PM के पास किसानों की समस्या के निदान के लिए समय नहीं : पवार - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 8 मार्च 2021

PM के पास किसानों की समस्या के निदान के लिए समय नहीं : पवार

pm-no-time-for-farmer-sharad-pawar
रांची, 07 मार्च, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) सुप्रीमों शरद पवार ने देशभर में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के खिलाफ राकांपा के रूप में जनता को एक विकल्प प्रस्तुत करने का इरादा जाहिर करते हुए रविवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर तीखा हमला किया और कहा कि प्रधानमंत्री के पास करीब हजार किलोमीटर दूर पश्चिम बंगाल जाने का तो समय है लेकिन किसानों की समस्याओं के निदान के लिए उनके पास बिल्कुल समय नहीं है। श्री पवार ने आज रांची के हरमू मैदान में पार्टी के एकदिवसीय राज्यस्तरीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री के पास पश्चिम बंगाल जाने का तो वक्त है, लेकिन आंदोलन कर रहे किसानों से मिलने का समय नहीं है।  उन्होंने कहा कि दिल्ली की सीमा पर हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान समेत अन्य राज्यों के किसान 100 दिनों से अपनी मांगों को लेकर धरना-प्रदर्शन कर रहे है, लेकिन 20 किलोमीटर दूरी पर बैठे प्रधानमंत्री के पास किसानों से मिलने के लिए समय नहीं है, लेकिन कई हजार किलोमीटर दूर जिन राज्यों में चुनाव हो रहे है, वहां चुनाव प्रचार के लिए उनके पास समय है। राकांपा प्रमुख ने कहा कि केंद्र सरकार की जिम्मेदारी है कि राष्ट्र को एकसूत्र में बांध कर रखे, लेकिन देश में भाईचारे की जगह केंद्र की मोदी सरकार सांप्रदायिकता का जहर फैला रही है।  इन सबके खिलाफ राकांपा के कार्यकर्त्ता पूरे देश में बढ़-चढ़ कर लड़ाई लड़ रहे है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के पूर्व प्रमुख ने कहा कि भगवान बिरसा मुंडा की धरती पर जन्मे महेंद्र सिंह धोनी ने पूरे देश में झारखंड का नाम रौशन किया है। उन्होंने एक घटना का जिक्र करते हुए कहा कि एक बार जब टीम इंडिया के कप्तान के रूप में सचिन तेंदुलकर ने जिम्मेवारी संभालने से इनकार कर दिया, तो उन्होंने सचिन से पूछा कि नेतृत्व किसे सौंपा जाए, इस पर तेंदुलकर ने बताया कि धोनी के कंधे पर जिम्मेवारी सौंप दें, वह देश का नाम रौशन करेगा और बाद में यह सिद्ध भी हुआ। उन्होंने यह भी कहा कि महाराष्ट्र के विकास में झारखंड के लोगों का खून और पसीना लगा है। कार्यकर्त्ता सम्मेलन को पार्टी के वरिष्ठ नेता प्रफुल्ल पटेल और प्रदेश इकाई के अध्यक्ष सह विधायक कमलेश कुमार सिंह समेत अन्य नेताओं ने भी संबोधित किया। इस दौरान भाजपा और कांग्रेस के कई कार्यकर्त्ताओं ने पार्टी की सदस्यता ली। राकांपा प्रमुख ने बाद में संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि केंद्र सरकार येन केन प्रकारेण पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री को कुर्सी से हटाने के लिए केंद्रीय जांच एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है।  केंद्र सरकार को किसानों की समस्या सुलझाने के लिए समाधान का रास्ता निकालना चाहिए, किसान संगठन और राज्य सरकार के साथ केंद्र सरकार बातचीत कर समाधान का रास्ता निकाले।   झारखंड में हेमंत सोरेन सरकार में राकांपा की भागीदारी के मुद्दे पर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए श्री पवार ने कहा इस संबंध में पूर्व में उनकी हेमंत सोरेन से बात हुई थी, एक बार फिर उन्हें याद दिलाएंगे।  उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के दिल्ली में होने के कारण आज रांची में उनसे मुलाकात नहीं हो पाई है, लेकिन जब कभी भी मुलाकात होगी तो इस संबंध में बातचीत होगी।

कोई टिप्पणी नहीं: