दिल्ली में ऑक्सीजन का गंभीर संकट: केजरीवाल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 21 अप्रैल 2021

दिल्ली में ऑक्सीजन का गंभीर संकट: केजरीवाल

oxygen-crisis-in-delhi-kejriwal
नयी दिल्ली, 20 अप्रैल, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के लिए केंद्र सरकार से आग्रह करते हुए कहा कि यहाँ ऑक्सीजन का गंभीर संकट बना हुआ है। श्री केजरीवाल ने कोरोना के वर्तमान हालात पर अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की और कहा कि राजधानी में ऑक्सीजन का गंभीर संकट बना हुआ है। वह पुनः केंद्र सरकार से आग्रह करते हैं कि दिल्ली को तत्काल ऑक्सीजन उपलब्ध कराए। कुछ अस्पतालों में कुछ ही घंटे के लिए ऑक्सीजन बचे हैं। दिल्ली में ऑक्सीजन की सप्लाई सुनिश्चित करने के लिए युद्ध स्तर पर काम कर रहे हैं। हम केंद्र सरकार से भी लगातार बात कर रहे हैं। दिल्ली में बड़े स्तर पर ऑक्सीजन बेड्स बढ़ाने का काम भी जारी है। उन्होंने अधिकारियों को दिल्ली में अधिक से अधिक ऑक्सीजन बेड बढ़ाने पर बल देने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि देखा जा रहा है कि अस्तपाल में आने वाले अधिकतर मरीजों में ऑक्सीजन स्तर कम पाया जा रहा है। उनको जल्द से जल्द ऑक्सीजन दिया जा सके, जिससे कि उनके स्वास्थ्य में जल्द सुधार आ सके और बेहतर इलाज मिल सके। अधिकारियों ने अवगत कराया कि ऑक्सीजन बेड बढ़ाने पर पूरा ध्यान केंद्रित किया गया है और ऑक्सीजन बेड बढ़ाने का काम त्वरित गति से चल रहा है। समीक्षा बैठक में दिल्ली में दूसरे राज्यों से आ रहे ऑक्सीजन के सिलेंडर पर विस्तृत चर्चा की गई। अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि दिल्ली में नोएडा और राजस्थान से ऑक्सीजन के सिलेंडर आते हैं। नोएडा और राजस्थान से ऑक्सीजन के सिलेंडरों को दिल्ली तक पहुंचने में कई तरह की बांधाओं का सामना करना पड़ता है और जब भी बांधाएं आती है, तब केंद्र सरकार से बात करनी पड़ती है। श्री केजरीवाल ने अधिकारियों को केंद्र सरकार से बात कर इन बांधाओं को शीघ्र दूर करने के निर्देश दिए। अधिकारियों ने बताया कि केंद्र सरकार से बातचीत जारी है और केंद्र से मांग की जा रही है कि नोएडा और राजस्थान से आने वाले ऑक्सीजन के सिलेंडरों बिना किसी बांधा के दिल्ली आने दिया जाए। इससे ऑक्सीजन के सिलेंडरों को दिल्ली में पहुंचने में कम समय लगेगा और लोगों को जल्द से जल्द राहत मिल सकेगी। उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि ऑक्सीजन को लेकर सब अस्पतालों से एसओएस फोन आ रहे हैं। ऑक्सीजन सप्लाई करने वाले लोगों को अलग-अलग राज्यों में रोक दिया जा रहा है। ऑक्सीजन की सप्लाई को लेकर राज्यों के बीच जंगलराज न हो। इस पर केंद्र सरकार को बेहद संवेदनशील और सक्रिय रहना चाहिए। समीक्षा बैठक में दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन, मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव (स्वास्थ्य), एसीएस और अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं: