हेमन्त सोरेन ने रिम्स में कोविड वार्ड का निरीक्षण किया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 26 अप्रैल 2021

हेमन्त सोरेन ने रिम्स में कोविड वार्ड का निरीक्षण किया

  • रिम्स में तैयार हो रहे 350 बेड तथा इमरजेंसी 50 बेड वाले ऑक्सीजनयुक्त कोविड वार्ड का निरीक्षण

hemant-soren-inspact-rims-covid-ward
रांची, 26 अप्रैल, झारखंड के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने आज रिम्स स्थित मल्टी स्टोरेड पार्किंग बिल्डिंग में तैयार हो रहे 350 बेड तथा इमरजेंसी 50 बेड वाले ऑक्सीजनयुक्त कोविड वार्ड का निरीक्षण तथा डोरंडा स्थित शहरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रिसालदार बाबा हॉस्पिटल में बने 100 बेड वाले ऑक्सीजनयुक्त कोविड वार्ड का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण के इस घड़ी में अस्पतालों में ऑक्सीजनयुक्त बेड की अधिक आवश्यकता पड़ रही है। राज्य सरकार ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड बढ़ाने को लेकर निरंतर प्रयासरत है। रांची, जमशेदपुर, धनबाद एवं बोकारो इत्यादि बड़े शहरों में संक्रमित मरीजों का दबाव ज्यादा है। मरीजों की संख्या अधिक होने के कारण ऑक्सीजनयुक्त बेड की कमी को पूरा करने के लिए रांची तथा पूर्वी सिंहभूम जिला में कोविड सर्किट बनाने का काम किया गया है। कोविड सर्किट के तहत आसपास जिलों के कई शहरों को कोविड कॉरिडोर के रूप में जोड़ा गया है। रांची-जमशेदपुर इत्यादि जगहों पर संक्रमित मरीजों का अधिक दबाव होने पर आस-पास के निकटतम शहरों में इलाज के लिए ऑक्सीजन बेड की व्यवस्था की गई है इससे मरीजों का त्वरित इलाज संभव हो पाया है। श्री सोरेन ने कहा कि इसी कड़ी में आज डोरंडा स्थित शहरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (रिसालदार बाबा हॉस्पिटल) में 100 बेड वाले ऑक्सीजनयुक्त बेड तैयार करने का कार्य पूरा कर लिया गया है। एक-दो दिनों में इस हॉस्पिटल में कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज प्रारंभ हो जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि रिम्स स्थित मल्टी स्टोरेड कार पार्किंग बिल्डिंग में भी 350 ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड की तैयारी की जा रही है। दो-चार दिनों के अंदर यहां भी संक्रमित मरीजों का इलाज शुरू हो जाएगा। इसी तरह इटकी सैनोटोरियम को लेकर भी कार्य योजना तैयार की जा रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह समय मिलजुल कर संक्रमण से लड़ने का है। इस जंग को संकल्प के साथ लड़ेंगे तभी जीतेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी को यह पता नहीं था कि संक्रमण इस रफ्तार से लोगों के बीच फैलेगा। सतर्कता में ही सुरक्षा है। उन्होंने ने लोगों से अपील किया कि स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह का कड़ाई से पालन करें। आप तथा आपके परिवार की सुरक्षा आपके ही हाथ में है इसलिए सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का पूरा पालन करें। मौके पर राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता, विकास आयुक्त अरुण कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का, नगर विकास सचिव विनय कुमार चौबे सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: