ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग पर किया करारा प्रहार - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 13 अप्रैल 2021

ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग पर किया करारा प्रहार

mamta-attack-ec
बरासात 13 अप्रैल, चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन मामले में मंगलवार रात आठ बजे तक चुनाव अभियान पर प्रतिबंध लगाये जाने पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री एवं तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग पर करारा प्रहार करते हुए कहा,“भारतीय जनता पार्टी प्रचार कर रही है, लेकिन चुनाव आयोग ने मुझे प्रतिबंधित कर दिया है।” सुश्री बनर्जी ने यहां जन सभा को संबोधित करते हुए कहा,“केंद्रीय एजेंसियां मुझे रोक रही हैं। मैं चुप नहीं रहने वाली हूं ... मुझे कोई नहीं रोक सकता।” तृणमूल प्रमुख ने कहा,“गुजरात को पश्चिम बंगाल पर नियंत्रण नहीं करने देंगे। मैं अपने घर के अंदर छिपने वाली नहीं हूं।” उन्होंने कहा,“मैं सड़क की लड़ाकू हूं। मैं आपसे युद्ध के मैदान में लड़ूंगी।” तृणमूल सुप्रीमो ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को चुनौती देते हुए कहा,“मैंने श्री अमित शाह को एक सार्वजनिक बहस में चुनौती दी है कि मैंने मटूओं के लिए क्या किया है ... अगर मैं यह साबित करने में विफल रहती हूं कि मैंने इस समुदाय के लिए कुछ नहीं किया है, तो मैं राजनीति छोड़ दूंगी। लेकिन अगर आप (श्री शाह) अपनी बात को साबित नहीं कर पाते हैं, तो आपको उठक-बैठक करना पड़ेगा ... अगर मैं अपनी बात को साबित करने में नाकाम रहती हूं तो मैं उठक-बैठक लगाऊंगी।” सुश्री बनर्जी ने कहा कि वह बुधवार को कूचबिहार के शीतलकुची जाऊंगी तथा उन मृतकों के परिजनों से मुलाकात करूंगी जो केंद्रीय बलों की गोलियों से नहीं बल्कि असामाजिक तत्वों द्वारा मारे गये हैं। उन्होंने कहा,“मैं सभी मौतों को लेकर दुखी हूं और उनकी निंदा करती हूं।” इससे पूर्व सुश्री बनर्जी ने मंगलवार को कोलकाता में चुनाव आयोग की ओर से उनपर प्रतिबंध लगाये जाने के विरोध में धरना दिया। गौरतलब है कि निर्वाचन आयोग ने चुनाव आचार संहिता उल्लंघन के मामले में सुश्री बनर्जी पर 24 घंटे का प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया था। सुश्री बनर्जी पर यह प्रतिबंध सोमवार रात आठ बजे से मंगलवार रात बजे तक के लिए लगाया गया। इस दौरान वह चुनाव प्रचार नहीं कर पायीं। सुश्री बनर्जी ने मुस्लिम मतदाताओं से वोट बंटने न देने की अपील की थी। उन्होंने महिलाओं को सुरक्षाबलों का घेराव करने की सलाह भी दी थी।

कोई टिप्पणी नहीं: