चुनाव आयोग का नाम बदलकर एमसीसी रखना चाहिए : ममता बनर्जी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 12 अप्रैल 2021

चुनाव आयोग का नाम बदलकर एमसीसी रखना चाहिए : ममता बनर्जी

change-ec-name-to-mcc-mamta-banerjee
कोलकाता 11 अप्रैल, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रविवार को आयोग पर सीधा हमला बोलते हुए कहा, “चुनाव आयोग का नाम बदलकर एमसीसी यानी मोदी कोड ऑफ कंडक्ट रखना चाहिए। बंगाल विधानसभा चुनाव के चौथे चरण में मतदान के दौरान जमकर हिंसा और कूचबिहार इलाके में चार लोगों की मौत होने पर जारी घमासान के बीच चुनाव आयोग ने किसी भी राजनीतिक दल के कूचबिहार जाने पर रोक लगा दी है। चुनाव आयोग के इस फैसले के बाद सुश्री बनर्जी ने कहा चुनाव आयोग का नाम बदल कर एमसीसी रखना चाहिए। उन्होंने कहा “भाजपा अपनी ताकत का इस्तेमाल कर सकती है, लेकिन दुनिया में कोई भी नहीं मुझे अपने लोगों के पास जाने और उनका दर्द साझा करने से नहीं रोक सकता है। वे मुझे कूचबिहार में तीन दिनों के लिए अपने भाइयों और बहनों के पास जाने से रोक सकते हैं, लेकिन मैं चाैथे दिन वहां जाऊंगी!” सुश्री बनर्जी ने आज को वहां जाने की घोषणा की थी। जहां 22 से 24 वर्ष की आयु के चार युवाओं की मौत हो गई थी। यह घटना उस समय हुई जब शनिवार को मतदान के दौरान सीतलकुची विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के अंतर्गत माथाभांगा के एक मतदान केंद्र पर केंद्रीय सुरक्षा ने आत्मरक्षा के लिए गोलीबारी की थी। चुनाव आयोग ने हालांकि किसी भी नेता के कूचबिहार जाने पर 72 घंटे तक रोक लगा दी है। इस आदेश के बाद ममता बनर्जी का कूचबिहार दौरा रद्द हो गया। जबकि हिंसा के बाद सुश्री बनर्जी ने कहा था कि वह रविवार को कूचबिहार जाएंगी। सुश्री बनर्जी आज पड़ोसी जिले जलपाईगुड़ी में दो रैलियां करने वाली थीं। उन्होंने अपने यात्रा कार्यक्रम को फिर से जारी किया और चौथे दिन वहां जाने का फैसला किया। मुख्यमंत्री ने कूचबिहार में ‘आत्मरक्षा’ के लिए गोली चलाने की घटना के केंद्रीय बलों के संस्करणों का भी उल्लेख करते हुए कहा कि उनकी सरकार घटना की सीआईडी ​​जांच शुरू करेगी। उन्होंने कहा कि इस घटना में किसके हाथ है इसका पता लगाने के लिए सीआईडी ​​जांच शुरू की जाएगी। निर्वाचन आयोग ने कूचबिहार जिले में हिंसा के बाद कल बंगाल में जारी विधानसभा चुनावों के दौरान कुछ पाबंदियों लगाई हैं। आयोग ने कानून-व्यवस्था की स्थिति और बिगड़ने की किसी भी आशंका से बचने के लिए कूचबिहार जिले में अगले 72 घंटे तक नेताओं के प्रवेश पर रोक लगा दी है। इसके अलावा राज्य में पांच चरण के दौड़ से पहले प्रचार खत्म करने की सीमा 48 घंटे से बढ़ाकर 72 घंटे कर दी गई है।

कोई टिप्पणी नहीं: