झारखंड : नहीं रहे झामुमो के संस्थापक सदस्य और पूर्व मंत्री साइमन मरांडी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 13 अप्रैल 2021

झारखंड : नहीं रहे झामुमो के संस्थापक सदस्य और पूर्व मंत्री साइमन मरांडी

saiman-marandi-died
रांची, 13 अप्रैल, झारखण्ड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के संस्थापक सदस्य एवं पूर्व मंत्री साइमन मरांडी का निधन कोलकाता के नेताजी हॉस्पिटल में सोमवार देर रात्रि हो गया। श्री मरांडी विगत एक माह से कोलकाता में इलाज करा रहे थे। ह्रदय रोग के अलावे कई गभीर रोग से ग्रसित श्री मरांडी के साथ इलाज के दौरान उनके विधायक पुत्र दिनेश विलियम मरांडी सहित उनका परिवार कोलकाता में ही उनकी देखभाल कर रहे थे। साइमन मरांडी दो बार राजमहल क्षेत्र के सांसद और पांच बार विधायक तथा झारखण्ड राज्य के मंत्री भी रहे। इनके व्यवहार और अपनापन के कारण क्षेत्र के लोग इन्हें दादा के नाम से ज्यादा पुकारते थे। इन्होंने पाकुड, साहिबगंज ,दुमका , गोड्डा , जामताड़ा देवघर यानी पूरे संताल परगना में झारखण्ड मुक्ति मोर्चा की जमीन मजबूत करने नये लोगो को पार्टी में लाकर संगठन को मजबूत करने में अपनी सूझबूझ दिखाते हुए पूरी ताकत लगायी थी। जिसका लाभ भी झामुमो को मिला। शिबू सोरेन को संताल की जमीन में दिशोम गुरु बनाने वालों में एक नाम साइमन मरांडी तो दूसरा नाम सूरज मंडल का आता है। कोलकाता से श्री मरांडी का शव आज पाकुड़ जिला स्थित उनके हिरणपुर आवास लाया जा रहा है। श्री मरांडी परिजनों ने बताया कि 14 अप्रैल यानी कल उनके शव को लिटीपाड़ा प्रखंड के ताल पहाड़ी डुमरिया स्थित उनके पैतृक आवास के निकट दफनाया जाएगा। 

कोई टिप्पणी नहीं: