बिहार : प्रोफेसर देव नारायण साह को मिलेगा एमटीसी ग्लोबल आउटस्टैंडिंग प्रिंसिपल अवार्ड - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 10 अप्रैल 2021

बिहार : प्रोफेसर देव नारायण साह को मिलेगा एमटीसी ग्लोबल आउटस्टैंडिंग प्रिंसिपल अवार्ड

mtc-globel-aoutstanding-principle-award
भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय, मधेपुरा अंतर्गत मनोहर लाल टेकरीवाल, कॉलेज, सहरसा, पूर्व नाम सहरसा कॉलेज, सहरसा के प्रधानाचार्य प्रोफेसर (डॉ•) देव नारायण साह का चयन एमटीसी ग्लोबल आउटस्टैंडिंग प्रिंसिपल अवार्ड - 2021 के लिए हुआ है। यह अवार्ड 11th वर्ल्ड एजुकेशन सम्मिट जो 11th सितंबर 2021 को बेंगलुरु में होगा। जिसमें उन्हें इस सम्मान से सम्मानित किया जाएगा। इस बात की पुष्टि एमटीसी ग्लोबल के फाउंडर प्रेसिडेंट प्रोफ़ेसर भोलानाथ दत्ता ने ईमेल के माध्यम से दी है। चयन समिति ने उनकी प्रोफाइल, शिक्षण कार्य, प्रशासनिक कार्यकुशलता, शोध कार्य तथा विभिन्न पुस्तकों की रचना के लिए किए गए कार्यों के आधार पर प्रोफ़ेसर देवनारायण साह का चयन किया है। प्रोफेसर साह को एमटीसी ग्लोबल आउटस्टैंडिंग प्रिंसिपल अवार्ड - 2021 के लिए किए गए चयन से विश्वविद्यालय की गरिमा बढी है। अभी  तक 5 से अधिक पुस्तकें उनकी प्रकाशित हो चुकी है, जिसमें कुछ साहित्य अकादमी नई दिल्ली के द्वारा प्रकाशित हुआ है, तथा कुछ पुस्तकें बिहार बोर्ड आफ ओपन स्कूलिंग एंड एग्जामिनेशन पटना के पाठ्यक्रम में चल रही है। इसके अलावा उन्होंने अभी तक 10 से अधिक राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार में अपना पेपर प्रजेंट किए हैं तथा इनके 9 से अधिक शोध पत्र राष्ट्रीय जर्नल में भी प्रकाशित हो चुकी है। प्रोफेसर साह भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय, मधेपुरा के वर्तमान में अभिषद सदस्य, अधिषद सदस्य, विद्वत परिषद निर्वाचित सदस्य, कॉलेज विकास परिषद सदस्य भी है। तथा साहित्य अकादमी नई दिल्ली द्वारा बाल साहित्य पुरस्कार अनुशंसा समिति के सदस्य, साहित्य अकादमी नई दिल्ली द्वारा मैथिली भाषा में पुरस्कार अनुशंसा समिति के सदस्य, सांस्कृतिक एवं खेल प्रशिक्षण - UMANG के सदस्य भी रहे है। इसके अलावा छात्रावास अधीक्षक एमएलटी कॉलेज सहरसा के पद पर भी है। इन्होंने अपना बीए मैथिली ऑनर्स से ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय से की इसके पश्चात उन्होंने अपना पोस्ट ग्रेजुएट पटना यूनिवर्सिटी, पटना से किया तथा अपना पीएचडी भी पटना यूनिवर्सिटी, पटना से ही किया है। इसके पश्चात बिहार विश्वविद्यालय सेवा आयोग, पटना से 1996 में सहायक प्राध्यापक  मैथिली विषय में मनोहर लाल टेकरीवाल महाविद्यालय, सहरसा में पदस्थापित हुए। बहुत ही गर्व की बात है, आज वह उसी महाविद्यालय के प्रधानाचार्य भी हैं। प्रोफेसर साह बी•एन• मुटा• के वाइस प्रेसिडेंट भी है।

कोई टिप्पणी नहीं: