सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 03 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 3 अप्रैल 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 03 अप्रैल

शनिवार को 4729 को लगा कोविड का टीका, 31 टीकाकरण केन्द्रो पर 4549 को टीके का प्रथम डोज तथा 180 को सेकण्ड डोज लगा


sehore news
जिले में कोविड का टीकाकरण जारी है इसी क्रम मे मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाक्टर सुधीर कुमार डेहरिया ने जानकारी दी कि  31 टीकाकरण केन्द्रों पर कुल 4729 हितग्राहियो को टीका लगाया गया। आष्टा ब्लॉक में 1251 हितग्राहियों को टीका लगा. बुधनी में 400, इछावर में 800, नसरुल्लागंज में 428 श्यामपुर में 1012 तथा अर्बन सीहोर जिला चिकित्सालय में 831 को कोविड का टीका लगाया गया.45 से 59 वर्ष आयु वाले 3658 को टीका लगाया गया.3639 को प्रथम व 19 को दूसरा डोज लगा.60 वर्ष से ऊपर क़े 1140  बुजुर्गो ने टीका लगवाया,899 को प्रथम व 141 बुजुर्गो को टीके का दूसरा डोज लगाया गया.17 हेल्थ वर्कर व 14 फ्रंट लाइन वर्कर को भी कोविड का टीका लगाया गया. CMHO ने समस्त हितग्राहियो सहित आम लोगो से अपील की है कि मास्क जरूर पहनें, सोशल डिस्टेंस का पालन करें और समय समय पर साबुन पानी से हाथ धोये अथवा सेनेटाइजर का उपयोग करें.


कोविड टीकाकरण को लेकर जनप्रतिनिधि एवं नागरिकों के साथ बैठक, सांसद रमाकांत भार्गव ने लोगों से कोविड का टीका लगाने की अपील की  


sehore news
जिले में वर्तमान में 45 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्तियों का टीकाकरण किया जा रहा है। जिले के सभी नागरिकों का टीकाकरण किया जाना सुनिश्चित करने के लिए बुधनी में जनप्रतिनिधि एवं नागरिकों के साथ बैठक आयोजित की गई। बैठक में सांसद श्री रमाकांत भार्गव सहित अनेक जनप्रतिनिधि एवं नागरिक उपस्थित थे। सांसद श्री रमाकांत भागर्व ने कहा कि 45 वर्ष से अधिक के लोंगो के टीकाकरण जनप्रतिनिधि एवं समाज सेवियों के सहयोग और अपील से कर लिया जायेगा। सांसद श्री भार्गव ने सभी नागरिकों से टीका लगवाने की अपील की । बैठक में कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने सभी जनप्रतिनिधि से अपील की कि वे  नागरिकों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करें।  ताकि 45 वर्ष से अधिक आयु के सभी नागरिकों का टीकाकरण सुनिश्चित किया जा सके । उन्होने कहा कि जनप्रतिनिधियों एवं समाजसेवी लोगों को प्रेरित करेंगे तो निश्चित ही सभी टीकाकरण करवाएंगे । बैठक में महेश उपाध्याय पूर्व सलकनपुर ट्रस्ट अध्यक्ष, राम नारायण साहू बीजेपी उपाध्यक्ष, सतीश गुप्ता नगर अध्यक्ष बीजेपी,  अर्जुन मालवीय कोऑपरेटिव अध्यक्ष, सुभाष पंजाबी पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष, तथा अनेक वरिष्ठ नागरिक उपस्थित थे  

यमराज और चित्रगुप्त कर रहे लोगों को कोरोना के प्रति जागरूक 


sehore news
जिले में कोरोना से बचाव के लिए जनजागरूकता अभियान चलाये जा रहे हैं। इन अभियानों में जिला प्रशासन और पुलिस के अलावा जनप्रतिनिधि, समाजसेवी, मीडिया के साथ-साथ कलाकार भी योगदान दे रहें हैं । कलाकार विभिन्न वेशभूषाओं में लोगों को कोरोना से बचाव के लिए मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग बनाये रखने तथा नियमित हाथ धोने के लिए अपने अपने अंदाज में लोगों को जागरूक कर रहे हैं। आज बुधनी में रंगकर्मियों द्वारा यमराज और चित्रगुप्त का वेश धारण कर लोगों को सावधान कर रहे हैं, कि मास्क नहीं लगाया और कोविड की गाइडलाईन का पालन नहीं किया तो उनका जीवन खतरे में पड़ जायेगा । नागरिकों ने कलाकारों द्वारा यमराज और चित्रगुप्त की वेशभूषा बनाकर जागरूक करने के इस अंदाज की सराहना की ।

दलित, पिछड़े और अल्पसंख्यकों पर अत्याचारों को लेकर सेवादल जिलाध्यक्ष ने पुलिस अधीक्षक को सौपा ज्ञापन

sehore news
सीहोर। सेवादल कांग्रेस के जिलाध्यक्ष नरेंद्र खंगराले के नेतृत्व में सीहेार जिले में हो रहे अमानवीय अत्याचारों को लेकर अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग एवं अत्याचारों पर रोक लगाए जाने को लेकर जिले के पुलिस अधीक्षक कार्यालय में पीडि़त व्यक्तियों के साथ पहुंचकर ज्ञापन सौपकर कार्रवाहीं की मांग की गई। श्री खंगराले ने बताया की नसरूल्लांगज तहसील के गोपालपुर ग्राम में फरियादी गण अमजद खान पिता सत्तार खां,सलमान खां पिता वहीद खां मुबारक खां, रसीद व वहीद पिता गुलाब खां के साथ ग्राम प्रभाव शाली अनावेदक गुंडात्त्व सखीर खाँ, बबलू खां पिता लियाकत खां, शहदत पिता शोैकीन खान, वसीम खान पिता बबलू खान, शाहरूख खान पिता सकीर खां के द्वारा दिनांक १०.१. १५.३. २.४.२१ में लगातार घर के दरबाजे तोड़कर व रास्ते में रोक कर प्राण घातक हमला करते हुए जान से मारने की धमकी दी। पुलिस के द्वारा इस प्रकार बार बार हो रहीं घटनाओं पर सांटसांठ कर कठौर कार्यवाही ना करते हुए उल्टे फरियादियों नाबालिक जवेद पिता शहीद खां शेर खान पिता वहीद खान को गौपालपुर थाने के प्रधान आरक्षक मनोहर द्वारा प्लास्टिक के पाईप एवं लकड़ी के डंडों से गंभीर रूप से मारपीट कर घायल कर दिया गया। जिन का ईलाज चिकित्सालय नसरूल्लांगज में चल रहा है। इसी प्रकार बरखेड़ा हसन में ढोल बजाने वाले दलित नाबालिक बालक के द्वारा होटल से पानी पीने को लेकर होटल संचालक द्वारा मारपीट की गई। रंग पंचमी के दिन छतरी घाट सीहेार कस्बा निवासी सौरभ टिमरई पिता प्रताप टिमरई के घर स्थानीय प्रभाव शाली युवकों के द्वारा घर पहुुंचकर जातिगत अपमान करते हुए धारदार हथियारों से लेस होकर मार कर घायल किया गया। बीते दिनों सीहेार के दौलतपुर दुदलाई के दलित परिवार के ईलाज के दौरान निजी अस्पताल के स्टाफ द्वारा दलित महिला एवं युवकों के साथ मारपीट की गई। सीहेार जिले में दलित, पिछड़े और अल्पसंख्यकों पर अत्याचारों की संख्या में आय दिन वृद्धि हो रहीं है जिसे रोके जाने और आरोपियों को गिरफतार किए जाने की मंाग सेवादल कांग्रेस के द्वारा की गई।

घर में घुसकर कुल्हाड़ी डंडा बेल्ट से मारने वाले आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग, पीडि़तों ने जिला पुलिस अधीक्षक को कार्यालय पहुंचकर दिया ज्ञापन



sehore news
सीहोर। मामूली विवाद को लेकर घर में घुसकर कुल्हाड़ी डंडा बेल्ट से अनसूचित जाति के फरियादियों को मारने वाले अपराधियों को गिरफ्तार करने की मांग की गई है। फरियादियों ने शनिवार को जिला पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचकर पुलिस अधीक्षक के नाम ज्ञापन दिया है।   इछावर थाना अंतर्गत ग्राम भाउखेड़ी निवासी अरविंद मालवीय, विष्णु मालवीय, शुभम मालवीय अनीता  कमलाबाई, राम सिंह, मुकेश, लखन, गोपाल आदि ने पुलिस अधीक्षक को दिए ज्ञापन में बताया की  28 मार्च को लाठंी कुल्हाडी, बेल्ट व हथियार लेकर परमसिंह, हरिओम, रामबाबु, गोलू रोहित,विशाल आदि ने पैसे के लेने देन के मामूली विवाद को लेकर हमला कर दिया। हमले में पीडि़तों को सिर हाथ, पसली हाथ पीठ-कमर में चोट आई है। पीडि़तों ने इछावर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस ने अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत धाराएं लगाई गई है लेकिन पुलिस ने आरोपियों को अबतक गिरफतार नहीं किया है। इधर आरोपियों के द्वारा पीडितों को धमकियां दी जा रहीं है। पीडि़तो मदद की गुहाई पुलिस अधीक्षक से लगाई है।

बुदनी में रोको-टोको अभियान का कलेक्टर ने लिया जायजा कलेक्टर-सीईओ ने आमजन से की मास्क लगाने की अपील, कलेक्टर ने बिना मास्क लगाये लोगों के बनवाये चालान

sehore news
जिले में चल रहे रोको टोको अभियान को प्रभावी बनाने के लिये कलेक्टर श्री अजय गुप्ता एवं जिला पंचायत सीईओ श्री हर्ष सिंह ने बुदनी में चल रहे अभियान का जायजा लिया। इस दौरान श्री गुप्ता ने आम नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि जिले में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए पूरी सावधानियाँ बरतें। उन्होंने व्यापारियों से कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग के साथ आर्थिक गतिविधियाँ संचालित करें। कोरोना से निपटने के लिए हर सावधानी आवश्यक है। उन्होंने कहा कि फेस मास्क के अनिवार्य उपयोग के साथ ही निर्धारित गाइडलाइन का पालन कर सहयोग करें। कलेक्टर श्री गुप्ता ने  कहा कि मास्क अनिवार्य रूप से लगाएँ, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, हाथों को साफ रखें, सेनेटाइज करते रहें तथा निर्धारित कार्यक्रम अनुसार वैक्सीन अवश्य लगवाएँ। उन्होने कहा कि वैक्सीनेशन से कोरोना के विरुद्ध शरीर में प्रतिरोधक क्षमता उत्पन्न होती है। टीके के किसी तरह के कोई साइड-इफेक्ट्स नहीं हैं। उन्होने  जिले के सभी एसडीएम को निर्देश दिए कि कोविड़-19 के संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए रोको-टोको अभियान संघनता से चलाया जाए।  उन्होन कहा कि टीम बनाकर बिना मास्क घूमने वाले व्यक्तियों पर चालानी कार्यवाही की जाए । उन्होने अधिकारियों द्वारा की जा रही चालानी कार्यवाही को देखा और बिना मास्क लगाये लोगों के चालान बनवाये।  इसके साथ ही उन्होने दुकानदारों को भी अपनी दुकान के सामने गोले बनाकर सोशल डिस्टेसिंग का कड़ाई से पालन कराने तथा उल्लघंन करने पर नियमानुसार कार्यवाही के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए है। उन्होने कहा है कि कोविड़-19 के मद्देनजर जिले में धारा 144 अंतर्गत लगाये गए प्रतिबंधो का कड़ाई से पालन कराया जाये तथा कोरोना वायरस संक्रमण फैलाव को रोकने निर्धारित प्रोटोकाल का पालन सभी सुनिष्चित करें।  

कलेक्टर ने किया सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का औचक निरीक्षण, टीकाकरण के लिए आने वाले लोगों को न हो कोई परेशान-कलेक्टर
 
sehore news
बुधनी स्थित सामुदायिक स्वाथ्य केन्द्र का कलेक्टर अजय गुप्ता ने औचक निरीक्षण किया। उन्होने इस दौरान स्वास्थ्य केन्द्र की व्यवस्थाओं का निरीक्षण करते हुए कहा कि कोविड टीकाकरण में टीका लगवाने आने वाले लोगों को कोइ परेशानी न हो। साथ ही टीकाकरण का कार्य पूरी गंभीरता से किया जाए। कलेक्टर ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के स्टोर रूम सहित अन्य कक्षों का निरीक्षण किया ।  स्वास्थ्य केन्द्र में टीकाकरण के लिए आने वाले सभी नागरिकों से कलेक्टर ने कहा कि वे अपने आस पास के लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करें और उन्हें बतांए कि काविड टीकाकरण के कोई साइड-इफेक्ट्स नही हैं। इसके अलावा स्वास्थ्य केन्द्र द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर ढंग से संचालित की जाएं ताकि अस्पताल में आने वाले मरीजों को तुरंत उपचार व दवाएं मिल सकें।

न्यायिक अधिकारी, अधिवक्ता तथा न्यायिक कर्मचारियों को वैक्सीन लगवाने शिविर हुआ आयोजित

जिला न्यायालय में आयोजित विधिक साक्षरता शिविर में न्यायिक अधिकारी, अधिवक्ता तथा न्यायिक कर्मचारियों को वेक्सीन के टीकाकरण के लिए जागरूक किया गया। जिला न्यायाधीश श्री राजवर्धन गुप्ता, सचिव विधिक सेवा प्राधिकरण श्री नागोत्रा तथा सीएमएचओ डॉ सुधीर कुमार डेहरिया ने जानकारी दी कि कोविड का टीका लगवाने से किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं होती है। 45 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों को कोविड का टीका लगना प्रारंभ हो गया है । श्री गुप्ता ने कोविड वैक्सीनेशन सेंटर में कोरोना वायरस के वेक्सीनेशन कार्य का जायजा लिया।  उन्होने वेक्सीनेशन के कार्य में लगी डॉक्टर्स की टीम की सराहना की । शिविर में उपस्थित 45 वर्ष से अधिक उम्र के अधिकारी,अधिवक्ता तथा न्यायिक कर्मचारियों ने कोविड का टीका लगवाया ।

किसान मंच बनाकर सुनिश्चित करेंगे किसान कल्याण : मुख्यमंत्री श्री चौहान
  • शुद्धिकरण सप्ताह में होगा प्रावधानों और नियमों में जरूरी संशोधन का कार्य 
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि राजस्व विभाग सहित किसानों से संबंधित अन्य विभागों की व्यवस्थाओं में आवश्यक सुधार के लिए शुद्धिकरण सप्ताह के अंतर्गत संशोधन कार्य आरंभ होगा। किसान मंच बनाकर संवाद और चर्चा के माध्यम से किसानों के कल्याण कार्यों को और बेहतर ढंग से पूरा किया जायेगा। कृषकों को विभिन्न योजनाओं से लाभान्वित करने के कार्य निरंतर जारी रहेंगे। कोरोना से बचाव में भी किसानों का सहयोग लिया जायेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज शिवाजी नगर में भारतीय किसान संघ द्वारा आयोजित किसान संवाद कार्यक्रम एवं सम्मान समारोह को संबोधित कर रहे थे।

प्राप्त सम्मान का मान रखूंगा
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि भारतीय किसान संघ ने आज किसान मित्र सम्मान दिया है, जिसके लिए संघ का आभारी हूँ। किसान संघ से मिले इस सम्मान का सदैव मान रखूंगा। मध्यप्रदेश के परिश्रमिक किसानों ने रिकार्ड गेहूँ उत्पादन कर मध्यप्रदेश को उपार्जन में पंजाब से आगे बढ़कर पहले स्थान पर लाने का कार्य किया है। भारतीय किसान संघ के देश में 500 से अधिक शाखायें हैं। संघ के अखिल भारतीय संगठन मंत्री यहां उपस्थित हैं, जो इस संगठन को किसान वर्ग की वास्तविक समस्याओं के समाधान का माध्यम बनाने का कार्य कर रहे हैं।

किसानों को दी 89 हजार करोड़ की राशि
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि गत वर्ष जब कोरोना का संकट शुरू हुआ और उन्होंने मुख्यमंत्री का पदभार संभाला, तब किसानों की अनेक समस्याएं लंबित थीं। सबसे पहले फसल बीमा योजना का 2200 करोड़ का प्रीमियम राज्य सरकार द्वारा जमा किया गया, जो पूर्व सरकार ने जमा नहीं किया था। इस राशि के जमा करने के फलस्वरूप 3200 करोड़ रूपये की राशि प्राप्त हुई। एक वर्ष में 8699 करोड़ रूपये की बीमा राशि किसानों के खाते में जमा की गई। इसके अलावा 100 करोड़ रूपये उद्यानिकी फसलों के बीमा के भी जमा किये गये। सभी मिलाकर विभिन्न योजनाओं में किसानों को 89 हजार करोड़ रूपये की राशि दी गई है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के 6 हजार रूपये में मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के 4 हजार रूपये मिलाकर प्रदेश के प्रत्येक पंजीकृत किसान को साल में 10 हजार रूपये की राशि प्रदान करने का कार्य किया गया। शून्य प्रतिशत ब्याज पर ऋण की व्यवस्था की गई। आगे भी आवश्यक राशि की व्यवस्था कर किसान कल्याण योजनाओं को लागू किया जायेगा।

'एक जिला एक उत्पाद योजना' में किसान सहयोग करें
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा किएक जिला एक उत्पाद योजनामें भी किसान सहयोग करें। आलू, मटर, टमाटर, केला आदि का विपुल उत्पादन करने वाले जिले उत्पादों को एक्सपोर्ट के काबिल बनाएं। प्रोसेसिंग यूनिट भी किसानों द्वारा लगाई जाए। इन्हें राज्य सरकार अधिकतम सहयोग करेगी। एफपीओ (FPO) के माध्यम से भी किसान भागीदारी करें। इन संगठनों को राज्य सरकार का पूरा सहयोग प्राप्त होगा।

कम पानी में सिंचाई का लाभ लें
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश की सिंचाई का रकबा साढ़े सात लाख हेक्टेयर से बढाकर 41 लाख हेक्टेयर के पार किया गया। इसे 65 लाख हेक्टेयर तक बढ़ाने के लिए हम संकल्पित हैं। अप्रैल और मई माह में जल संरचनाओं के विकास का कार्य होगा। पानी की एक-एक बूँद बचाने के लिए किसान वर्ग का सहयोग चाहिए। हम स्प्रिंकलर सिंचाई को भी बढ़ाएंगे। कम पानी में सिंचाई का कार्य हो जाए, इस दिशा में पाइप के माध्यम से और अन्य वैकल्पिक माध्यमों से सिंचाई कार्य को विस्तार देंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि गेहूँ और धान के अलावा अन्य फसलों को भी साथ में उगाने के संबंध में किसान वर्ग पहल करे। कैश क्राप लेकर किसान अधिक लाभ अर्जित करें। जैविक कृषि के अलावा अन्य मॉडल अपनाये जा सकते हैं।

टीका लगवाएं किसान बंधु
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि किसान बंधु कोरोना से बचाव के लिए सावधानियां रखें। टीका अवश्य लगवाएं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मुझे वैक्सिनेशन कार्य में किसान संघ का सहयोग चाहिए। 45 वर्ष से अधिक आयु के नागरिक कोरोना से बचाव का टीका अवश्य लगवाएं क्योंकि यह वैक्सीन शारीरिक क्षमता को बढ़ाने में सहयोगी है। इसके साथ ही संक्रमण से बचाव के लिए सभी को सजग रहना है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि भारतीय किसान संघ द्वारा प्राप्त सुझावों पर विचार कर उन्हें किसान हित में लागू किया जायेगा। कार्यक्रम में भारतीय किसान संघ के अनेक पदाधिकारी और सदस्य उपस्थित थे।

अब 08 मई को आयोजित होगी नेशनल लोक अदालत

मप्र राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा 10 अप्रैल को आयोजित की जाने वाली नेशनल लोक अदालत की तिथि में न्यायिक अधिकारियों के स्थानांतरण एवं कोविड-19 बढ़ते प्रकोप में प्री-सिटिंग निर्धारित करने में बाधाओं को दृष्टिगत रखते हुए परिवर्तन किया गया है। अब 10 अप्रैल के स्थान पर 08 मई को जिला न्यायालय सहित तहसील न्यायालयों में नेशनल लोक अदालत आयोजित की जाएगी।

पावर ट्रांसमिशन कंपनी ने लक्ष्य से अधिक बनाये बिजली उपकेंद्र

मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी ने कोरोना महामारी जैसी विपरीत परिस्थितियों में भी वित्तीय वर्ष 2020- 21 में दिए गए लक्ष्य से अधिक कार्य पूरा किया है। कंपनी के समक्ष वर्ष 2020- 21 में 16 विद्युत उपकेंद्र निर्माण का लक्ष्य था। कंपनी ने 16 के स्थान पर  25 उपकेंद्रों  का निर्माण पूरा कर उन्हें ऊर्जीकृत किया। ऊर्जा मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने इस उपलब्धि पर कंपनी के अधिकारियों और कर्मचारियों को बधाई दी है। इसके साथ ही  मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी को वर्ष 2020- 21 में 1500 सर्किट किलोमीटर अति उच्च दाब लाइनों के निर्माण का लक्ष्य दिया गया था।  कंपनी ने इस लक्ष्य को पूरा करने के साथ ही कुल 2100 सर्किट किलोमीटर विद्युत लाइनों का निर्माण पूरा किया है। 

आदिवासी खिलाड़ियों के दैनिक भत्ते की दरों में संशोधन किया गया

जनजातीय कार्य विभाग ने वर्ष 2021-22 में विभागीय गतिविधियों के सुचारू संचालन के लिये दैनिक भत्ते-भोजन की दरों में संशोधन किया है। जिला एवं संभागीय स्तर की प्रतियोगिताओं में सहभागिता करने वाले खिलाडि़यों को 115 रूपये दैनिक भत्ता, विभागीय राज्य एवं शालेय शिक्षा स्तर प्रतियोगिता में सहभागिता करने वाले खिलाडि़यों को 130 रूपये और प्री-नेशनल कोचिंग केम्प में सहभागिता करने वाले खिलाड़ी को 200 रूपये दैनिक भत्ते की दर मंजूर की है। इस संबंध में जनजातीय कार्य विभाग द्वारा आदेश जारी कर दिये गये हैं।

राष्ट्रीय प्रवेश परीक्षाओं के लिए मिलेगी कोचिंग, आकांक्षा योजना - आवेदन की अंतिम तिथि 07 अप्रैल

आकांक्षा योजना के अंतर्गत मध्यप्रदेश के मूल निवासी अनुसूचित जनजाति वर्ग के छात्र-छात्राओं को, जिन्होंने कक्षा 10 वीं में 60 प्रतिशत या उससे अधिक अंक प्राप्त किये हो, उन्हें कक्षा 11 वीं एवं 12 वीं में अध्ययनरत रहमे हुए राष्ट्रीय प्रवेश परीक्षा जेईई, एनईईटी, एआईएमएस, सीएलएटी की तैयारी के लिए प्रदेश के चार संभागीय मुख्यालयों जबलपुर, इंदौर, भोपाल एवं ग्वालियर में द्विवर्षीय कोचिंग प्रदान की जाती है। आकांक्षा योजना में कोचिंग के लिए छात्र-छात्राओं का चयन परीक्षा के माध्यम से किया जाता है। सत्र 2021-22 की आकांक्षा योजना की चयन परीक्षा के लिए पूर्व में आवेदन की अंतिम तिथि 31 मार्च से बढ़ाकर 07 अप्रैल 2021 कर दी गई है। चयन परीक्षा के लिए MPTAAS पोर्टल पर 07 अप्रैल 2021 तक आवेदन किया जा सकता है।

अगली कक्षा में प्रमोट करने की अंतिम तिथि 15 और फीस भरने की 20 अप्रैल

समस्त शासकीय, अनुदान प्राप्त अशासकीय एवं निजी अशासकीय महाविद्यालयों द्वारा विद्यार्थी की अर्हता का परीक्षण कर स्नातक द्वितीय व तृतीय वर्ष तथा स्नातकोत्तर तृतीय सेमेस्टर के लिए संबंधित विश्वविद्यालय के पोर्टल पर प्रमोट बाक्स पर क्लिक कर विद्यार्थी को अगली कक्षा में प्रावधिक प्रवेश के लिए प्रमोट करने के निर्देश जारी किए गए थे। नवीनीकरण के लिए प्रमोट करने की तिथि में एक बार पुनः वृद्धि करते हुए 15 अप्रैल निर्धारित की गई है। विद्यार्थी 20 अप्रैल तक ऑनलाइन शुल्क जमा करने की कार्यवाही कर सकते हैं।

आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश की संजीवनी बनेगा प्रदेश का पर्यटन

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के संकल्प और साहसी निर्णयों ने आज मध्यप्रदेश को विकासशील राज्य की अग्रिम पंक्ति में लाकर खड़ा किया है। उनके प्रयासों और संकल्प से आज पर्यटन क्षेत्र आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश की संजीवनी के रूप में उभरा है। यह कहना अतिशयोक्ति नहीं होगी कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान और मध्यप्रदेश एक दूसरे के पूरक है। नैसर्गिक प्राकृतिक सौंदर्य और अद्भुत स्थापत्य कला के धनी मध्यप्रदेश का गौरवशाली इतिहास और समृद्ध संस्कृति पूरे भारत में अद्वितीय है। जिस तरह हीरे की असली परख जौहरी को ही होती है उसी तरह मध्यप्रदेश में पर्यटन के क्षेत्र में रोजगार और विकास की असीम संभावनाओं को तलाशने का हुनर मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान में ही है। उन्होंने न सिर्फ प्रदेश के नैसर्गिक और लुभावने स्थलों को पर्यटन के लिए विकसित किया बल्कि स्थानीय स्तर पर रोजगार के अवसर भी पैदा किए। अब पर्यटन सिर्फ मनोरंजन नहीं रहा बल्कि रोजगार, स्थानीय संस्कृति और खान-पान, कला और स्थापत्य कला का केंद्र-बिंदु भी बनके उभरा है।

कोरोना काल में भी हुए नवाचार
मुख्यमंत्री श्री चौहान के निर्देशन में पर्यटन विभाग ने कोविड के बाद की परिस्थितियों के अवसरों को तलशाना जारी रखा। नित नए प्रयासों और नवाचारों से मध्यप्रदेश में पर्यटन की संभावनाओं को ढूंढने के उद्देश्य को लेकर सतत प्रयास किया। पर्यटन के प्रमुख क्षेत्र वाइल्ड लाइफ टूरिज्म, हेरिटेज टूरिज्म, लेइश्यरू टूरिज्म और पिलग्रिमेज टूरिज्म की सभी संभावनाओं को विकसित किया गया। सभी उम्र के व्यक्तियों की रुचियों को ध्यान में रखकर गतिविधियाँ आयोजित की गई। रूरल टूरिज्म, हेरिटेज वॉक, इंस्टाग्राम मांडू टूर, साइकिल टूर, आर्ट एंड क्राफ्ट बाजार, म्यूजिकल कंसर्ट और फूड बाजार जैसे नवाचार किये गये।

एडवेंचर टूरिज्म का हॉटस्पॉट मध्यप्रदेश
मध्यप्रदेश एडवेंचर टूरिज्म का हॉटस्पॉट बनके उभरा है। यहाँ का प्राकृतिक सौंदर्य और मनभावन वातावरण अनायास ही ट्रेकिंग, सफारी और कैंपिंग के शौकीनों को आकर्षित करता है। एडवेंचर टूरिज्म की इन्हीं संभावनाओं को देखते हुए पर्यटन विभाग ने प्रदेशभर में 30 से ज्यादा कैंपिंग साइट विकसित किए गए हैं। पर्यटकों के हॉलिडे को 'एक्टिव हॉलिडे' में परिवर्तित करते हुए टूर-डे सतपुड़ा, हेरिटेज रन, पचमढ़ी मॉनसून मैराथन जैसे कार्यक्रमों की श्रृंखला शुरू की गई है। बांधवगढ़ राष्ट्रीय उद्यान में बैलून सफारी, टाइग्रेस ऑन ट्रेल और भोपाल में प्रदेश के पहले ड्राइव इन सिनेमा की स्थापना आदि प्रमुख नवाचार रहे हैं। वर्तमान में भी मध्यप्रदेश को '365 डेज का टूरिस्ट डेस्टिनेशन' बनाने का संकल्प लेकर सतत प्रयास किये जा रहे हैं। वार्षिक आयोजनों की श्रृंखला में 5 जल महोत्सवों और ओरछा महोत्सव का आयोजन किया गया है। वेब सीरीज पंचायत, गुल्लक और धाकड़ के फिल्मांकन से मध्यप्रदेश में पर्यटन के क्षेत्र में रोजगार के अवसर बढ़े हैं। इसी दिशा में 'ग्रामीण पर्यटन' की संकल्पना पर वैल्यू फॉर मनी डेस्टिनेशन के विकास कार्य में स्थानीय लोगों को भागीदार बनाया जाएगा। इससे क्षेत्र विशेष की संस्कृति और धरोहर से पर्यटक परिचित हो सकेंगे।

वैलनेस एंड माइंडफुल टूरिज्म
मध्यप्रदेश को 'वैलनेस एंड माइंडफुल टूरिज्म' के केंद्र के रूप में विकसित करने की दिशा में भी निरंतर प्रयास जारी है। इसमें पर्यटकों को पर्यटन के साथ योग, ध्यान और नेचुरोपैथी आदि से जोड़ा जाएगा। साथ ही 'आस-पास टूरिज्म' की अवधारणा पर पड़ोसी राज्य के पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए छोटी अवधि के टूर प्लान बनाए गए हैं। इससे पर्यटक अपने वीकेंड का प्लान मध्यप्रदेश में कर सकेंगे। इन छोटे-छोटे टूरिस्ट पैकेज से मध्यप्रदेश में पर्यटकों का निरंतर आवागमन भी बना रहेगा और इस आवागमन से आस-पास के क्षेत्र में आर्थिक गतिविधियाँ भी बढ़ेंगी।

पर्यटन-संस्कृति का बेजोड़ संगम और मध्यप्रदेश
प्रदेश में कोरोना संक्रमण से उपजे अवसाद और तनाव के समय में प्रदेशवासियों को राहत देते हुए इस साल पर्यटन विभाग ने उत्सवों का आयोजन किया। इन उत्सवों में पर्यटन और संस्कृति का बेजोड़ संगम देखने को मिला। पर्यटकों ने न सिर्फ स्थान विशेष के नैसर्गिक सौंदर्य को निहारा बल्कि क्षेत्र विशेष की स्थानीय संस्कृति और खान-पान से भी परिचित हुए। नव वर्ष के शुभारंभ के साथ ही मशहूर प्राचीन शहर मांडू में 13-15 फरवरी को 'मांडू फेस्टिवल' और विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल खजुराहो में 20 -26 फरवरी 2021 तक 47वां खजुराहो नृत्य समारोह किया गया। भारतीय शास्त्रीय नृत्य शैलियों पर केन्द्रित देश का शीर्षस्थ समारोह 'खजुराहो नृत्य समारोह' राष्ट्रीय तथा अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर ख्यातिप्राप्त है। इसमें देश एवं विश्व के विख्यात कलाकार अपनी नृत्य प्रस्तुतियाँ देते हैं। इसी तरह प्राचीन शहर मांडू में मांडू फेस्टिवल के दौरान ऐतिहासिक शहर के अनेक रोचक पहलु से पर्यटकों को अवगत कराया गया। उत्सव के दौरान कबीर कैफे, मुक्ति म्यूजिक बैंड और स्थानीय कलाकारों ने अपनी मनमोहक प्रस्तुतियों से दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया। प्रातःकालीन योग सत्र, हेरिटेज वॉक्स, साइकिलिंग टूर, स्टोरी टेलिंग, ट्रेजर हंट, फोटो प्रतियोगिता जैसी रोचक गतिविधियों में हिस्सा लेने के साथ स्थानीय संस्कृति, कला और स्थानीय व्यंजनों के स्वाद से भी पर्यटक परिचित हुए।  प्रयास यह है कि पर्यटकों को कोई असुविधा नहीं हो और वे मध्यप्रदेश से अविस्मरणीय अनुभवों को अपने साथ ले जाए। प्रदेश की संस्कृति भी पर्यटन का प्रमुख आधार है। पर्यटन के साथ-साथ क्षेत्र विशेष की संस्कृति, धरोहरों, परंपराओं, रीति-रिवाजों और खान-पान से भी पर्यटकों को अवगत कराया जा रहा है। मध्य प्रदेश ने न केवल अपने प्राचीन सुंदर रूप को सालों पहले सा बनाए रखा है, बल्कि इस समय के यात्रियों के लिए भी यह एक लुभावना गंतव्य है। पहाड़, जंगल, नदियाँ, समृद्ध विरासत, रोमांचक वन्य-जीवन और सांस्कृतिक विविधता से सजी मध्यप्रदेश की प्राकृतिक रचना, इसे वैभवशाली भूमि बनाती है। इस गौरवशाली और अद्भुत धरोहर और संस्कृति को सहेजने और पर्यटकों के लिए सुलभ बनाने के लिए पर्यटन विभाग सतत प्रयासरत है।

जिले में रोको-टोको अभियान प्रभावी ढंग से चलाने के कलेक्टर ने  दिये निर्देश

sehore news
तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने जिले में रोको-टोको अभियान प्रभावी ढंग से चलाने के सभी राज्सव एवं पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिये हैं। उन्होने कहा कि लगातार चेकिंग की जाये तथा बिना मास्क लगाये लोगों पर फाइन लगाया जाए। इसके साथ ही उन्होने कहा कि कोरोना से बचने के लिए लोगों को जागरूक भी किया जाए। कलेक्टर ने सभी नागरिकों से मास्क लगाने तथा कोरोना गाईडलाईन का पालन कर कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने में सहयोग की अपील की है। उन्होने सभी जनप्रतिनिधियों और समाज सेवियों से भी कोरोना को रोकने में सहयोग करने की अपील की है। कलेक्टर ने सभी लोगों से हाथ सेनेटाइज करने या लगातार साबुन से धोते रहने की अपील की है।  मास्क लगाने और हाथ धोते रहने से स्वंय भी सुरक्षित रहेंगे और समाज को भी सुरक्षित रखेंगे। जिले में सभी राजस्व एवं पुलिस अधिकारियों द्वारा कोविड-19 के संक्रमण को रोकने के लिए सतत वाहनों की चेकिंग की जा रही है तथा बिना मास्क पहनें लोगों के विरूद्ध चालानी कार्यवाही की जा रही है। जिले के कई नगरो-कस्बों में राजस्व पुलिस एवं नगरीय निकायों द्वारा माईक से अनाउंसमेंट कराकर लोगों को आगाह किया जा रहा है और उन्हें मास्क लगाने के लिए कहा जा रहा है।

"आयुष्मान आपके द्वार" योजनान्तर्गत 30 अप्रेल तक बनेंगे आयुष्मान कार्ड, कलेक्टर ने संबंधित अधिकारियों को लक्ष्य के अनुरूप आयुष्मान कार्ड बनाने के दिये निर्देश 

आयुष्मान भारत "निरामय मध्यप्रदेश" का लाभ सभी पात्र हितग्राहियों तक पहुंचाने के  उद्देश्य से शासन द्वारा "आयुष्मान आपके द्वार" अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के दौरान आवंटित लक्ष्य सभी जिले प्राप्त कर सकें इसके लिए इस अभियान को 30 अप्रेल तक बढ़ाया गया है। कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने जिले के समस्त एसडीएम तथा मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को "आपके द्वार-आयुष्मान" अभियान की निरंतर समीक्षा करने तथा सभी पात्र हितग्राहियों के आयुष्मान कार्ड बनाया जाना  सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं।

जिले में 18 व्यक्ति कोरोना पाजिटिव मिले, वर्तमान में कोरोना एक्टिव-पॉजीटिव की संख्या 203

पिछले 24 घंटे के दौरान 18 व्यक्ति कोरोना पॉजीटिव मिले। इनमें सीहोर शहर के 12 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। यह उन्नीस  व्यक्ति सीहोर के लोधी मोहल्ला गंज, गंगा आश्रम, वार्ड नंबंर 15, लुनिया चौराहा, दांगी स्टेट, राजा का बाग, चर्च रोड सीहोर, रेल्वे स्टेशन रोड, वार्ड नंबर 06 से संक्रमित पाये गये । इसी तरह नसरूल्लागंज के दुर्गा मंदिर मार्ग से 02, आष्टा के सिविल अस्पताल क्षेत्र, ग्राम सेवदा तथा शांतिनगर से 03 तथा श्यामपुर के निपानिया से 01  व्यक्ति की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव प्राप्त हुई है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि वर्तमान में जिले में एक्टिव-पॉजिटिव की संख्या 203 है।  आज 21 व्यक्ति रिकवर हुए। अब तक कुल रिकवर की संख्या 2896  है। 48 संक्रमितों की उपचार के दौरान मृत्यु हुई है। आज 400 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 125,  नसरूल्लागंज विकासखण्ड से 10 , आष्टा विकास खण्ड  से 129, इछावर विकासखण्ड से 45, श्यामपुर विकासखण्ड से 48,  बुदनी विकास खण्ड से 43 सैम्पल लिए गए है । जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 3147 है जिसमें से 48 की मृत्यु हो चुकी है 2896 स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो गए है। तथा वर्तमान में एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 203 है। आज 400 सैंपल जांच हेतु लिए गए। कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 84498  हैं जिनमें से 79676 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। आज 145 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 1604 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है। जिले मे जो व्यक्ति होम क्वारन्टाईन में हैं उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 कॉल सेंटर स्थापित किया गया है। जिसका संपर्क नंबर- 07562-226470 है। 1075 नंबर पर कॉल कर जानकारी ली जा सकती है। जिला स्तर पर मोबाइल नंबंर 9425400273, 9425400453, 9479595519 पर कॉल सेंटर पर संपर्क किया जा सकता है। राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर कॉल करके भी टेलीमेडिसिन  सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। होम क्वारन्टाईन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाईन नंबंर 18002330175 जारी किया गया है। होम क्वारन्टाईन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साइकॉलाजीकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से नि:शुल्क प्राप्त कर सकते हैं। 

10 अप्रैल को नेशनल लोक अदालत का अयोजन, लोकअदालत में निराकरण से आपसी सद्भाव बढ़ता है और कटुता दूर होती है

राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली तथा राज्य सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार 10 अप्रेल को पूरे प्रदेश में नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया गया है। नेशनल लोक अदालत जिला सीहोर एवं तहसील न्यायालय आष्टा, नसरूल्लागंज, बुधनी तथा इछावर में आयोजित की गई है। यह लोक अदालत इस साल की पहली लोक अदालत है। इस लोक अदालत में  एनआई एक्ट धारा 138, बैंक रिकवरी प्रकरण, विद्युत, जलकर, एवं संपत्ति कर के प्रकरण, प्री लिटीगेशन प्रकरण तथा न्यायालय में लंबित राजीनामा योग्य प्रकरण जिसमें अपराधिक शमनीय प्रकरण, 138 परक्राम्य लिखित अधिनियम, हिन्दू विवाह अधिनियम के अंतर्गत राजीनामा योग्य प्रकरण, भूमि अधिग्रहण, सर्विस मेटर से संबंधित व अन्य सिविल प्रकरण आदि रखे जायेंगे। नेशनल लोक अदालत में रखे गये प्रकरणों का निराकरण आपसी राजीनामा के अधार पर सोहार्दपूर्ण वातावरण में किया जायेगा। जिला जज एवं अध्यक्ष श्री राज्यवर्धनर गुप्ता ने कहा कि लोक अदालत में प्रकरणों के निराकरण से समय,श्रम और पैसा भी है।आपसी सद्भाव बढ़ता है और कटुता दूर होती है। कोइ भी पक्षकार हारता नहीं है, दोनों ही पक्षकारों की जीत होती है। लोक अदालत में न्याय शुल्क वापस हो जाता है। लोक अदालत का आदेश, निर्णय अंतिम होता है। इस आदेश के विरूद्ध अपील नहीं होती। लोक अदालत पक्षकारों के माध्य विवाद हमेशा के लिए समाप्त हो जाता है। उन्होने लोक अदालत में अधिक से अधिक प्रकरण लोकअदालत में रखे जाने की अपील की है।

कोई टिप्पणी नहीं: