कूचबिहार हिंसा के दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करे निर्वाचन आयोग : मोदी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 10 अप्रैल 2021

कूचबिहार हिंसा के दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करे निर्वाचन आयोग : मोदी

ec-take-action-against-violance-modi
सिलिगुड़ी, 10 अप्रैल, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कूचबिहार जिले में शनिवार को चौथे चरण के मतदान के दौरान हुई हिंसा को ‘‘दुखद’’ बताया और इसमें मारे गए लोगों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए निर्वाचन आयोग से दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने का आग्रह किया। यहां एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर आरोप लगाया कि भाजपा के पक्ष में जनसमर्थन देख ‘‘वह बौखला गई हैं और इस स्तर पर उतर गई हैं’’। प्रधानमंत्री ने दावा किया कि तीन चरणों के मतदान में हुए बंपर मतदान से साफ हो गया है कि तृणमूल कांग्रेस की सरकार जा रही है और भाजपा की सरकार आ रही है। उन्होंने कहा, ‘‘इस बीच कूचबिहार में जो हुआ है, वह बहुत ही दुखद है। जिन लोगों की मृत्यु हुई है, मैं उनके निधन पर दुख जताता हूं। मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ है।’’ मोदी ने कहा, ‘‘भाजपा के पक्ष में जन समर्थन देखकर ‘दीदी’ और उनके गुंडों में बौखलाहट हो रही है। अपनी कुर्सी जाते देख दीदी इस स्तर पर उतर आई है। लेकिन मैं दीदी को, टीएमसी को और उनके गुंडों को साफ-साफ कर देना चाहता हूं कि अब उनकी मनमानी बंगाल में नहीं चलने दी जाएगी।’’ निर्वाचन आयोग से प्रधानमंत्री ने आग्रह किया, ‘‘कूचबिहार में जो हुआ, उसके दोषियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई हो।’’ उन्होंने तृणमूल कांग्रेस पर लोगों को सुरक्षाबलों के खिलाफ उकसाने और उनकी राह में रोड़े अटकाने का आरोप लगाया ओर कहा ऐसे तरीकों से भी ममता बनर्जी की सरकार बचने वाली नहीं है। ज्ञात हो कि कूचबिहार जिले के सीतलकूची में शनिवार को स्थानीय लोगों द्वारा हमला किए जाने के बाद सीआईएसएफ ने कथित तौर पर गोलियां चलाई जिसमें चार लोगों की मौत हो गई। ऐसा आरोप है कि स्थानीय लोगों ने सीआईएसएफ जवानों की ‘‘राइफलें छीनने की कोशिश की।’’

कोई टिप्पणी नहीं: