। मुझे नहीं पता कि कौन सा इंजन से किस ईंधन से चलता है। असम सरकार असम से नहीं चलती है ... भगवान आपको बचाए।” उन्होंने कहा, “आप भाजपा पर कैसे भरोसा कर सकते हैं? आपने देखा है कि आपको पाँच साल में क्या मिला है। श्री तरुण गोगोई ने कुछ गलतियाँ की होंगी, लेकिन उन्होंने आपको कभी धोखा नहीं दिया। उन्होंने सीएए नहीं लाया और आपकी संस्कृति और पहचान पर हमला नहीं किया।”

कोई टिप्पणी नहीं: