सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 21 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 21 अप्रैल 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 21 अप्रैल

कोरोना कर्फ्यू के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी


कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी श्री अजय गुप्ता ने कोरोना कर्फ्यू 30 अप्रैल 2021 की सुबह 6:00 बजे तक के लिए बढ़ा दिया  है।  साथ ही 20 अप्रैल 2021को जारी आदेश में संसोधन करते हुये। प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए गए हैं । जिला दंडाधिकारी श्री गुप्ता द्वारा जारी आदेश के अनुसार किराना दुकान को खोलने की छूट के संबंध में आदेश संशोधित किया गया है। किराना दुकानें सिर्फ 24 अप्रैल एवं 28 अप्रैल को ही खुलेंगी। अर्थात प्रत्येक दिवस खुलने वाली किराना दुकान  अब सिर्फ 24 अप्रैल एवं 28 अप्रैल को प्रातः 9:00 बजे से 11:00 बजे तक ही खुलेंगी। दूध की दुकानें, मिल्क पार्लर, डेयरी में दी गई छूट को संशोधित करते हुए प्रत्येक दिन सुबह 7:00 से 8:00 बजे एवं शाम 6:00 बजे से शाम 7:00 बजे तक ही खुलेंगे। सब्जी दुकान  इत्यादि के बारे में आदेश संशोधित किया गया है, कि गली मोहल्ले, आवासी कॉलोनी में ठेले के माध्यम से सब्जी विक्रय की अनुमति होगी। सभी प्रकार के हाट बाजार प्रतिबंधित रहेंगे। शादी समारोह में 20 तथा अंतिम संस्कार में 10 से अधिक व्यक्ति सम्मिलित नहीं हो सकेंगे। आईटी कंपनियों /बीपीओ/ मोबाइल कंपनियों का सपोर्ट स्टाफ एवं यूनिट को छोड़कर शेष निजी कार्यालय भी 10% कर्मचारियों के साथ ही अपना कार्य संपादित करेंगे। ऑटो रिक्शा में दो सवारी टैक्सी तथा निजी चार पहिया वाहनों में ड्राइवर तथा दो पैसेंजर को मास्क के साथ यात्रा करने की अनुमति होगी। सामाजिक/ राजनीतिक/ खेलकूद/ मनोरंजन/ शैक्षणिक /सांस्कृतिक/ सार्वजनिक तथा धार्मिक कार्यक्रमों के आयोजनों के लिए लोगों का एकत्रित होना पूर्णत: वर्जित रहेगा।  


बेवजह घर से निकलने वालों पर की जा रही है चालानी कार्यवाही  


sehore news
कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए कलेक्टर श्री अजय श्री अजय गुप्ता के निर्देशानुसार जिले में राजस्व एवं पुलिस प्रशासन द्वारा लोगों को कोरोना कर्फ्यू का पालन कराया जा रहा है। जिले के नगरी क्षेत्रों से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में तक कोरोनावायरस ओं का पालन सुनिश्चित कराया जा रहा है। प्रशानिक अधिकारियों द्वारा लोगों से निरंतर घर में रहने की अपील की जा रही है। कोरोना कर्फ्यू के दौरान बिना कारण के घर से निकलने वाले लोगों पर चालानी कार्यवाही की जा रही है। कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन करने वाले लोगों के विरुद्ध पुलिस प्रशासन द्वारा  कार्यवाही भी की जा रही है। उल्लेखनीय है कि कलेक्टर श्री अजय गुप्ता कोरोना संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किया गया है जिसमें बेवजह घर से निकलने वाले लोगों के विरुद्ध कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए हैं।        


श्रीमती प्रतिभा शर्मा को बनाया इछावर हायर सेकेंडरी स्कूल की प्रभारी प्राचार्य


शासकीय हायर सेकेंडरी स्कूल इछावर की छात्रा द्वारा प्राचार्य के विरुद्ध छेड़छाड़ की एफआईआर दर्ज कराने के उपरांत प्राचार्य को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है।  स्कूल के सुचारू संचालन के लिए कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा शासकीय उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय की प्राचार्य श्रीमती प्रतिभा शर्मा को प्रभारी प्राचार्य बनाया गया है। यह पदस्थापना लोक शिक्षण संचालनालय के अनुमोदन की प्रत्याशा में की गई है।


अत्यावश्यक सेवाओं को छोड़कर शेष कार्यालयों में 10 प्रतिशत, कर्मचारियों की उपस्थिति के निर्देश


मध्यप्रदेश सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए आदेश जारी किया गया है। जारी आदेश में कहा गया है कि अत्यावश्यक सेवाएं देने वाले कार्यालयों को छोड़कर शेष कार्यालय 10 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ संचालित किए जाएं। अत्यावश्यक सेवाओं में जिला कलेक्ट्रेट, पुलिस, आपदा प्रबंधन, फायर, स्वास्थ्य चिकित्सा शिक्षा, जेल, राजस्व, पेयजल आपूर्ति, नगरीय प्रशासन, ग्रामीण विकास, विद्युत प्रदाय, सार्वजनिक परिवहन एवं कोषालय आदि शामिल हैं। 10 प्रतिशत के बंधन के कारण जो कर्मचारी कार्यालय नहीं आते हैं वह घर से कार्य संपादित करेंगे एवं आवश्यकतानुसार बुलाए जाने पर कार्यालय में उपस्थित होंगे। 10 प्रतिशत रोटेशन की व्यवस्था केवल कोरोना कर्फ्यू के दौरान होगी, शेष दिवसों में नहीं होगी।


घर में कोरोना मरीजों के इलाज के लिए एडवाईजरी


देश-प्रदेश के साथ-साथ जिले में लगातार बढ़ रहे संक्रमितों के आंकड़ो के बाद और मरीजों को संस्थागत क्वारेंटाइन में आने वाली समस्या को ध्यान में रखते हुए लक्षण रहित कोरोना पॉजिटिव मरीज जिनकी संख्या काफी अधिक रहती हैए अपनी रिपोर्ट आने के बाद से ही घर पर रहकर ही अपना इलाज करायें। चिकित्सीय सहायता-होम क्वारेंटाइन में रह रहे व्यक्ति एवं उसके देखभालकर्ता का यह प्रथम दायित्व होगा की मरीज को सांस लेने में कठिनाई, निरंतर दर्द, छाती में दबाव, भारीपन, मानसिक भ्रम या सचेत होने में कठिनाई, होंठ, चेहरे का नीला पड़ना आदि लक्षण होने पर होम आइसोलेशन में रहने वाले कोविड.19 संक्रमित व्यक्ति तत्काल मोबाईल मेडिकल यूनिट के डॉक्टर अथवा 104 पर चिकित्सीय सहायता के लिये सम्पर्क करें। संक्रमित के लिये निर्देश- कोविड-19 संक्रमित व्यक्ति द्वारा सदैव ट्रिपल लेयर मेडिकल मॉस्क का उपयोग किया जाये एवं मॉस्क के भीगने, गंदा होने पर मॉस्क बदला जाये। मॉस्क को एक प्रतिशत सोडियम हाइपोक्लोराइट से विषाणमुक्त करके ही निपटान किया जाये। कोविड-19 संक्रमित व्यक्ति घर के अन्य वृद्धजन, उच्च रक्तचाप, दिल, गुर्दे के रोग से ग्रस्त सदस्यों से दूरए अपने कक्ष में ही रहे। होम आईसोलेशन के दौरान संक्रमित व्यक्ति द्वारा समुचित आराम किया जाये एवं पर्याप्त पेय पदार्थों व संतुलित आहार का सेवन किया जाये। खाँसते-छींकते समय मुँह को टिशूरुमाल, तौलिया, दुपट्टा, गमछा आदि से ढांका जाये तथा हार्थों को साबुन पानी से बार-बार धोया जाये। किसी भी परिस्थिति में व्यक्तिगत वस्तुओं को अन्य सदस्यों के उपयोग के लिये साझा न किया जाये। औषधियों के सेवन के लिये चिकित्सीय परामर्श का अनुपालन किया जाये। सम्पर्क में आने वाले सतहों टेबल, दरवाजे के हैण्डल, लाइट बटन, मोबाइल आदिद की विषाणुमुक्ति एक प्रतिशत सोडियम हाइपोक्लोराइट से नियमित रूप से साफ किया जाये। देख-भालकर्ता के लिये निर्देश- कोविड-19 केस के देखभालकर्ता द्वारा सदैव संक्रमित व्यक्ति के कक्ष में उपस्थिति के दौरान ट्रिपल लेयर मेडिकल मॉस्क का उपयोग किया जाये। मॉस्क, मुँह व चेहरे को छूने से बचा जाये तथा मॉस्क के भीगने या गंदा हो जाने पर तत्काल बदला जाये। संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आने अथवा उपयोग की हुई सतहों के सम्पर्क में आने पर साबुन पानी से हाथ धोया जाये। भोजन पकाते समय, खाने के पूर्व व शौचालय के उपयोग के बाद साबुन पानी से न्यूनतम 40 सेकेण्ड तक हाथ धोया जाये अथवा उनको अल्कोहल युक्त सेनेटाइजर से साफ किया जाये। संक्रमित व्यक्ति से सम्पर्क दौरान दस्ताने का उपयोग किया जाये। संक्रमित वस्तुओं जैसे बर्तनए तौलियाए चादर आदि को सीधे छूने से बचा जाये एवं इस दौरान ग्लब्स एवं ट्रिपल लेयर मेडिकल मॉस्क का उपयोग किया जाये। ग्लब्स उतारने के बाद हाथ अच्छे से धोकर साफ टिशू तौलिये से पोंछा जाये। कोविड-19 संक्रमित व्यक्ति को भोजन उसके कक्ष में ही परोसा जाये व उपयोग किये गये बर्तनों को ग्लब्स पहनकर साबुन पानी से अच्छे से साफ किया जाये। संक्रमित व्यक्ति को समस्त निर्देशित औषधियाँ सेवन कराने का दायित्व देखभालकर्ता का होगा। देखभालकर्ता एवं अन्य सभी निकट सम्पर्क द्वारा अपना दैनिक तापमान तथा अन्य कोविड लक्षण जैसे बुखार, खाँसी, सांस लेने में कठिनाई की निगरानी की जाना अनिवार्य है एवं दैनिक रूप से इसका अपडेट सार्थक एप पर किया जाये। कोई भी लक्षण उत्पन्न होने पर नियत सर्वेलेंस चिकित्सा अधिकारी को सूचित किया जाये। होम आइसोलेशन अवधि की समाप्ति-होम आइसोलेशन में निगरानीबद्ध व्यक्ति को लक्षण उत्पति दिनांकए सेम्पल दिनांक से विगत 10 दिनों से लक्षण रहित होने तथा 3 दिनों से बुखार रहित होने पर डिस्चार्ज किया जाये। तत्पश्चात आगामी 7 दिवस तक उक्त व्यक्ति द्वारा घर पर अपने स्वास्थ्य की स्व-निगरानी सुनिश्चित की जायेगी। कोविड संक्रमित व्यक्ति की जाँच में संक्रमण से मुक्ति पुष्ट होने पर एक लक्षण रहित स्थिति को आंकलित करए सर्वेलेंस चिकित्सा अधिकारी द्वारा होम आइसोलेशन समाप्ति का लिखित प्रमाण-पत्र दिया जायेगा।  


किसान क्रेडिट कार्ड योजना का लें लाभ


किसान क्रेडिट कार्ड योजना किसानों के हित में संचालित बेहतरीन योजना है। इसके माध्यम से सरकार किसानों की मदद करती है, जिससे किसानों को फसल बोनी व अन्य कृषि कार्य हेतु राशि की व्यवस्था हेतु भारी ब्याज नहीं देना पड़े और ना ही अपनी भूमि किसी साहूकार के पास गिरवी रखना पड़े। इस योजना को वाणिज्यिक बैंकों, सहकारी बैंकों और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों द्वारा कार्यान्वित किया गया है। किसान क्रेडिट कार्ड योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों को कृषि कार्य की आवश्यकता जैसे, बीज, उर्वरक की खरीदी, भूमि की जुताई, फसल बुवाई, सिंचाई, कटाई, फसलों को वेयर हाउस में रखने का खर्चा, कृषि यंत्र क्रय आदि विभिन्न कार्य हेतु लघु अवधि धन राशि की व्यवस्था करना है। इस हेतु इच्छुक व्यक्ति किसान क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ ले सकते हैं। किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने हेतु किसान भाई अपनी नजदीकी शाखा में अपने दस्तावेज, आधार कार्ड, बैंक खाता पासबुक, भू-अभिलेख, परिचय पत्र, पासपोर्ट साईज फोटोग्राफ आदि ले जायें और किसान क्रेडिट कार्ड की राशि/लिमिट का निर्धारण किसान द्वारा बोई गई फसल के ऋणमान के द्वारा निर्धारण किया जायेगा। किसान क्रेडिट कार्ड की सहायता से किसान भाई फसल, पशुधन, कृषि यंत्रों हेतु ऋण ले सकते हैं। किसान क्रेडिट कार्ड 5 वर्षों के लिये वैद्य होगा। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के सभी पात्र किसान इस योजना का लाभ अवश्य लें।


कलेक्टर ने ग्रामीण क्षेत्रों का किया निरीक्षण, सर्दी, खांसी'' बुखार वाले मरीजों की जांच एवं उपचार के लिए निर्देश


sehore news
कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने जिले के बुधनी तहसील के बकतरा, जोनतला, जैत, डोबी, नांदनेर सहित अनेक गांवों के स्वास्थ्य केंद्रों का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने एएनएम आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को निर्देश दिए कि जिस व्यक्ति को भी सर्दी, खांसी, बुखार की शिकायत हो उसका तुरंत बुखार चेक किया जाए। जरूरत पड़ने पर रैपिड टेस्ट भी कर लिया जाए। यदि पॉजिटिव मिले तो तुरंत बुधनी रेफर करने के निर्देश दिए। इसके अलावा उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि जिस व्यक्ति का ऑक्सीजन सैचुरेशन 90 से कम आ रहा हो, तो उसे भी तुरंत बुधनी रेफर किया जाए। उन्होंने इन केंद्रों में थर्मल स्कैनर तथा ऑक्सोमीटर भी प्रदान किए। साथ ही उन्होंने ग्रामवासियों से भी कोरोना कर्फ्यू का पालन करने की अपील की। उन्होंने कहा कि खुद को, परिवार को तथा अपने गांव को समाज को सुरक्षित रखने के लिए घर पर रहना जरूरी है। उन्होंने बकतरा में चिकित्सक को संदिग्ध मरीजों की त्वरित जांच तथा इलाज के निर्देश दिए। भ्रमण के दौरान एसडीएम श्री शैलेंद्र हिनोतिया तथा तहसीलदार श्री अंबर पंथी भी उपस्थित थे।


उपार्जन संबंधी गतिविधियों के लिए जानकारी

कलेक्टर श्री गुप्ता ने ग्रामीण क्षेत्र के भ्रमण के दौरान उपार्जन संबंधी गतिविधियों की  विस्तार से जानकारी ली। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वर्तमान में मौसम को दृष्टिगत रखते हुए उपार्जित गेहूं का शीघ्र परिवहन एवं भंडारण किया जाए। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि किसानों को उपार्जित उपज का भुगतान समय पर किया जाना सुनिश्चित किया जाए।


130 व्यक्तियों को लगा कोरोना का प्रथम एवं द्वितीय टीका


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर प्रदेश के साथ ही सीहोर जिले में कोविड टीकाकरण किया जा रहा है। बुधवार को शहरी सीहोर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सहित जिला चिकित्सालय क़े एक सत्र में कुल 90 एवं इछावर के एक सत्र में 40 व्यक्तियों को कोविड का प्रथम एवं द्वितीय टीका लगाया गया।


ग्रामीण क्षेत्रों में सर्दी खांसी बुखार के मरीजों का किया जा रहा है स्वास्थ्य परीक्षण


अनुविभागीय अधिकारी नसरुल्लागंज श्री डीएस तोमर ने जानकारी दी कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम के संबंध में प्रत्येक ग्राम में संबंधित एएनएम आशा कार्यकर्ता एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के साथ घर-घर जाकर सर्दी खांसी एवं बुखार से पीड़ित व्यक्ति का थर्मल स्क्रीनिंग एवं ऑक्सोमीटर से जांच की जा रही है। पीड़ित संदिग्ध व्यक्ति का नाम पता एवं जांच में पाई गई स्थिति का विवरण एक रजिस्टर में दर्ज किया जा रहा है। यदि किसी व्यक्ति को अधिक समय से बुखार या सर्दी खांसी की समस्या है तो उसे सिविल अस्पताल नसरुल्लागंज में एंटीजन टेस्ट एवं आरटीपीसीआर जांच के लिए प्रेरित कर स्वास्थ्य केंद्र भेजा जा रहा है। उन्होंने बताया कि पंचायत सचिवों को निर्देशित किया गया है कि वह एक पंजी संधारित करें जिसमें ग्राम में पाए जाने वाले संक्रमित व्यक्ति एवं ग्राम में बाहर से आने वाले संदिग्ध व्यक्तियों के आने-जाने का विवरण अंकित किया जाए एवं प्रतिदिन की जाने वाली प्रविष्टियों की फोटो अपने अपने विभागीय व्हाट्सएप ग्रुप में शेयर करें।  


रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने आयुष विभाग द्वारा आयुर्वेद औषधि का वितरण    


sehore news
कोरोना संक्रमण से बचाव तथा प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए कलेक्टर श्री अजय गुप्ता के निर्देश पर आयुष विभाग द्वारा जिले में आयुष संस्थाओं द्वारा त्रिकटु चूर्ण, संशमनी वटी, होम्योपैथी एवं यूनानी औषधियों का वितरण किया जा रहा है। आयुष विभाग द्वारा जिले भर में कुल 2491 लोगों को त्रिकटु चूर्ण 1483, संशमनी वटी के 145, होम्योपैथी के 681 एवं यूनानी औषधि के 182 पैकेट वितरित किए गए।  आयुष विभाग द्वारा सीहोर विकासखंड अन्तर्गत 1427 व्यक्तियों को त्रिकटु चूर्ण के 1197, संशमनी वटी के 113, होम्योपैथी औषधि के 78 पैकेट एवं यूनानी औषधि के 39 पैकेट वितरित किए गए। इसी प्रकार आष्टा अन्तर्गत 233 व्यक्तियों को त्रिकटु चूर्ण के 44, संशमनी वटी के 32, होम्योपैथी औषधि के 84 एवं यूनानी औषधि के 73 पैकेट वितरित किए गए। बुदनी अन्तर्गत 420 व्यक्तियों को त्रिकटु चूर्ण के 69, होम्योपैथी औषधि के के 351 पैकेट वितरित किए गए। इछावर अन्तर्गत 274 व्यक्तियों को त्रिकटु चूर्ण के 117, होम्योपैथी औषधि के 118 एवं यूनानी औषधि के 39 पैकेट वितरित किए गए। नसरुल्लागंज अन्तर्गत 137 व्यक्तियों को त्रिकटु चूर्ण के 56 होम्योपैथी के 50 एवं यूनानी औषधि के 31 पैकेट वितरित किए गए।   जिला आयुष अधिकारी डॉ नरेन्द्र सिंह लोधी ने जानकारी दी कि आयुष विभाग मध्यप्रदेश के आदेशानुसार विगत वर्ष विभाग द्वारा औषधियों का वितरण घर-घर जाकर किया गया था। वर्तमान में भी इन औषधियों का वितरण संस्था स्तर से कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन करते हुए किया जा रहा है। 


कोरोनागाईड लाईन का उल्लंघन करने वाले 21 लोगों को भेजा अस्थाई जेल    


sehore news
कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर कलेक्टर श्री अजय गुप्ता के निर्देशानुसार आष्टा में राजस्व एवं पुलिस अमले द्वारा कोरोना कर्फ्यू का उलंघन करने वाले 21 लोगों को अस्थाई जेल में भेजा गया तथा 10 लोगों के विरुद्ध धारा 188 के तहत कार्यवाही की गई। कोराना कर्फ्यू का उल्लंघन करने वाले के खिलाफ यह कार्यवाही, एसडीएम आष्टा श्री विजय कुमार मंडलोई, एसडीओपी, तहसीलदार श्री मरावी सहित अन्य अधिकारियों ने की। इस अवसर पर उन्होंने कोरोना संक्रमण से बचने मास्क लगाने,सुरक्षित दूरी का पालन करने तथा नियमित अंतराल में साबुन-पानी से हाथ धौने अथवा सेनेटाईजर से हाथ साफ करने की समझाईश दी।


समुचित इलाज और अच्छी देखभाल से जीती कोरोना से जाना        


sehore news
जिला चिकिसालय मे भर्ती श्री महेन्द्र शर्मा को पूरी तरह स्वस्थ होने पर छुट्टी मिल गई। श्री शर्मा बताते हैं कि जब कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आया तो डर गया था। लेकिन जब अस्पताल मे भर्ती हुआ और यहां मिले इलाज और हौसला अफजाई से मेरा आत्मबल मजबूत हुआ। श्री महेंद्र शर्मा ने  बताया कि यहां मिलने वाला इलाज और केयर बहुत अच्छी है। इसके साथ-साथ चिकित्सक और अस्पताल के स्टॉफ के अच्छे व्यवहार से कोरोना से लड़ने में मदद मिली है। महेन्द्र ने चिकित्सकों और अस्पताल के सभी स्टाफ को धन्यावाद दिया। उन्होंने सभी से अपील की है कि मास्क लगायें और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के साथ ही नियमित हाथ धोते रहें तो अस्पताल आने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी। उन्होंने कहा कि बीमार पड़ने और इलाज करने से बेहतर है कि पहले ही सावधानी बरती जाए।    


सीईओ जिला पंचायत ने किया ग्रामीण क्षेत्र का भ्रमण, लोगों से कोरोना कर्फ्यू का पालन करने की अपील की    


जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री हर्ष सिंह ने बुधनी तहसील के बकतरा, जैत, डोबी, जोनतलाई सहित कई गांवों का भ्रमण किया। इस दौरान उन्होंने स्वास्थ्य केंद्रों के निरीक्षण के साथ ही ग्रामवासियों से कोरोना कर्फ्यू का पालन करने की अपील की। उन्होंने कहा कि बिना अत्यावश्यक कार्य के घर से बाहर नहीं निकलें। श्री सिंह ने स्वास्थ्य केंद्र में उपस्थित अमले को मरीजों के त्वरित उपचार के निर्देश दिए। उन्होंने ग्रामवासियों से कहा कि कोरोना बीमारी से बचाव ही बेहतर उपाय हैं उन्होंने कहा कि जिसे सर्दी, खांसी, बुखार आए हुए तुरंत पास के स्वास्थ्य केंद्र में जाकर अपना परीक्षण करा लें जितनी जल्दी स्वास्थ्य परीक्षण होगा इलाज भी उतनी ही जल्दी मिलेगा।


जिले में 195 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिले, वर्तमान में कोरोना एक्टिव-पॉजीटिव की संख्या 950, 4 कोरोना संक्रमितों की मृत्यु, मृतकों की कुल संख्या 66


पिछले 24 घंटे के दौरान 195 व्यक्ति कोरोना पॉजीटिव मिले। इनमें सीहोर शहरी क्षेत्र के 17 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। जो पटेल कॉलोनी, श्रीराम कॉलोनी, डीएफओ बंगला क्षेत्र, चाध्यक्पुरी, पुरानी जेल रोड़, स्वदेश नगर, शिवाजी कॉलोनी, डीडी स्टेट, जिला चिकित्सालय परिसर, बडियाखेड़ी, मेनरोड सीहोर के निवासी हैं। इसी तरह आष्टा क्षेत्र से 47 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है जो तिलावट, सुभाषनगर, मुकाती कॉलोनी, शास्त्री कॉलोनी, बुधवारा, अंजली नगर, कोठरी, मुरावर, सुभाष नगर, विजय नगर, मेवाड़ा कॉलोनी, वार्ड नंबर 1 आष्टा, कुरावर, ऊंचाखेड़ा, भोपापुरा, सिद्धिकगंज, दादाबाड़ी क्षेत्र, खाचरोद, खजूरिया, कोर्ट रोड़ आष्टा, अरनियाराम मालीखेड़ी, न्यू पुष्प स्कूल के निवासी हैं। बुदनी क्षेत्र अन्तर्गत 84 व्यक्ति संक्रमित मिले हैं। जो बुदनी के वार्ड नंबर 09, 11, 04, 07, 05, 08, 12, सेमरी, मरदानपुर, मांझरकुई, वार्ड नंबर 06, 09, रेहटी, सलकनपुर वार्ड नंबर 04, 06, 03, 02, नाबियाखेड़ी, बड़कुल, थाना एरिया बुदनी, पीलीकरार, शाहगंज, तालपुरा, कोसमी, वर्धमान ट्रायडेंट, देवगांव, हथनौरा के निवासी हैं। इसी प्रकार नसरुल्लागंज क्षेत्र से 17 व्यक्ति पॉजीटिव मिले हैं जो नसरुल्लागंज थाना एरिया, चकल्दी, सेमलपानी, गुपालपुर, मगरिया, शास्त्री कॉलोनी, लाड़कुई, एसबीआई क्षेत्र, बजरंग कुटी के निवासी हैं। इछावर अन्तर्गत 24 व्यक्ति संक्रमित पाए गए जो बलोडिया, खेरी, वीरपुर डेम, बरखेड़ाकुर्मी, मोगरा, मोलगा, आमलानोआबाद, कांकरखेड़ा, पांगरा, इछावर वार्ड नंबर 09, 05, 01, 06, 07,03,12 के निवासी हैं। श्यामपुर क्षेत्र से 06 व्यक्ति संक्रमित मिले हैं जो पडलिया, बमूलिया, सिराड़ी, बरखेड़ा, श्यामपुर, बिजोरी, बरखेड़ी, मोगराफुल सिकंदरगंज, दोराहा के निवासी हैं। जिला चिकित्सालय स्थित डेडिकेटेट कोविड हेल्थ सेंटर (डीसीएचसी) में पिछले 24 घंटे के दौरान 3 कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की मृत्यु हो गई। मृतकों में 1 3हिला तथा 3 पुरुष शामिल हैं वहीं भोपाल के एक निजी अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती एक कोरोना संक्रमित पुरुष की उपचार के दौरान मृत्यु होने की सूचना प्राप्त हुई है। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार वर्तमान में जिले में एक्टिव पॉजिटिव 950 हैं। आज 67 व्यक्ति रिकवर हुए। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 3826 हैं। कुल कोविड संक्रमित मृत व्यक्तियों की संख्या 66 है । आज 790 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 184, श्यामपुर से 99, विकासखंड नसरुल्लागंज से 72, आष्टा से 170 एवं बुदनी विकासखंड से 177 तथा इछावर से 88 सेंपल लिये गए हैं। जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 4842 है जिसमें से 66 की मृत्यु हो चुकी है 3826 स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो गए है। तथा वर्तमान में एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 950 है। आज 790 सैंपल जांच हेतु लिए गए। कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 95465 हैं जिनमें से 89207 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। आज 378 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 1345 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या  कुल 71 है। जिले मे जो व्यक्ति होम क्वारन्टाईन में हैं उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 कॉल सेंटर स्थापित किया गया है। जिसका संपर्क नंबर- 07562-1075 है। जिला स्तर पर मोबाइल नंबंर 9425400273, 7987652577, 9479595519 पर कॉल सेंटर पर संपर्क किया जा सकता है। राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर कॉल करके भी टेलीमेडिसिन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। होम क्वारन्टाईन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाईन नंबंर 18002330175 जारी किया गया है। होम क्वारन्टाईन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साइकॉलाजीकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से नि:शुल्क प्राप्त कर सकते हैं।     

कोई टिप्पणी नहीं: