द्रमुक-कांग्रेस गठबंधन के हारने पर ही तमिलनाडु का विकास संभव : अमित शाह - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 4 अप्रैल 2021

द्रमुक-कांग्रेस गठबंधन के हारने पर ही तमिलनाडु का विकास संभव : अमित शाह

development-of-tamilnadu-defeat-congress-amit-shah
तिरुनेलवेली, 03 अप्रैल, केंद्रीय गृह मंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता अमित शाह ने विपक्षी द्रमुक और उसकी सहयोगी कांग्रेस पर शनिवार को तीखा हमला करते हुए कहा कि तमिलनाडु का विकास तभी संभव है जब आगामी छह अप्रैल को विधानसभा चुनाव में वंशवादी और भ्रष्ट द्रमुक-कांग्रेस गठबंधन की हार होगी। श्री शाह ने यहां शनिवार को भाजपा प्रत्याशी और अभिनेत्री खुशबू सुंदर को वोट देने के लिए शहर के थाउजेंड लाइट्स विधानसभा क्षेत्र में रोड शो के बाद मीडिया से बातचीत और बाद में दक्षिणी तिरुनेलवेली जिले में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए के पास राज्य के महान सांस्कृतिक और पारंपरिक लोकाचार को संरक्षित करते हुए उसे समृद्धि और तेजी से विकास के मार्ग पर लाने का दृष्टिकोण है। केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा, “ देश भर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यकाल में जो भी विकास हुआ है उसे तमिलनाडु में भी आना चाहिए, ताकि अन्नाद्रमुक के प्रतीक और दिवंगत मुख्यमंत्रियों एमजीआर और जे जयललिता के सपनों को पूरा किया जा सके। केवल भाजपा और अन्नाद्रमुक की सरकार ही मछुआरों, महिलाओं, बेरोजगार युवाओं तथा संस्कृति और परंपरा में विश्वास रखने वाले लोगों की सुरक्षा कर सकती है। ” श्री शाह ने तमिलनाडु को विकास के रास्ते पर ले जाने के लिए मुख्यमंत्री ई के पलानीस्वामी और उप मुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम की प्रशंसा करते हुए कहा कि उन्होंने राज्य में कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए कुशलता से काम किया है। इस दौरान उन्होंने मतदाताओं से भाजपा-अन्नाद्रमुक गठबंधन के लिए मतदान करके तमिलनाडु में एक डबल इंजन सरकार लाने और गठबंधन को भारी बहुमत सुनिश्चित करने की भी अपील की। 

कोई टिप्पणी नहीं: