विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 28 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 28 अप्रैल 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 28 अप्रैल

हनुमान जयंती पर प्रषासनिक अधिकारीयों की अभद्रता से नागरिकों में असंतोष  : विधायक भार्गव     


विदिशाः- विदिषा विधायक शषांक भार्गव ने हनुमान जयंती के अवसर पर पुजारियों व श्रद्धालुओं के साथ प्रषासनिक अधिकारीयों द्वारा की गई बदसलूकी के संबंध में मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर कार्यवाही की मांग की है। विधायक भार्गव ने बताया कि संविधान हमें धार्मिक स्वतंत्रता का अधिकार देता है एवं किसी भी आदेष में मंदिरों में ताले लगाये जाने का उल्लेख नहीं हैं इसके बावजूद हनुमान जयंती के पावन पर्व पर  विदिषा के प्रषासनिक अधिकारीयों द्वारा अपने अधिकारों के अतिरेक जाकर महल घाट, बाबा बेहरा घाट, रंगई, पुरानी गल्ला मण्डी एवं कई अन्य हनुमान जी के मंदिरों पर जाकर श्रद्धालुओं एवं पुजारियों के साथ जाति सूचक शब्दों से अपमानित किया गया एवं एक महिला श्रद्धालु पर लाठी से हमला भी किया गया। जिससे सनातन धर्म में आस्था रखने वाले समस्त श्रद्धालुओं की भावनायें आहत हुई है। उक्त घटनाओं से विदिषा के नागरिकों के मन में भारी असंतोष व्याप्त है।  शासन द्वारा जारी लाॅकडाउन के आदेषों के तहत् इस विषम आपदा में विदिषा के नागरिक, व्यापारी, गरीब, मजदूर सभी सहयोग की भावना से सरकार के निर्देषों का पालन कर रहें है। लेकिन चंद अधिकारी सुर्खियों में बने रहने के लिए निर्दोष नागरिकों के साथ बदसलूकी कर रहें हैं।  विधायक भार्गव ने मुख्यमंत्री से उक्त घटनाओं की जाॅच कराकर दोषी अधिकारीयों पर अविलंब कार्यवाही की मांग की है। साथ इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो यह सुनिष्चित किया जाना आवष्यक है। घटना की निंदा करते हुए शहर कांग्रेस अध्यक्ष देवेन्द्र राठौर, अजय कटारे, नरेन्द्र रघुवंषी, रवि साहू, अरूण राजू अवस्थी ने नागरिक अधिकारों के हनन् एवं सनातन धर्मावलंबियों पर कुछ अधिकारीयों द्वारा कुंठा और दम्भ निकालने की आलोचना करते हुए इस तरह की घटनाओं पर रोक लगाने की मांग की है अगर भविष्य में विदिषा के नागरिकों के साथ इस तरह की अवैधानिक कार्यवाही की गई तो कांग्रेसजन लाॅकडाउन को तोडकर आंदोलन करने के लिए बाध्य होगें। 


मुख्यमंत्री जी  ने  वीडियो कांफ्रेसिंग से समीक्षा की


vidisha news
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से जिलो की क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप  के सदस्यों से कोरोना वायरस के नियंत्रण के संबंध में संवाद किया है। विदिशा के एनआईसी वीडियो कांफ्रेसिंग कक्ष में शमशाबाद विधायक श्रीमती राजश्री सिंह, भाजपा जिलाध्यक्ष डॉ राकेश जादौन सहित अन्य सदस्यों के अलावा कलेक्टर डॉ पंकज जैन, पुलिस अधीक्षक श्री विनायक वर्मा, सहायक कलेक्टर श्री अनिल कुमार राठौर, अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह, जिला पंचायत सीईओ श्रीमती नीतू माथुर, मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ सुनील नंदेश्वर, सीएमएचओ डॉ केएस अहिरवार के अलावा विभिन्न प्रकोष्ठ के नोडल अधिकारी तथा चिकित्सकगण और एनआईसी के डीआईओ श्री एमएल अहिरवार मौजूद रहें।


नगर के विभिन्न चौराहो पर जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन 


vidisha news
आमजनों को कोरोना संक्रमण से बचाव के उपाय से अवगत कराने तथा मास्क का प्रयोग कर सोशल डिस्टेन्सिग का पालन कराने की जानकारी जिले में दी जा रही है। इस कार्य में मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद के तहत पंजीबद्ध वॉलिटियर्स के द्वारा कार्यो को अंजाम दिया जा रहा है। मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद की जिला समन्वयक श्रीमती पूजा श्रीवास्तव ने बताया कि अभियान के तहत पंजीबद्ध के द्वारा आज विदिशा शहर के विभिन्न चौराहो पर एक साथ कार्यक्रमों का आयोजन कर आमजनों को जागरूक करने के दायित्व का निर्वहन किया है। इस दौरान टू व्हीलर, फोर व्हीलर वाहन चालको को भी मास्क की अनिवार्यता से अवगत कराया गया है। आज विभिन्न चौराहो पर अभियान के बैनरतले पंजीबद्ध वॉलिटियर्स के द्वारा दायित्व का निर्वहन किया गया है। जिसमें नगर के नीमताल, दुर्गानगर चौराहा, पीतलमील, माधवगंज, रामलीला चौराहा, पर पंजीकृत वॉलिटियर्स अपनी सेवाएं देकर जागरूक करने का दायित्व निर्वहन किया हैं उनमे मुख्य रूप से महेन्द्र नामदेव, सानिध्य सोनी, शरद रघुवंशी, शुभम विश्वकर्मा, विजय मालवीय, यश ठाकुर, आयुष चौबे, संजीव मालवीय, राजा बाबू, शिवेन्द्र शर्मा शामिल है।


कक्षा 10वीं और 12वीं को छोड़कर शेष कक्षाओं की ऑनलाइन क्लासेस स्थगित


प्रदेश के सभी शासकीय एवं अशासकीय विद्यालयों में कक्षा 10वीं और 12वीं को छोड़कर शेष कक्षाओं की ऑनलाइन क्लासेस 31 मई तक संचालित नही होंगी।  आयुक्त, लोक शिक्षण श्रीमती जयश्री कियावत ने बताया कि वर्तमान में कोविड-19 संक्रमण विस्तार के कारण विद्यार्थियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा यह निर्णय लिया गया है। यह निर्णय सीबीएसई, आईसीएसई, माध्यमिक शिक्षा मंडल या किसी भी बोर्ड से संबद्ध सभी विद्यालयों पर लागू होगा।


’मीटर रीडर एवं बिल वितरक को सहयोग की अपील’


बिजली कंपनी के मीटर रीडर और बिल वितरक कोरोना काल में भी अपनी ड्यूटी पूरी निष्ठा से निभा रहे हैं। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी उपभोक्ताओं से आग्रह करती है कि इन बिजली कार्मिकों को कोरोना वारियर्स की तरह सम्मान देते हुए मीटर रीडिंग एवं बिल वितरण के काम में सहयोग करें। गौरतलब है कि अनवरत बिजली आपूर्ति के लिए सतत राजस्व संग्रह बिजली कंपनी की आवश्यकता है। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा कोरोना प्रोटोकाल के अनुसार सुरक्षा मापदंडो का परिपालन करते हुये मीटर रीडिंग एवं बिल वितरण का कार्य सुरक्षा एवं सावधानियों के साथ करने के निर्देश मैदानी अधिकारियों को दिए गए हैं। कंपनी ने विद्युत मीटर रीडिंग, बिल वितरण एवं राजस्व संग्रहण का कार्य करने के लिए प्रोटोकाल जारी किए है। प्रोटोकॉल- कर्मचारियों के कार्यालय में आने एवं जाने के समय थर्मल स्केंनिंग आवश्यक रूप से की जाये। तापमान अधिक होने पर उस कर्मचारी को उस दिन सेवा में नहीं लिया जाये। संबंधित कार्मिक की  चिकित्सक से आवश्यक जॉच करवाई जाए। प्रत्येक 30 मिनट में हाथ धोने की सुविधा उपलब्ध रखी जाये। इस हेतु हैंडवाश,साबुन, सैनेटाईजर का पर्याप्त स्टॉक रखा जाये। कर्मचारी, अधिकारी के मोबाईल में आरोग्य सेतु एप होना अनिवार्य है। फीवर क्लीनिक, कोविड अस्पताल की सूची उपलब्ध रखी जाये ताकि आवश्यकता पड़ने पर कर्मचारियों को सुविधा प्रदान की जा सके। क्वारंटाईन क्षेत्र की जानकारी उपलब्ध होनी चाहिए। इस क्षेत्रों में कार्य के लिये जाते समय कर्मचारी, अधिकारियों को विशेष रूप से सजग रहना आवश्यक है। सामाजिक दूरी बनाते हुये वाहनों का उपयोग किया जाये। मीटर रीडिंग लेते समय उपभोक्ता से पर्याप्त दूरी बनाते हुये मीटर रीडिंग ली जाये। परिसर में प्रवेश के पूर्व एवं आने के बाद अपने हाथों को सैनेटाइज किया जाये। मीटर रीडिंग की फोटो अपलोड करने की सुविधा- कंपनी द्वारा वाट्स एप चौटवॉट में मीटर रीडिंग की फोटो अपलोड करने की सुविधा एवं उपाय मोबाईल एप में उपभोक्ताओं को स्वयं रीडिंग दर्ज करने एवं मीटर रीडिंग की फोटो अपलोड करने के लिये भी व्यवस्था की गई है। कंपनी ने सभी उपभोक्ताओं को पंजीकृत मोबाईल नम्बर पर एस.एम.एस. के माध्यम से सूचना प्रेषित कर सलाह दी जा रही है कि नियत अवधि में मीटर रीडिंग की फोटों अपलोड करें ताकि सही रीडिंग के अनुसार उनको विद्युत बिल प्राप्त हो सके। ऐसे उपभोक्ताओं को ई-मेलध्वाटस एप के माध्यम से भी विद्युत देयक प्रेषित करने की व्यवस्था की गई है।


जीवन अमृत योजना’ : ’आयुष पद्धति अपनाकर बढ़ाएँ रोग-प्रतिरोधक क्षमता’


आयुष पद्धति अपनाकर कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम एवं रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाई जा सकती है। इसके लिये आयुष विभाग द्वारा लोगों को जागरूक किया जा रहा है। साथ ही जीवन अमृत योजना के तहत काढ़े का वितरण किया जा रहा है। इस बार 8 से 26 अप्रैल तक 59 हजार 843 काढ़े के पैकेट इतने ही परिवारों को उपलब्ध कराये गये हैं। इससे लाभ लेने वाले सदस्यों की संख्या एक लाख 49 हजार 608 है। रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिये आयुर्वेदिक चिकित्सा अनुसार एक चुटकी, हल्दी और नमक के साथ गर्म पानी से गरारे किये जाने चाहिये। प्रतिमर्स नस्य- नाक के प्रत्येक नथुने में प्रतिदिन सुबह अणु, तिल तेल की 2-2 बूँद डाली जा सकती है। अश्वगंधा चूर्ण के एक से तीन ग्राम चूर्ण को लगातार 15 दिन तक गर्म पानी के साथ लिया जा सकता है। सशंमनी वटीध्गुड़ुचीध्गिलोय घनवटी 500 मिली ग्राम दिन में दो बार ले सकते हैं। त्रिकटु पाउडर एक ग्राम, तुलसी 3 से 5 पत्तियाँ एक गिलास पानी में उबालकर पीने से रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। तुलसी की पत्तियाँ, दालचीनी, शुण्डी और कालीमिर्च का काढ़ा भी उपयोगी है।


कोविड -19 पुष्ट रोगियों के रिकवरी उपरान्त कोविड टीकाकरण


स्वास्थ्य आयुक्त सह सचिव, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, श्री आकाश त्रिपाठी ने प्रदेश के समस्त कलेक्टर, समस्त अधिष्ठाता, शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय, समस्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, समस्त सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक को निर्देश दिए हैं कि राज्य स्तरीय संज्ञान में आया है कि कोविड -19 के उत्तरजीवियों एवं जिलो के स्वास्थ्य अमलों के मन में यह संशय है कि कोविड -19 पुष्ट रोगियों के रिकवरी उपरान्त कोविड टीकाकरण कब कराया जाना उचित है।  यह साक्ष्य आधारित है कि कोविड -19 संक्रमण के इतिहास वाले रोगियों को भी रोग प्रतिरोधक क्षमता के पर्याप्त विकास हेतु कोविड टीकाकरण की आवश्यकता है। वर्तमान में कोविड संक्रमण के उपरान्त रोग प्रतिरोधक क्षमता के विकास की जानकारी एवं सुरक्षा अवधि प्रमाणित नहीं है , कोविङ -19 पुष्ट रोगियों का लक्षण समाप्ति,  रिकवरी के 4-8 सप्ताह के उपरान्त कोविड टीकाकरण सुनिश्चित किया जा सकता है । अद्यतन परिस्थिति में , कोविड संदिग्ध (Suspect ) अथवा कोविड संक्रमण की पुष्टि होने पर (COVID Confirmed) संक्रमित व्यक्ति का टीकाकरण स्थगित किया जाये।


सफलता की कहानी : डॉक्टरों के इलाज व इच्छा शक्ति से कोरोना को हरा पाई , व्यवस्थाओं के प्रति साधुवाद

 

vidisha news
विदिशा के अटल बिहारी वाजपेई शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय के कोविड-केयर सेंटर मे लगातार 12 दिन तक आईसीयू वार्ड में रहने के बावजूद कोरोना को हराकर  आज अपने घर रवाना होने वाली श्रीमती किश्वर जहां का कहना है कि आदमी अपनी इच्छा शक्ति को मजबूत रखें तो करोना को हराने में काफी मदद मिलती है। उन्होंने मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों की भूमिका की मुक्त कंठ प्रशंसा करते हुए कहा कि मैं यहां किस अवस्था में आई थी। यह ऊपर वाला ही जानता है,  डॉक्टरों की देखभाल नर्सों की मेहनत  से मैं पूर्ण स्वस्थ होकर अपने घर जा रही हूं । श्रीमती किश्वर जहां का कहना है कि मेरे पास शब्द नहीं है कि मैं डॉक्टरों नर्सों और अन्य स्टाफ के प्रति धन्यवाद ज्ञापित कर सकूं ,ईश्वर इनकी सभी मनोकामनाएं पूरी करें । पूर्ण स्वस्थ हुई श्रीमती कि किश्वर जहां  के पुत्र फिरोज शाह ने बताया कि जब मम्मी को भर्ती किया गया था तो हम पूरी तरह से हताश हो चुके थे पर डॉक्टरों की देखभाल समय पर इलाज शुरू हो जाने से आज मम्मी पूर्ण स्वस्थ होकर हमारे साथ घर वापस जा रही हैं मैं डॉक्टरों की टीम सहित अन्य स्टाफ का हृदय से आभारी रहूंगा मेडिकल कॉलेज मैं किए गए प्रबंधों से मरीजों की देखरेख हो रही है, अधिकांश मरीज पूर्ण स्वस्थ होकर अपने-अपने घर पहुंच रहे हैं ।

कोई टिप्पणी नहीं: