ग्लेशियर टूटने की त्रासदी में 10 शव बरामद, बचाव अभियान जारी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 25 अप्रैल 2021

ग्लेशियर टूटने की त्रासदी में 10 शव बरामद, बचाव अभियान जारी

10-body-found-in-uttrakhand-land-slide
देहरादून, 24 अप्रैल, उत्तराखंड के चमोली जनपद अंतर्गत, चीन सीमा पर ग्लेशियर टूटने के कारण सुमना स्थित बीआरओ कैम्प के पास हुए भारी हिमपात में भारतीय सेना ने 384 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया है। जबकि 10 शव बरामद हुए हैं और सात घायलों का सेना अस्पतालों में उपचार किया जा रहा है। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने भी प्रभावित क्षेत्र का हवाई सर्वेक्षण किया। भारतीय सेना के अतिरिक्त महानिदेशक (जनसम्पर्क) ने बताया कि अभी तक कुल 384 व्यक्ति सुरक्षित सेना के कैम्पों में पहुंच चुके हैं। उन्होंने बताया कि सात लोगों को गम्भीर अवस्था में निकाल कर हेलीकॉप्टर से जोशीमठ और देहरादून के सैन्य अस्पतालों में भर्ती किया है, जबकि अभी तक 10 शव बरामद किए गए हैं। राज्य के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) अशोक कुमार के अनुसार बीआरओ के दो कैम्पों में लगभग 430 लोग घटना के समय मौजूद थे। सेना ने रात में ही बचाव कार्य शुरू कर दिया था। आज दिन में भी सेना के दो हेलीकॉप्टर राहत कार्यों मे लगे रहे। उधर, राज्य के मुख्यमंत्री ने भी सुबह हेलीकॉप्टर से प्रभावित क्षेत्र का निरीक्षण कर स्थिति का आकलन किया। उन्होंने बताया कि सेना, वायु, थल सेना, राष्ट्रीय आपदा परिचालन बल, राज्य आपदा परिचालन बल, भारत-तिब्बत सीमा सुरक्षा बल लगातार राहत कार्य में जुटे हुए हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: