केजरीवाल ने कोरोना वायरस के खिलाफ उद्योगपतियों से मांगी मदद - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 25 अप्रैल 2021

केजरीवाल ने कोरोना वायरस के खिलाफ उद्योगपतियों से मांगी मदद

kejriwal-ask-help-to-industrialist
नयी दिल्ली, 25 अप्रैल, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को देश के प्रमुख उद्योगपतियों को पत्र लिखकर कोविड-19 का मुकाबला करने में उनकी मदद मांगी। मुख्यमंत्री ने पत्र में लिखा है कि यदि प्रमुख उद्योगपति, ऑक्सीजन का उपयोग या उत्पादन करने में शामिल हैं और क्रायोजेनिक टैंकरों में ऑक्सीजन पहुंचाने में मदद कर सकते हैं, तो इस समय दिल्ली की मदद करने के लिए वे उनके अाभारी रहेंगे। उन्होंने पत्र में लिखा है कि दिल्ली में कोविड मामलों में अत्यधिक वृद्धि के कारण हमारी आवश्यकताओं से काफी कम ऑक्सीजन गैस मिल पा रही है। उन्होंने इसे एसओएस के रूप में लेने का अनुरोध किया है। केंद्र सरकार इस संबंध में दिल्ली की मदद कर रही है, लेकिन कोरोना के प्रसार की तीव्रता इतनी गंभीर है कि इसकी मात्रा अपर्याप्त साबित हो रही है। श्री केजरीवाल ने पत्र में लिखा है, “ जैसा कि आप जानते हैं कि दिल्ली में ऑक्सीजन की भारी कमी है। दिल्ली में ऑक्सीजन का उत्पादन नहीं होता है। पिछले कुछ दिनों में कोविड मामलों में काफी वृद्धि के कारण दिल्ली के कई अस्पतालों में ऑक्सीजन की बहुत किल्लत हो रही है। दिल्ली में ऑक्सीजन की दैनिक आपूर्ति हमारी आवश्यकताओं से कम है।” मुख्यमंत्री ने पत्र में लिखा है, ‘‘मैं समझता हूं कि आपका संगठन या तो ऑक्सीजन का इस्तेमाल करता है या उत्पादन करता है या फिर किसी से लेता है। यदि आप हमें इस समय क्रायोजेनिक टैंकरों के साथ-साथ ऑक्सीजन का कोई भी स्टॉक प्रदान कर सकते हैं, तो मैं इसके लिए आपका आभारी रहूंगा। हम किसी अन्य देश से क्रायोजेनिक ऑक्सीजन टैंकरों के आयात में किसी भी मदद का स्वागत करेंगे। कृपया इसे एसओएस समझें। मैं आपके सहयोग के लिए व्यक्तिगत रूप से आभारी रहूंगा।”

कोई टिप्पणी नहीं: