बंगाल में चौथे चरण में 80.09 फीसदी मतदान, हिंसा में पांच की मौत - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 11 अप्रैल 2021

बंगाल में चौथे चरण में 80.09 फीसदी मतदान, हिंसा में पांच की मौत

80.09-percent-poll-in-bangal-fourth-phase
कोलकाता, 10 अप्रैल, पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के चौथे चरण में 44 सीटों पर हुए मतदान में शनिवार को 80.09 फीसदी मतदान हुआ। इस दौरान चुनावी हिंसा में कम से कम पांच लोगों की माैत हो गयी। बंगाल में चौथे चरण के मतदान के दौरान कूचबिहार के शीतलकुची में कुछ लोगों की ओर से केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) पर हमले के बाद सीआईएसएफ के जवानों की ओर से कथित रूप से की गयी फायरिंग में कम से कम चार लोगों की मौत हो गयी। इससे पहले कूचबिहार के शीतलकुची के पागलपीर में पहली बार मतदान करने के लिए लाइन में खड़े एक युवक की हथियारों से लैस एक समूह ने गोली मार कर हत्या कर दी है। युवक की पहचान आनंद बर्मन के रूप में हुई है। चुनाव आयोग ने गोलीबारी की घटना को लेकर विशेष पर्यवेक्षक और मुख्य चुनाव अधिकारी से आज शाम पांच बजे तक विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। आयोग ने विशेष पर्यवेक्षक की अंतरिम रिपोर्ट के आधार पर शीतलकुची के मतदान केंद्र संख्या 125 पर मतदान स्थगित कर दिया है। सूत्रों ने बताया कि चुनाव आयोग ने राज्य में बाकी बचे चार चरणों के मतदान को शांतिपूर्ण तरीके से कराने के लिए केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल 71 अतिरिक्त कंपनियां भेजने का केंद्रीय गृह मंत्रालय को निर्देश दिया है। तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से शीतलकुची फायरिंग के लिए इस्तीफा देने की मांग की है। तृणमूल ने दावा किया है कि कूचबिहार में मारे गये चार लोग पार्टी के कार्यकर्ता थे। उन्होंने कूचबिहार की घटना को पूर्व नियोजित करार दिया तथा कहा, "हम शीतलकुची में केंद्रीय बलों द्वारा की गयी गोलीबारी की घटना की अपराध जांच विभाग से जांच कराने का आदेश देंगे।" इस बीच, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) ने शीतलकुची के जोरपटकी में मतदान केंद्र संख्या 126 के बाहर फायरिंग में चार नागरिकों के मारे जाने संबंधी मीडिया रिपोर्टाें को लेकर स्पष्ट किया है कि उक्त मतदान केंद्र पर न तो उन्हें तैनात किया गया था और न ही वह किसी प्रकार से इस घटना में शामिल थे। भारतीय जनता पार्टी के कसबा से उम्मीदवार इंद्रनील खान को मतदान केंद्र में घुसने पर कथित रूप से रोकने का प्रयास किया गया। उन्होंने दावा किया कि भाजपा समर्थकों के घरों में तोड़फोड़ की गयी तथा पार्टी के लोगों को धमकाया गया। श्री खान की शिकायत पर तृणमूल के एक कार्यकर्ता को गिरफ्तार किया गया है। इसके अलावा उत्तर हावड़ा क्षेत्र के गोलाबारी क्षेत्र में बम विस्फोट की घटना भी सामने आयी है। इस घटना में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। 

कोई टिप्पणी नहीं: