विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 03 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 3 अप्रैल 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 03 अप्रैल

विद्युत उपकेन्द्र का वर्चुअल लोकार्पण हुआ 


vidisha news
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज भोपाल के मिंटो हाल से ग्यारसपुर के ग्राम सुआखेडी में नवनिर्मित 132/33 केव्ही उपकेन्द्र का वर्चुअल लोकार्पण किया। ग्राम सुआखेडी में आयोजित कार्यक्रम में शामिल जिला पंचायत अध्यक्ष श्री तोरण सिंह दांगी ने पटिटका का अनावरण किया। गौरतलब हो कि इस परियोजना की कुल लागत 41.082 करोड़ है जिसमें 132 केव्ही उपकेन्द्र की लागत 15.112 करोड़, लाइन की लागत 24.907 करोड़ और 132 केव्ही फीडर बे की लागत 1.063 करोड़ शामिल है। उपकेन्द्र का वोल्टेज स्तर 132/33 केव्ही है। उपकेन्द्र की क्षमता 50 एमव्हीए है।  उपकेन्द्र से जुडने वाली लाइनों तहत 132 केव्ही गंजबासौदा ग्यारसपुर लाइन लम्बाई 37.300 किमी है उपकेन्द्र से निकलने वाली 33केव्ही लाइन घोसुआ फीडर, ग्यारसपुर फीडर, मानोरा फीडर व सीहोर फीडर शामिल है। 

उपकेन्द्र से लाभांवित 

वर्तमान में यह क्षेत्र 220 केव्ही विदिशा उपकेन्द्र से संबंधित है। इस नए उप केन्द्र के बनने से 33 केव्ही लाइन की लम्बाई कम होगी। लाइन पर ओवर लोडिंग कम होगा एवं फाल्ट होने की दशा मे तत्काल व त्वरित रूप से फाल्ट का निराकरण किया जा सकेगा। लाइन की लम्बाई कम होने के कारण क्षेत्र में पर्याप्त वोल्टेज के साथ उच्च गुणवत्ता की विद्युत प्रदाय की जा सकेगी। इस उपकेन्द्र से 50 एमव्हीए की अतिरिक्त विद्युत क्षमता बढेगी जिस कारण नए कनेक्शन देने में एवं क्षेत्र के विकास में सहायता मिलेगी। उपकेन्द्र के निर्माण होने से विदिशा जिले के 111 गांव लाभांवित होंगे। 


कोरोना संक्रमण के नियंत्रण हेतु स्थानीय रणनीति तय करें


vidisha news
श्रम एवं सहकारिता विभाग के प्रमुख सचिव तथा जिले के प्रभारी सचिव श्री उमाकांत उमराव ने आज विदिशा जिले में कोरोना संक्रमण के नियंत्रण हेतु किए गए नवाचारो की साथ-साथ संक्रमित व्यक्तियों के इलाज, होम आइसोलेशन के लिए किए गए प्रबंधो की समीक्षा की है। नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में आयोजित उक्त बैठक में कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने जिले में कोरोना संक्रमण के लिए किए गए प्रबंधो के साथ-साथ नवाचारो की जानकारियों से प्रभारी सचिव को अवगत कराया है। कलेक्टर डॉ जैन ने जिले में क्रियान्वित ग्रीन पास, माइक्रो कंटेनमेंट जोन, होम आइसोलेशन और होम कोरोन्टाइन के अलावा महाराष्ट्र सहित अन्य राज्यों से आने वालो की जानकारियां संकलित कर उनके स्वास्थ्य पर नजर रखने के प्रबंध सुनिश्चित किए गए है।  प्रमुख सचिव श्री उमराव ने विदिशा जिले में कोरोना के बढते संक्रमण की केसहिस्ट्री को रेखांकित करते हुए कहा कि कोरोना की द्वितीय बेव का असर परिवार के सभी सदस्यों पर कही-कही हुआ है। उन्होंने पूरे केसो की हिस्ट्री के उपरांत तीन बिन्दुओं पर बल देते हुए कहा कि विदिशा जिले से बाहर जाने वाले और आने वाले उक्त दोनो प्रकारो में संबंधित परिवार के व्यक्ति किस प्रकार से सावधानी बरते ताकि परिवार का कोई भी व्यक्ति संक्रमित ना हो सकें। इसी प्रकार काम करने वाले तथा भ्रमण पर जाने वालो की जानकारी निकाय क्षेत्रों में नगरपालिका के अमले के माध्यम से संकलित की जाए। उन्होंने ऐसे क्षेत्र जहां के रहवासी भ्रमण पर गए है उन क्षेत्रों के नागरिको व परिवारजनों को कोरोना संक्रमण के बचाव उपायों से अवगत कराने हेतु जनजागरूकता संबंधी कार्यक्रमों का आयोजन किया जाए जिसमें कचरा संग्रह करने वाले वाहनो में लगे ध्वनि विस्तारक यंत्रो के माध्यम से संदेश देने के प्रबंध सुनिश्चित किए जाएं।  अधिक दिनो के भ्रमण पर जाने वाले व्यक्तियों की पूरी जानकारी संकलित की जाए और इस प्रकार के लोग भ्रमण उपरांत घर आते है तब उन्हें होम कोरोन्टाइन के प्रबंध किए जाएं। यदि घर में जगह नही है तो किसी धर्मशाला अथवा अन्य उपयुक्त स्थलों पर ठहराने के प्रबंध सुनिश्चित किए जाए। उपरोक्त व्यक्तियों के लिए खाद्य सामग्री का वितरण सहित अन्य दैनिक वस्तुओं की आपूर्ति के संबंध में दिशा निर्देश उनके द्वारा दिए गए है। प्रमुख सचिव श्री उमाकांत उपराव ने मोहल्लो में खासकर कोरोना संक्रमित क्षेत्रों में जनजागृति संबंधी कार्यक्रमों का आयोजन कर बच्चों और महिलाओं को जागरूक करें कि कोरोना से कैसे बचाया जा सकता है। इस प्रकार के मोहल्लो में संचालित आंगनबाडी केन्द्रो और स्वास्थ्य विभाग के पदस्थ अमले की मदद से जानकारियां संकलित की जाएं। उन्होंने हर रोज आना जाना करने वालो के अलावा बस स्टेण्ड, रेल्वे स्टेशन पर सूचना संकलित करने हेतु पृथक से स्टॉल की व्यवस्थाएं क्रियान्वित करने की समझाईंश दी है।  प्रमुख सचिव श्री उमराव ने ऐसे व्यक्ति जिनका कोविड 19 वैक्सीन टीकाकरण हो चुका है वे अति आत्म विश्वास से लबरेज ना हो। उन्हें भी सावधानी बरतनी होगी और मास्क पहनना तथा सोशल डिस्टेन्सिग के नियमों का पालन करना अति आवश्यक होगा। ऐसे लोग जो बाहर गए अथवा जाएंगे की सूचना अडोस, पडौस में हो सकें इसके लिए बाहर जाने वालो के घरो  पर पोस्टर चस्पा कर सूचनाएं संप्रेषित करने का प्रयास करेंं।  कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने बताया कि 15 अपै्रल के उपरांत वैवाहिक कार्यक्रमों के आयोजनों में अनुमतियां देने हेतु संबंधित एसडीएम को अधिकृत किया गया है और ऐसे कार्यक्रमों के लिए अधिकतम पचास व्यक्तियों की अनुमति जारी गाइड लाइन अनुसार प्रदाय की जाएगी। ततसंबंध में जिले के समस्त एसडीएमो को वैवाहिक कार्यक्रमो की अनुमतियां प्रदाय पूर्व वैवाहिक कार्यक्रम में शामिल होने वाले पचास व्यक्तियों की नामदर्ज सूची प्राप्त की जाएगी। कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने बताया कि सब्जी मंडी में फुटकर सब्जियों का विक्रय करने वाले को पहले कोरोना वैक्सीन का टीका लगाएं फिर सब्जी की दुकान का संचालन करें। सब्जी विक्रेताओं के लिए मेडीकल कॉलेज में प्रातः ही टीकाकरण के प्रबंध सुनिश्चित किए जाएंगे ताकि सब्जी मंडी में आने वाले व्यक्तियों में कोरोना के संक्रमण को रोकने का कार्य हो सकें। उन्होंने जिले में प्रचार-प्रसार, जनजागरूकता के लिए क्रियान्वित कार्यो की भी जानकारी दी है। जिसमें खासकर मेरा मास्क मेरी सुरक्षा, सोशल डिस्टेन्सिग का पालन इत्यादि से अवगत कराया जा रहा है। नियमों की अवहेलना करने वालो के खिलाफ चालानी कार्यवाही की जा रही है।  उक्त समीक्षा बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री विनायक वर्मा, जिला पंचायत सीईओ श्रीमती नीतू माथुर, अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह के अलावा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार, सिविल सर्जन सह अधीक्षक तथा मेडीकल कॉलेज व जिला चिकित्सालय के चिकित्सकगण एवं विभिन्न प्रकोष्ठो के नोडल अधिकारी मौजूद थे।


कोविड केयर सेन्टर एवं कंटेनमेंट जोनो का जायजा 


vidisha news
श्रम एवं सहकारिता विभाग के प्रमुख सचिव तथा जिले के प्रभारी सचिव श्री उमाकांत उमराव ने आज अटल बिहारी वाजपेयी शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय में संचालित फीवर क्लीनिक में क्रियान्वित व्यवस्थाओं का जायजा लिया। यहां उन्होंने मौजूद चिकित्सक व नर्स स्टाफ से पूछताछ की कि किस प्रकार टेस्ट कराने के प्रबंध सुनिश्चित किए गए है। फीवर क्लीनिक में पंक्तिबद्व रो में शामिल मरीजो से भी उन्होंने संवाद कर जानकारियां प्राप्त की है।  प्रभारी सचिव श्री उमाकांत उमराव ने फीवर क्लीनिक में परीक्षण कराने हेतु आने वाले नागरिकों को बैठने के लिए गोले बनाने और उन पर स्टूल रखने के कार्य की भूरि-भूरि प्रशंसा की है। उन्होंने डिस्ट्रिक्ट कोविड कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेन्टर के माध्यम से की जा रही मानिटरिंग व्यवस्था का अवलोकन कर जानकारियां प्राप्त की है।  प्रमुख सचिव श्री उमाकांत उमराव ने मिनी कंटेनमेंट जोन क्षेत्र का भी भ्रमण कर कंटेनमेंट जोन में होम कोरोन्टाइन नागरिकों से उनके परिजन जो कोरोना से संक्रमित है और वे होम आइसोलेशन तहत घर के किसी एक कमरे में रहकर रोग से उपचारित हो रहे है। ऐसे व्यक्तियों के लिए घर के अन्य सदस्यों द्वारा कैसे संवाद किया जाता है खाने का सामान कैसे दिया जाता है। कपडे, बर्तन के संबंध में जानकारी प्राप्त की। जिले के प्रभारी सचिव श्री उमराव ने रायल सिटी, आज्ञाराम कालोनी, गांधीनगर क्षेत्र के मिनी कंटेनमेंट जोनो का अवलोकन किया है। भ्रमण के दौरान कलेक्टर डॉ पंकज जैन, एसडीएम श्री गोपाल सिंह वर्मा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार, मुख्य नगरपालिका अधिकारी श्री सुधीर सिंह के अलावा अन्य प्रकोष्ठो के नोडल अधिकारी साथ मौजूद रहें।


सड़क पर गंदगी करने वालो के खिलाफ कार्यवाही


vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने आज रंगई मंदिर से विवेकानंद चौराहे के बीच में सड़को पर गंदगी करने वालो के खिलाफ कार्यवाही करने के निर्देश दिए है और मौके पर जुर्माने की राशि वसूल की गई है। कलेक्टर डॉ जैन को आकाश टिफिन सेन्टर के बाजू में नाला में अनुपयोगी डिस्पोजलों से भरा पाया जाने पर संबंधित व्यवसायिक संस्थान के खिलाफ कार्यवाही करने एवं अतिक्रमण हटाने के निर्देश एसडीएम श्री गोपाल सिंह वर्मा को दिए है। कलेक्टर डॉ जैन ने संजय बिल्डर्स का टेंकर सड़क के किनारे पानी के दुरूपयोग कर सड़क पर फैलाएं जाने के कार्य को अतिगंभीरता से लेते हुए टेंकर को जप्त करने के निर्देश दिए है वही टेंकर के पास ही अनुपयोगी डिस्पोजलो को फैकने पर गणेश यादव से मौके पर साफ सफाई का कार्य कराया गया और निकाय अधिनियमों के तहत कार्यवाही करने के निर्देश मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को दिए है। 


नेशनल लोक अदालत अब आठ मई को आयोजित 


आगामी नेशनल लोक अदालत की तिथि में परिवर्तन किया गया है पूर्व में दस अपै्रल को आयोजित होनी थी जो अब आठ मई को आयोजित होगी।  जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री उपेन्द्र प्रताप सिंह ने बताया कि कोविड 19 के बढते प्रकोप के कारण लोक अदालत के लिए आवश्यक प्री-सीटिंग निर्धारित करने में बाधा उत्पन्न हो रही है जिसे दृष्टिगत रखते हुए मध्यप्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के नवीन निर्देशानुसार अब आठ मई को नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया गया है।   आठ मई को आयोजित होने वाली नेशनल लोक अदालत में राजीनामा योग्य, आपराधिक शमनीय प्रकरण, सिविल प्रकरण, धारा 138 के परक्राम्य लिखत अधिनियम, मोटर दुर्घटना, क्षतिपूर्ति दावा प्रकरण, वैवाहिक प्रकरण तलाक के मामलो को छोड़कर, भरण पोषण से संबंधित प्रकरण , बैंक रिकवरी संबंधी प्रकरण, भू-अर्जन प्रकरण, राजस्व प्रकरण तथा राजीनामा योग्य समस्त प्रकरण के प्रीलिटिगेशन प्रकरणो का आपसी राजीनामा के आधार पर निराकरण किया जाएगा। 


’आयुष्मान आपके द्वार योजनान्तर्गत 30 अप्रैल तक बनेंगे आयुष्मान कार्ड’

  • ’कलेक्टर ने संबंधित अधिकारियों को लक्ष्य के अनुरूप आयुष्मान कार्ड बनाने के दिये निर्देश’

आयुष्मान भारत निरामय मध्यप्रदेश का लाभ सभी पात्र हितग्राहियों तक पहुंचाने के  उद्देश्य से शासन द्वारा ष्आयुष्मान आपके द्वारष् अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के दौरान आवंटित लक्ष्य सभी जिले प्राप्त कर सकें इसके लिए इस अभियान को 30 अपै्रल तक बढ़ाया गया है। कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने जिले के समस्त एसडीएम तथा मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को आपके द्वार-आयुष्मान अभियान की निरंतर समीक्षा करने तथा सभी पात्र हितग्राहियों के आयुष्मान कार्ड बनाया जाना  सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं।


’फर्म्स एवं संस्थाओं के रजिस्ट्रेशन प्रस्ताव ई-साइन से ऑनलाइन प्रस्तुत होंगे’


रजिस्ट्रार, फर्म्स एवं संस्थाएँ के अन्तर्गत फर्म एवं संस्थाओं के प्रस्ताव पर अब ऑनलाइन ई-साइन की प्रक्रिया प्रारंभ की जा रही है। यह प्रक्रिया एक अप्रैल 2021 से लागू हो गई है। एक अप्रैल 2021 से उक्त ऑनलाइन आवेदनों की प्रक्रिया में आंशिक रूप से संशोधन किया गया है अब हार्ड कॉपी पर हस्ताक्षर करने के स्थान पर ऑनलाइन ई-साइन कर प्रस्तुत करने की प्रक्रिया प्रारंभ की जायेगी। ई-साइन से प्राप्त आवेदनों के आधार पर रजिस्ट्रेशन प्रमाण- पत्र ऑनलाइन जारी किया जायेगा। इस व्यवस्था से आवेदक रजिस्ट्रेशन प्रस्ताव अनुमोदन होने के पश्चात ई-साइन करके ऑनलाइन ही संबंधित क्षेत्र के अधिकारी को प्रस्तुत कर सकेंगे और कार्यालय में हस्ताक्षरित हार्ड कॉपी प्रस्तुत करने की अनिवार्यता समाप्त हो जायेगी। रजिस्ट्रार, फर्म्स एवं संस्थाएँ के अन्तर्गत वर्तमान में फर्म्स एवं संस्थाओं के रजिस्ट्रेशन के प्रस्ताव आवेदकों के द्वारा एम.पी. ऑनलाइन के माध्यम से प्रस्तुत किये जाते हैं। संबंधित क्षेत्र के अधिकारी द्वारा इन आवेदनों का अनुमोदन ऑनलाइन किया जाता है। इसके बाद अनुमोदित प्रतियों पर आवेदक द्वारा यथास्थान मूल हस्ताक्षरों सहित हार्ड कॉपी संबंधित कार्यालयों में प्रस्तुत करने पर संबंधित अधिकारी द्वारा ऑनलाइन प्रमाण-पत्र जारी किया जाता है।


आदिवासी खिलाड़ियों के दैनिक भत्ते की दरों में संशोधन किया गया’


जनजातीय कार्य विभाग ने वर्ष 2021-22 में विभागीय गतिविधियों के सुचारू संचालन के लिये दैनिक भत्ते-भोजन की दरों में संशोधन किया है। जिला एवं संभागीय स्तर की प्रतियोगिताओं में सहभागिता करने वाले खिलाडियों को 115 रूपये दैनिक भत्ता, विभागीय राज्य एवं शालेय शिक्षा स्तर प्रतियोगिता में सहभागिता करने वाले खिलाडियों को 130 रूपये और प्री-नेशनल कोचिंग केम्प में सहभागिता करने वाले खिलाड़ी को 200 रूपये दैनिक भत्ते की दर मंजूर की है। इस संबंध में जनजातीय कार्य विभाग द्वारा आदेश जारी कर दिये गये हैं।


’आकांक्षा योजना - आवेदन की अंतिम तिथि 07 अप्रैल’, ’राष्ट्रीय प्रवेश परीक्षाओं के लिए मिलेगी कोचिंग’

 

आकांक्षा योजना के अंतर्गत मध्यप्रदेश के मूल निवासी अनुसूचित जनजाति वर्ग के छात्र-छात्राओं को, जिन्होंने कक्षा 10 वीं में 60 प्रतिशत या उससे अधिक अंक प्राप्त किये हो, उन्हें कक्षा 11 वीं एवं 12 वीं में अध्ययनरत रहमे हुए राष्ट्रीय प्रवेश परीक्षा जेईई, एनईईटी, एआईएमएस, सीएलएटी की तैयारी के लिए प्रदेश के चार संभागीय मुख्यालयों जबलपुर, इंदौर, भोपाल एवं ग्वालियर में द्विवर्षीय कोचिंग प्रदान की जाती है। आकांक्षा योजना में कोचिंग के लिए छात्र-छात्राओं का चयन परीक्षा के माध्यम से किया जाता है। सत्र 2021-22 की आकांक्षा योजना की चयन परीक्षा के लिए पूर्व में आवेदन की अंतिम तिथि 31 मार्च से बढ़ाकर 07 अप्रैल 2021 कर दी गई है। चयन परीक्षा के लिए एमपीटॉस पोर्टल पर सात अप्रैल 2021 तक आवेदन किया जा सकता है।


’अगली कक्षा में प्रमोट करने की अंतिम तिथि 15 और फीस भरने की 20 अप्रैल’


समस्त शासकीय, अनुदान प्राप्त अशासकीय एवं निजी अशासकीय महाविद्यालयों द्वारा विद्यार्थी की अर्हता का परीक्षण कर स्नातक द्वितीय व तृतीय वर्ष तथा स्नातकोत्तर तृतीय सेमेस्टर के लिए संबंधित विश्वविद्यालय के पोर्टल पर प्रमोट बाक्स पर क्लिक कर विद्यार्थी को अगली कक्षा में प्रावधिक प्रवेश के लिए प्रमोट करने के निर्देश जारी किए गए थे। नवीनीकरण के लिए प्रमोट करने की तिथि में एक बार पुनः वृद्धि करते हुए 15 अप्रैल निर्धारित की गई है। विद्यार्थी 20 अप्रैल तक ऑनलाइन शुल्क जमा करने की कार्यवाही कर सकते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: