जम्मू कश्मीर में मुठभेड़ में चार आतंकवादी मारे गए - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 11 अप्रैल 2021

जम्मू कश्मीर में मुठभेड़ में चार आतंकवादी मारे गए

4-terorist-killed-in-jk
श्रीनगर, 11 अप्रैल, जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों के साथ रातभर चली दो मुठभेड़ों में चार आतंकवादी मारे गए जिनमें अनंतनाग जिले में सेना के एक जवान की हत्या की घटना में शामिल आतंकी भी शामिल हैं। पुलिस ने बताया कि शनिवार को शोपियां और अनंतनाग जिलों में शुरू हुई मुठभेड़ों में मरने वाले आतंकवादियों की संख्या बढ़कर पांच हो गई है। एक आतंकवादी शनिवार देर रात मारा गया था। इस संबंध में एक पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘‘दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले में बिजबेहरा इलाके के सेमथान में मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए।’’ उन्होंने बताया कि सुरक्षाबलों ने इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद वहां घेराबंदी की और तलाश अभियान चलाया जिसके बाद शनिवार को मुठभेड़ शुरू हो गई। मुठभेड़ देर रात तक चलती रही और सुरक्षाबलों ने आतंकवादियों को फरार होने से रोकने के लिए इलाके में कड़ी घेराबंदी की। अधिकारी ने बताया कि मुठभेड़ रविवार सुबह फिर शुरू हो गई और इसमें दो आतंकवादी मारे गए। तलाश अभियान अभी चल रहा है। पुलिस ने बताया कि मारे गए आतंकवादी शुक्रवार को बिजबेहरा इलाके के गोरीवन में हवलदार मोहम्मद सलीम अखून की उनके घर के बाहर हत्या करने की घटना में शामिल थे। कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने कहा, ‘‘बिजबेहरा मुठभेड़ में सेना के जवान की हत्या के लिए जिम्मेदार आतंकवादी दो दिन के भीतर मारे गए।’’ इससे पहले, पड़ोसी शोपियां जिले के हादीपुरा इलाके में मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए और इसके साथ ही मुठभेड़ में मारे जाने वाले आतंकवादियों की संख्या बढ़कर तीन हो गई। शोपियां में मुठभेड़ में एक आतंकवादी शनिवार को मारा गया था। कुमार ने बताया कि मारे गए आतंकवादियों में से एक हाल-फिलहाल में ही आतंकवादी संगठन में शामिल हुआ था और सुरक्षाबलों ने उससे आत्मसमर्पण करने को भी कहा था। उन्होंने कहा, ‘‘माता-पिता ने भी अपील की लेकिन अन्य आतंकवादियों ने उसे आत्मसमर्पण नहीं करने दिया।’’

कोई टिप्पणी नहीं: