सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 09 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 9 अप्रैल 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 09 अप्रैल

 एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय चयन परीक्षा - 30 तक जमा होंगे आवेदन


एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय में शैक्षणिक पदों के लिये आवेदन-पत्र आमंत्रित किये गये है।उक्त संस्था द्वारा राज्यों से एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालयों (ईएमआरएस) के लिये शिक्षण स्टॉफ जैसे प्राचार्य (प्रिंसिपल), उप प्राचार्य (वाइस-प्रिंसिपल), पीजीटी और टीजीटी की भर्ती के लिये ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किये गये हैं। आवेदन 30 अप्रैल, 2021 तक जमा कराये जा सकते हैं। ईटीएसएसई 2021 के लिये ऑनलाइन आवेदन, शैक्षिक योग्यताएँ, शिक्षण अनुभव और अन्य पात्रता मानदण्ड आदि के संबंध में ब्योरे सूचना बुलेटिन https://recruitment.nta.nic.in पर उपलब्ध हैं।


दूर से अभिवादन करें, न किसी से हाथ मिलायें, न गले मिलें, कोविड संक्रमण से बचने मेरा आपका सुरक्षा कवच जरूरी


कोविड-19 संक्रमण के प्रभाव से बचने के लिए मास्क यानि मेरा आपका सुरक्षा कवच अपनाने के साथ ही दूर से अभिवादन करने और गले नही मिलने की नागरिकों से अपील की गई है। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिये सावधानियां रखना अतिआवश्यक है और कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिये हमें अपने व्यवहार में अनुकूल परिवर्तन लाना भी अति आवश्यक है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी सीहोर ने जनसामान्य से आग्रह किया कि वे बार-बार अपनी आंख नाक और मुंह को छूनें से बचें, दूर से अभिवादन करें न किसी से हाथ मिलायें, न गले मिलें, आपस में दो गज की दूरी जरूर रखें। घर से बाहर निकलने पर हमेशा मॉस्क पहनें। खांसते और छींकते समय अपने मुंह तथा नाक को ढंककर रखें। श्वसन संबंधी शिष्टाचार का पालन करें। बार-बार साबुन तथा पानी अथवा अल्कोहलयुक्त सेनीटाईजर से हाथों को धोयें। सार्वजनिक स्थानों पर न थूकें, तंबाकू गुटका खैनी पान आदि खाकर यहां-वहां न थूकें। बार-बार छुएं जाने वाली सतहों को नियमित रूप से विसंक्रमित करें। अनावश्यक यात्रा से बचें। कोरोना को लेकर किसी से भेदभाव न करें। अनावश्यक भीड़भाड़ इकट्ठा न होने दें। अफवाहों पर ध्यान न दें और सोशल मीडिया पर किसी भी अपुष्ट जानकारी को प्रसारित न करें। सूचना के भरोसेमंद स्त्रोतों से ही जानकारी लें। आपस में सभी एक दूसरे को मनोवैज्ञानिक रूप से सहयोग प्रदान करें।


संकट एवं परीक्षा की घड़ी है, पूरे धैर्य, संयम एवं आत्म-विश्वास से कार्य करें : मुख्यमंत्री श्री चौहान

  • जनता की सेवा में कोई कमी न छोड़ें, उपचार के लिए पर्याप्त बिस्तर, ऑक्सीजन एवं अन्य व्यवस्थाएँ हों
  • होम आइसोलेशन की हो पुख्ता व्यवस्था, मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा की

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। यह संकट एवं परीक्षा की घड़ी है, पूरे धैर्य, संयम एवं आत्म-विश्वास से कार्य करें। जनता की सेवा में कोई कमी न छोड़ें। कोरोना के उपचार के लिए अस्पतालों में पर्याप्त बिस्तर, ऑक्सीजन, दवाएँ, इंजेक्शन एवं अन्य सभी व्यवस्थाएँ हों। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि होम आइसोलेशन की पुख्ता व्यवस्था हो तथा जिन मरीजों को अस्पताल में भर्ती करने की आवश्यकता हो उन्हें ही अस्पताल में भर्ती किया जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, डीजीपी श्री विवेक जौहरी, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री मोहम्मद सुलेमान, अपर मुख्य सचिव गृह श्री राजेश राजोरा, अपर मुख्य सचिव श्री एस.एन. मिश्रा आदि उपस्थित थे।


11 से 14 अप्रैल तक टीका उत्सव

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आगामी 11 अप्रैल से 14 अप्रैल तक प्रदेश में टीका उत्सव मनाया जाए, जिसमें 45 वर्ष से अधिक उम्र के अधिक से अधिक व्यक्तियों का टीकाकरण किया जाए। हमारा यह प्रयास होना चाहिए कि कोरोना वैक्सीन का एक भी डोज़ वेस्ट न हो और लक्षित समूह का कोई व्यक्ति टीकाकरण से न छूटे।


लॉक डाउन के स्थान पर कोरोना कर्फ्यू

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि लॉकडाउन के स्थान पर कोरोना कर्फ्यू शब्द का प्रयोग किया जाए इससे लोगों में कोरोना के प्रति जागरूकता बढ़ेगी।


कोरोना के टेस्ट बढ़ाए जाएँ

मुख्यमंत्री चौहान ने निर्देश दिए कोरोना के टेस्ट बढ़ाए जाएँ। जल्दी जाँच हो जाने से समय पर उपचार हो जाता है तथा मृत्यु दर को न्यूनतम किया जा सकता है। जिलों में फीवर क्लीनिक्स की संख्या बढ़ाई जाये। कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट 24 घंटे में मिल जाये।


माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाये

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना नियंत्रण के लिये छोटे-छोटे कंटेनमेंट जोन बनाये जाये। जिलों की स्थिति अनुसार बड़े कंटेनमेंट जोन भी बनाये जा सकते हैं।


कमाण्ड एंड कंट्रोल सेन्टर प्रभावी हों

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि होम आइसोलेशन की मॉनीटरिंग के लिये हर जिले में कमाण्ड एंड कंट्रोल सेन्टर प्रभावी ढंग से काम करें। मरीज को दवाओं की किट चिकित्सकीय परामर्श के साथ ही कम से कम दिन में दो बार उससे बात भी की जाये। समय-समय पर वीडियो कॉलिंग भी करें।


बिस्तरों की उपलब्धता बतायें

जिलों में जनता को बिस्तरों की उपलब्धता भी प्रतिदिन बताई जायें। सी.एम. हेल्पलाईन नम्बर 181 तथा डिस्ट्रिक्ट कमाण्ड एंड कंट्रोल सेन्टर नम्बर 1075 पर सम्पर्क करने पर उन्हें बिस्तरों की उपलब्धता तथा अन्य जानकारी दी जाये। सार्थक पोर्टल पर भी यह जानकारी अंकित की जाये। सार्थक पोर्टल पर 184 निजी अस्पतालों की पैकेज रेट भी अपलोड किये जाये।


ऑक्सीजन संबंधी व्यवस्था के लिये राज्य-स्तरीय सैल

मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस ने बताया कि अस्पतालों में ऑक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने एक राज्य-स्तरीय सैल बनाया गया है, जिसके प्रभारी अपर मुख्य सचिव श्री एस.एन. मिश्रा हैं। बिस्तरों की संख्या तथा कोविड केयर सेन्टर्स की व्यवस्थाओं के संबंध में श्री नीरज मण्डलोई को राज्य स्तरीय नोडल अधिकारी बनाया गया है।


प्रधानमंत्री श्री मोदी की वी.सी. में मध्यप्रदेश की स्थिति बताई

इसके पूर्व प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मध्यप्रदेश की स्थिति बताते हुए कहा कि प्रदेश में कोरोना की ट्रेनिंग, टेस्टिंग, ट्रीटमेंट, टीकाकरण तथा टेंडेंसी बदलने का कार्य किया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान भारत में चलाया जा रहा है। भारत में 31 लाख डोज़ प्रतिदिन लगाए जा रहे हैं। मध्यप्रदेश में आज कोरोना के 4324 प्रकरण आए हैं, एक्टिव प्रकरण 26 हज़ार से अधिक हैं, जिनमें से 62% होम आइसोलेशन में हैं।प्रदेश में जनता को जागरूक करने के लिए 'मेरा मास्क मेरी सुरक्षा', 'मैं कोरोना वालेंटियर' जैसे अभियान चलाए जा रहे हैं। 'स्वास्थ्य आग्रह' अभियान भी चलाया गया प्रकरणों की बढ़ती संख्या को देखते हुए अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या तथा ऑक्सीजन की सप्लाई बढ़ाई जा रही है। प्रत्येक जिले में कोविड केअर सेन्टर बनाए गए हैं। प्रदेश में RTPCR टेस्ट बढ़ाए जाएंगे।


प्रदेश के सभी शहरों में 9 अप्रैल शाम 6 बजे से 12 अप्रैल प्रात: 6 बजे तक लॉकडाउन, प्रदेश में बिस्तरों की संख्या एक लाख की जाएगी

  • मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कोरोना संक्रमण पर की उच्च-स्तरीय समीक्षा

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन जैसे उपाय अंतिम विकल्प हैं। यह अभूतपूर्व संकट है। कोरोना संक्रमण को रोकने और मरीजों के इलाज के लिए आवश्यक व्यवस्था करने का कार्य निरंतर जारी है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्मार्ट पार्क में पौध-रोपण के बाद मीडिया के प्रतिनिधियों से चर्चा करते हुए कहा कि बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रदेश के सभी शहरों में शुक्रवार शाम 6 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन करना आवश्यक हो रहा है। इस संबंध में सभी अधिकारियों को निर्देश दिए जा चुके हैं। सभी जिलों के क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप को बैठक कर अपने जिलों के पेशेंट लोड और परिस्थितियों को देखते हुए आवश्यक और उपयुक्त निर्णय करने के लिए तत्काल बैठकें आयोजित करने के निर्देश भी दिए गए हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए आवश्यक होने पर बड़े शहरों में कंटेनमेंट एरिया भी बनाए जाएंगे।


ऑक्सीजन आपूर्ति का कोई संकट नहीं

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इन उपायों के साथ-साथ इलाज की व्यवस्था के विस्तार पर भी राज्य सरकार लगातार कार्य कर रही है। प्रदेश में बिस्तरों की संख्या 36 हजार से बढ़ाकर एक लाख की जा रही है। प्रत्येक जिले में कोविड केयर सेंटर स्थापित किया जा रहा है। शासकीय चिकित्सालयों के साथ निजी अस्पतालों का सहयोग भी लिया जा रहा है। राज्य शासन निजी अस्पतालों में नि:शुल्क उपचार की व्यवस्था भी कर रहा है। भोपाल में पीपुल्स और जे.के. अस्पताल में व्यवस्था की जा रही है। इंदौर और अन्य शहरों में भी निजी अस्पतालों की क्षमता का उपयोग करने संबंधी निर्देश दिए गए हैं। ऑक्सीजन आपूर्ति का कोई संकट नहीं है। ऑक्सीजन के संबंध में भारत सरकार और गुजरात राज्य से बात की है। भिलाई स्टील प्लांट से ऑक्सीजन की आपूर्ति आरंभ हो गई है। शासकीय स्तर पर रेमिडिसीवर इंजेक्शन की खरीद भी आरंभ हो रही है। दवाइयों की कोई कमी न रहे, इसका भी समुचित प्रबंध किया जाएगा।


यह परीक्षा की घड़ी है, हम साथ मिलकर लड़ेंगे और सफल होंगे

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि यह ऐसी महामारी है, जिसके संबंध में कोई आकलन कर पाना संभव नहीं है। देश और प्रदेश में पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ रही है। इसमें संयम, धैर्य और आत्म-विश्वास बनाए रखना आवश्यक है। राज्य सरकार सबको साथ लेकर इस संकट का सामना करेगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री जी की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के बाद प्रदेश के सभी जिलों के कलेक्टर और पुलिस अधीक्षकों से वीडियो कॉन्फ्रेंस करूँगा। मंत्रि-परिषद के साथियों के साथ 9 अप्रैल को 3 बजे और प्रदेश के सभी सांसद तथा विधायकों से शाम 5 बजे चर्चा होगी। सबको विश्वास में लेकर कोरोना के विरूद्ध युद्ध की रणनीति विकसित की जाएगी। यह परीक्षा की घड़ी है, हम साथ मिलकर लड़ेंगे और सफल होंगे।


आत्म-अनुशासन बनाए रखें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेशवासियों से आत्म-अनुशासन बनाए रखते हुए मास्क का उपयोग करने, सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने, बार-बार हाथ धोने, अनावश्यक घर से बाहर न निकलने और भीड़ न लगाने की अपील की है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पौध-रोपण से पूर्व निवास पर उच्च स्तरीय बैठक में प्रदेश में कोरोना की स्थिति की समीक्षा की। मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, पुलिस महानिदेशक श्री विवेक जौहरी, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री मोहम्मद सुलेमान, अपर मुख्य सचिव गृह श्री राजेश राजौरा और भोपाल संभागायुक्त श्री कवीन्द्र कियावत सहित भोपाल जिले के अधिकारी उपस्थित थे।


कोविड मरीजों के इलाज के लिये निजी अस्पतालों को डिस्प्ले कराना होगा पैकेज

  • इलाज और जांच का पैकेज मरीजों-परिजनों को पहले बताएगा अस्पताल प्रबंधन
  • एक जैसे इलाज के लिये अलग-अलग मरीजों से अलग-अलग राशि वसूलने पर होगी कठोर कार्रवाई

कोविड-19 के मरीजों की बढ़ती हुई संख्या को दृष्टिगत रखते हुए मरीजों को त्वरित और समुचित उपचार की दृष्टि से कलेक्टर श्री अजय गुप्ता की अध्यक्षता में निजी अस्पतालों के  संचालकों के साथ बैठक आयोजित की गई। बैठक में कलेक्टर श्री गुप्ता ने सभी अस्पताल संचालकों से 30 प्रतिशत बिस्तर कोविड मरीजों के लिये आरक्षित रखने के निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होंने ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। बैठक में कलेक्टर श्री गुप्ता ने कोविड मरीजों के इलाज के लिये हर अस्पताल अपना  पैकेज प्रदर्शित करें। उन्होंने इस पैकेज में जनरल वार्ड, आइसीयू में भर्ती, ऑक्सीजन, ऑक्सीजन के बगैर इलाज, मरीज के लिये आवश्यक पृथक-पृथक इलाज के पृथक-पृथक दरों के साथ ही एक्सरे, सीटी स्केन आदि सभी जांचों की शुल्क डिस्पले करने के निर्देश दिए। ताकि हर मरीज या उसके परिजन को यह पता हो कि इलाज के लिये कितनी राशि अस्पताल प्रबंधन द्वारा ली जायेगी। उन्होंने कहा कि कोविड के एक जैसे मरीजों के एक समान इलाज के लिए अस्पताल प्रबंधन द्वारा प्रदर्शित पैकेज के अनुसार एक जैसी राशि ली जानी चाहिए। यदि एक जैसे इलाज की अलग-अलग मरीजों से अलग-अलग राशि की शिकायत मिलने पर ऐसे निजी अस्पतालों के विरूद्ध कठोर कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने बताया कि प्रदेश में कोविड-19 के इलाज के लिये प्रदेश सरकार द्वारा बनाये गये सार्थक पोर्टल के लिये सीएमएचओ को सही जानकारी देने के निर्देश दिए। बैठक में सीएमएचओ श्री सुधीर कुमार डेहरिया ने सार्थक पोर्टल तथा निजी अस्पतालों में कोविड के इलाज के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपाल अधिकारी श्री हर्ष सिंह तथा जिले के निली अस्पतालों के संचालक उपस्थित थे।


कक्षा 9वीं से 12वीं तक परीक्षाओं के संबंध में दिशा-निर्देश जारी


स्कूल शिक्षा विभाग ने कक्षा 9वीं और 11वीं की वार्षिक परीक्षा एवं 10वीं-12वीं की प्री-बोर्ड परीक्षा के आयोजन के संबंध में प्रदेश के सभी जिला शिक्षा अधिकारी और विद्यालयों के प्राचार्य को दिशा-निर्देश जारी किए हैं। कोरोना वायरस संक्रमण के दृष्टिगत वार्षिक और प्री-बोर्ड परीक्षाओं के लिए पूर्व में जारी समय-सारणी अनुसार कार्यवाही का बंधन समाप्त कर दिया गया है। शाला प्रमुख 12 अप्रैल अथवा जिले में लॉकडाउन की स्थिति में जिस दिन लॉकडाउन खुलेगा, उस दिन स्थानीय परिस्थिति अनुसार विद्यार्थियों को प्रश्न पत्र और कोरी उत्तर-पुस्तिकाएँ प्रदान कर सकेंगे। विद्यालयों में प्रश्न पत्र प्राप्त करने का समय प्रातः 9 से दोपहर 12 तक रखा गया है। आयुक्त लोक शिक्षण श्रीमती जयश्री कियावत ने बताया कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण एवं विद्यार्थियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया गया है। उन्होंने बताया कि प्राचार्य अपने स्तर से पृथक-पृथक कक्षाओं के लिए अलग-अलग समय निर्धारित कर सकेंगे। विद्यार्थियों से पुनः उत्तर पुस्तिका प्राप्त करने के लिए भी शाला प्रमुख अपने स्तर से तिथि निर्धारित कर सकेंगे। उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन विद्यालय के शिक्षकों द्वारा ही किया जाएगा, यदि शिक्षक चाहे तो घर ले जाकर उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कर सकेंगे। छात्रावासों में दर्ज विद्यार्थी निकट शाला से प्रश्न-पत्र एवं उत्तर पुस्तिका प्राप्त कर सकेंगे तथा उसी विद्यालय में उत्तर पुस्तिका जमा करेंगे। सभी विद्यालयों के प्राचार्य यह सुनिश्चित करेंगे कि गत वर्ष की तरह 30 अप्रैल तक इस वर्ष भी विमर्श पोर्टल पर परीक्षा परिणाम प्रदर्शित हो। सभी शासकीय विद्यालयों में कक्षा 9वीं से 12वीं तक के विद्यार्थियों के लिए परीक्षा की तैयारी के लिए 9 और 10 अप्रैल को अध्ययन अवकाश रहेगा। सभी शासकीय शालाएँ आगामी आदेश तक प्रतिदिन प्रातः 9 से 12 तक खुलेंगी। उल्लेखनीय है कि प्रदेश के समस्त शासकीय विद्यालयों से कक्षा 9वीं और 11वीं की वार्षिक परीक्षाओं एवं कक्षा 10वीं और 12वीं की प्री बोर्ड परीक्षाओं के लिए विद्यार्थियों को प्रश्न पत्र वितरित किए जाएँगे। विद्यार्थी घर पर प्रश्नों को हल कर विद्यालय द्वारा निर्धारित समय-सीमा में अपने विद्यालय में जमा कर सकेंगे।


जिले में विशेष भर्ती अभियान 12 अप्रैल से


जिले के विकासखण्डो में सुरक्षा जवान के पद पर भर्ती अभियान के तहत कैप्सटन फेसिलिटीज मैनेजमेंट लिमिटेड द्वारा रक्षा जवान के 500 एवं रक्षा सुपरवाईजर के 500 पदों पर भर्ती की जाएगी। रोजगार मेले मे कोविड-19 गाईडलाईन का पालन करते हुये सोशल डिस्टेसिंग, मास्क, सेनेटाईजर का उपयोग के साथ  इच्छुक युवा अपने समस्त दस्तावेज एवं मूल प्रमाण-पत्रों की अभिप्रमाणित छायाप्रतियाँ लेकर साक्षत्कार में उपस्थित होंगे। रोजगार मेले का आयोजन जनपद पंचायत परिसर बुधनी में 12 अप्रैल को, जनपद पंचायत परिसर नसरूल्लागंज में 15 अप्रैल को, जनपद पंचायत परिसर इछावर में 16 अप्रैल को, जनपद पंचायत आष्टा में 19 अप्रैल को और जनपद पंचायत परिसर सीहोर में 20 अप्रैल, 2021 को आयोजित किया जाएगा। मेले में कोरोना गाईड लाईन  में दिशा निर्देशों एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाएगा।  


एग्री क्लीनिक एण्ड एग्रीबिजनेस सेन्टर के लिए व्यवसायिक प्रशिक्षण, साक्षात्कार दिनांक 15 अप्रैल 2021 को


राष्ट्रीय कृषि विस्तार प्रबंधन संस्थान हैदराबाद द्वारा 45 दिवसीय नि:शुल्क रहवासीय एग्री क्लीनिक एण्ड एग्रीबिजनेस सेन्टर हेतु व्यवसायिक प्रशिक्षण भोपाल में आयोजित किया जायेगा। प्रशिक्षण पश्चात आवेदकों को खाद्य प्रसंस्करण, दुग्ध उत्पादन, एग्री क्लीनिक, कस्टम हायरिंग, पॉली हाउस, पशुपालन, पोल्ट्री सहित 32 चिन्हित गतिविधियों हेतु अधिकतम 20 लाख रूपये ऋण एवं नियमानुसार 36 से 44 प्रतिशत तक अनुदान की पात्रता रहेगी। आवेदन हेतु न्यूनतम पात्रता कृषि विषय में 55 प्रतिशत अंको से हायर सेकन्डरी है, बी.एस.सी ( वनस्पति विज्ञान /प्राणिविज्ञान /रसायन विज्ञान) भी आवेदन कर सकते हैं। प्रशिक्षण हेतु हितग्राहियों का चयन दिनांक 15 अप्रैल 2021 को भोपाल में  आयोजित साक्षात्कार के माध्यम से किया जायेगा। आवेदक मैनेज हैदराबाद की वेबसाईट में सीधे आवेदन कर सकते हैं अथवा मोबाईल नंबर 9893663843 से अनुमति प्राप्त कर साक्षात्कार हेतु उपस्थित हो सकते हैं। आवेदकों को केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा समय-समय पर जारी कोरोना प्रोटोकाल एवं दिशा निर्देशों का पालन करना होगा तथा अनुमति पश्चात ही साक्षातकार में सम्मिलित किया जायेगा। विस्तृत जानकारी हेतु नोडल अधिकारी, उद्यमिता विकास केन्द्र मध्यप्रदेश (सेडमैप) 16-ए अरेरा हिल्स भोपाल से कार्यालयीन समय प्रात: 10:30 सक शाम 05:30 तक  संपर्क कर सकते हैं।


जिला पंचायत सीईओ ने जिले में संचालित विभिन्न योजनाओं की समीक्षा


sehore news
मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री हर्षसिंह ने आज ग्रामीण विकास विभाग अंतर्गत प्रचलित योजनाओं की समीक्षा वीडियों कांफ्रेसिंग के माध्यम से की। श्री सिंह ने जिले के समस्त मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को संबोधित करते हुये कहा कि कोरोना काल की विपरित परिस्थितियों में हम सभी का दायित्व है कि हम स्वयं एवं अपने अधिनस्थों को कोविड के प्रकोप से बचाते हुये जिले में क्रियान्वित की जा रही ग्रामीण विकास की समस्त योजनाओं में अपेक्षित प्रगति अर्जित कर ग्रामीण जनों का जीवन सुखद एवं सुगम बनायें। श्री सिंह ने मनरेगा, प्रधानमंत्री आवास, स्वच्छ भारत मिशन, मुख्यमंत्री पथ विक्रेता योजना सहित अन्य निर्माण कार्यो की प्रगति की समीक्षा की। श्री सिंह ने मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को निर्देशित किया कि मनरेगा योजना अंतर्गत इस वर्ष जल संचयन के कार्य अधिकतम संख्या में ले एवं कोशिश करें कि प्रत्येक ग्राम पंचायत में एक बड़ा तालाब निर्मित किया जावे। बड़े कार्यो के चयन के पूर्व ग्रामीण जनों के साथ चर्चा करें एवं पीआरए एक्सरसाईज के माध्यम से स्थल का चयन करें ताकि संरचना उपयोगी बन सके । प्रधानमंत्री आवास योजना की समीक्षा करते हुये श्री सिंह ने निर्देशित किया कि गत वर्षो में स्वीकृत परंतु अभी तक अूपर्ण आवासों को माह अप्रेल के अंत तक पूर्ण कराना सुनिश्चित किया जावे। समस्त सीएफटी प्रभारी नियमित रूप से क्षेत्र भ्रमण करें और कजाईला एप के माध्यम से उपस्थिति दर्ज करें। जो सीएफटी प्रभारी इस अवधि में अपेक्षित प्रगति अर्जित नहीं करेंगे उनके विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही की जावेगी। स्वच्छ भारत मिशन की समीक्षा करते हुये श्री सिंह ने कहा कि सभी मुख्य कार्यपालन अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि उनके जनपद क्षेत्र के 5 हजार से अधिक आबादी वाली ग्राम पंचायतों में डोर टू डोर कचरा कलेक्शन बेटरी चलित वाहन के माध्यम से प्रारंभ किया जावे। इस वाहन के रख रखाव एवं संचालन का व्यय ग्रामीण जानों से कर अध्यारोपित कर किया जावे। निर्माण कार्यो की समीक्षा करते हुये मुख्य कार्यपालन अधिकारी महोदय ने कहा कि सभी जनपद सीईओ को निर्देशित किया कि उनके ग्राम में निर्मित परिसम्पतियों का व्यवस्थित लेखा रखे और जहां पर अतिरिक्त भवन उपलब्ध है उन ग्राम पंचायतों में अतिरिक्त भवन राज्य अजीविका मिशन अंतर्गत गठित स्वसहायता समूहों को उपलब्ध करायेेे। इसके साथ ही श्री सिंह ने निर्देशित किया कि सभी जनपद सीईओ अपने क्षेत्र में संचालित आंगनबाड़ी भवनों का निरीक्षण करें जहां पर आंगनबाड़ियां अत्यन्त ही जर्जर अवस्था में है उन आंगनबाड़ियों में ग्राम पंचायत 15 वित्त/कराधान की राशि से मरम्मत करावे। यह भी सुनिश्चित किया जावे कोई भी नल जल योजना लंबित बिजली बिलों के बजह से बंद न हो अगर कही पर ऐसेी स्थिति है तो सीईओ जनपद स्वयं विद्युत विभाग से समन्वय कर निराकरण करावे। की समस्त जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को निर्देशित किया है कि  कोविड-19 दूसरी लहर के दृष्टीगत सुनिश्चित करें कि प्रत्येक ग्राम पंचायत के 45 वर्ष के आयु के सभी व्यक्तियेां का टीकाकरण एक सप्ताह में हो जाये। यदि किसी गांव से टीकारण केन्द्र की दूरी अधिक है तो उस ग्राम विशेष में टीकाकरण केम्प आयोजित करने की संभावना पर भी विचार किया जावेगा। इसके पूर्व श्री सिंह ने जिले की समस्त जनपदों की एक-एक पंचायत यथा आष्टा जनपद की ग्राम पंचायत कजलास, बुदनी की खाण्डाबड, नसरूल्लागंज की पिपलानी,सीहोर की लालाखाड़ी एवं इछावर जनपद की नादान में उपस्थित ग्रामीण जनों तथा सभी विभागों के मैदानी अमले से वीडियों कांफ्रेसिंग के माध्यम से चर्चा की एवं उनकी समस्याओं को जाना। नसरूल्लागंज जनपद की पिपलानी जनपद पंचायत में उपस्थित जनपद अध्यक्ष प्रतिििनधि श्री देवीसिंह धुर्वे ने ग्राम में प्रस्तावित सुदूर सम्पर्क सड़क सहित ग्राम की अन्य समस्याओं से अवगत कराया। इस संबंध में श्री सिंह ने जनपद नसरूल्लागंज के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को समस्या के निराकरण हेतु निर्देशित किया। ग्राम कजलास के ग्रामीण जनों से गत सप्ताह समाचार पत्र में कजलास में पेयजल समस्या संबंधी समाचार के संबंध में चर्चा की एवं ग्राम में पेयजल की स्थिति को जाना। ग्रामीण जनों द्वारा बताया गया कि ग्राम में बताया कि पूर्व में नल-जल योजना चालू थी परंतु स्त्रोत सूख जाने से बंद पड़ी है। ग्राम में पीएचई विभाग द्वारा सर्वे उपरांत नया बोर कराया गया है जिसमें पर्याप्त पानी है, परंतु अभी ओवर हेड टेंक का निर्माण पूर्ण नहीं हो पाया है।  श्री सिंह ने ग्राम कजलास के ग्रामीण जनों की समस्या का संज्ञान लेते हुए ग्राम पंचायत के सचिव को निर्देशित किया कि 15 वे वित्त की राशि का उपयोग कर नई मोटर क्रय की जा सकती है इस संबंध में नियमानुसार आवश्यक कार्यवाही करें। ग्राम लालाखाड़ी के सरपंच से चर्चा करते हुये श्री सिंह ने ग्राम में मुक्तीधाम में पौधा रोपण एवं ग्राम के बच्चों हेतु खेल मैदान की स्थिति जानी। इस संबंध में ग्राम पंचायत सरपंच ने श्री सिंह को अवगत कराया कि उनके ग्राम में सभी कार्य उत्तम गुणवत्ता वाले है तथा उनके ग्राम का सामुदायिक स्वच्छता परिसर जिले में सबसे अच्छा है। इस पर श्री सिंह ने ग्राम पंचायत सरपंच की सराहना करते हुए कहा कि वह जल्द ही लालाखाड़ी का भ्रमण करेंगे। बुदनी जनपद के खाण्डाबड़ ग्राम पंचायत के ग्रामीणों ने श्री सिंह को बताया कि उनकी पंचायत अंतर्गत आने वाले मजरे भीमकोटी में पेयजल तथा बिजली की समस्या है। ग्रामीण जनों की समस्याओं का संज्ञान लेते हुए श्री सिंह ने जनपद सीईओ श्री धमेन्द्र यादव को निर्देशित किया कि वह भीमकोटी का भ्रमण कर पेयजल एवं बिजली की समस्या का निराकरण लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी तथा म.प्र.वि.म. के अधिकारियों से समन्वय कर ग्रामीण जनों की समस्याओं का निराकरण करावे। वीडियों कांफ्रेसिंग के अंत में श्री सिंह ने जिले के समस्त जनपद के मुख्य कार्यपालन अधिकारी तथा समस्त अमले को गत वर्ष मनरेगा, प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वच्छ भारत मिशन, राष्ट्रीय अजीविका मिशन में अच्छा कार्य करने हेतु बधाई दी तथा अपील की कि आगामी वित्त वर्ष में भी समस्त अमला पहले से ज्यादा मेहनत कर प्रदेश में जिले को हर योजना के लक्ष्यों की प्राप्ती में  प्रथम स्थान  हेतु अपना अधिकतम योगदान दे।   


कोविड-19 को दृष्टिगत रखते हुए अवकाश निरस्त


कोरोना महामारी को दृष्टिगत रखते हुए कलेक्ट्रेट के जिन शासकीय अधिकारी/कर्मचारियों को अर्जित अवकाश स्वीकृत किया गया था, उनका अवकाश तत्काल प्रभाव से निरस्त कर दिया गया है। साथ ही सभी अधिकारी-कर्मचारियों को  मुख्यालय  में उपस्थित रहने के निर्देश दिए गए है।


सोमवती अमावस्या पर नर्मदा नदी के ऑवली घाट एवं बुधनी सबडिविजन के सभी घाटों पर स्नान प्रतिबंधित


ऑवली घाट एवं बुधनी सबडिविजन के अन्तर्गत नर्मदा नदी के समस्त घाटो पर 12 अप्रैल को सोमवती अमावस्या पर होने वाले स्नान पर प्रतिबंध लगाया गया है। यह प्रतिबंध कोविड-19 के संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए लगाया गया है। बुधनी एसडीएम श्री शैलेन्द्र हिनोतिया ने बताया कि सोमवती अमावस्या पर नर्मदा नदी के ऑवली घाट सहित बुधनी सबडिविजन के अन्तर्गत पडने वाले घाटो पर बढ़ी संख्या में स्नान को आते है। जिससे कोविड-19 संक्रमण फेलने की संभाना को दृष्टिगत रखते हुए स्नान पर प्रतिबंध लगाया गया है।  उन्होंने बताया कि होशंगाबाद, रायसेन, विदिशा, उज्जेन, राजगढ़, देवास, इंदौर सहित अनेक जिलो से बढ़ी संख्या में लोग स्नान के लिए आते है। इन जिलो को भी स्नान प्रतिबंधित करने की सुचना दी जा रही है।


जिले में 69 व्यक्ति कोरोना पाजिटिव मिले, वर्तमान में कोरोना एक्टिव-पॉजीटिव की संख्या 382


पिछले 24 घंटे के दौरान 69 व्यक्ति कोरोना पॉजीटिव मिले। इनमें सीहोर शहर के 32 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। यह सभी व्यक्ति  बढ़ियाखेड़ी, श्रवण का बगीचा, सुभाष नगर कालोनी, चाण्क्यपुरी, पल्टन एरिया, जिला चिकित्सालय चौराहा, वैशाली नगर, भोपाल नाका, जयंती कॉलोनी, गुलजारी का बगीचा, केन्द्रीय विद्यालय परिसर, बडियाखेडी, एसपी कार्यालय के पीछे, रानी मोहल्ला, गंज, चरखा लाईन, संजय नगर, इंदौर नाका, छावनी, विश्वनाथ कॉलोनी के निवासी हैं । इसी तरह बुधनी क्षेत्र से 17 व्यक्तियों की कोरोना रिपोर्ट पॉजीटिव मिले हैं।  संक्रमित व्यक्ति  बुधनी के वार्ड-1, वार्ड-6, वार्ड-2, वार्ड-9, वार्ड-11, वार्ड-14 सहित शाहगंज के वार्ड नंबर-1, वार्ड नंबर-2, वार्ड नंबर-6, वार्ड नंबर-7 के निवासी है। आष्टा क्षेत्र से 09 व्यक्ति संक्रमित है। संक्रमित व्यक्ति सुभाष नगर, शंकर मंदिर रोड, सेमनरी रोड, हाथीखाना के निवासी है। श्यामपुर क्षेत्र से 07 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिले हैं जो दोराहा, नयापुरा, बिल्किसगंज, सेमरादांगी के रहने वाले है। इसी तरह नसरूल्लागंज क्षेत्र से 04 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिले हैं जो ग्राम अमलाडा, स्थानीय वार्ड नम्बर-14,  वार्ड नम्बर-1,  वार्ड नम्बर-3 के व्यक्तियों  की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि वर्तमान में जिले में एक्टिव पॉजिटिव की संख्या   382  है ।  आज 20 व्यक्ति रिकवर हुए।  अब  तक  कुल  रिकवर  की  संख्या  3014  है।   कुल  कोविड  संक्रमित  मृत व्यक्तियों की संख्या 49 है । आज 573 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 298,  नसरूल्लागंज विकासखण्ड से  63 , आष्टा विकास खण्ड  से 53, इछावर विकासखण्ड से 79, श्यामपुर विकासखण्ड से 55,  बुदनी विकास खण्ड से 55 सैम्पल लिए गए है । जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 3445 है जिसमें से 49 की मृत्यु हो चुकी है 3014 स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो गए है। तथा वर्तमान में एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 382 है। आज 573 सैंपल जांच हेतु लिए गए। कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 87459 हैं जिनमें से 81859 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। आज 566 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 2084 सेंपलों की रिपोर्ट  आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है। आज एमपीबी पावर हाउस चौराहा में माईक्रो कंटेनमेंट एरिया बनाया गया है। जिले मे जो व्यक्ति होम क्वारन्टाईन में हैं उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 कॉल सेंटर स्थापित किया गया है। जिसका संपर्क नंबर- 07562-226470 है। 1075 नंबर पर कॉल कर जानकारी ली जा सकती है। जिला स्तर पर मोबाइल नंबंर 9425400273, 9425400453, 9479595519 पर कॉल सेंटर पर संपर्क किया जा सकता है। राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर कॉल करके भी टेलीमेडिसिन  सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। होम क्वारन्टाईन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाईन नंबंर 18002330175 जारी किया गया है। होम क्वारन्टाईन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साइकॉलाजीकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से नि:शुल्क प्राप्त कर सकते हैं। 


नेशनल लोक अदालत में संपत्ति कर तथा जलकर प्रकरणों में मिलेगी छूट


म.प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के निर्देशानुसार एवं माननीय जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के मार्गदर्शन में पूरे जिले में कई लंबित तथा प्रीलिटिगेशन प्रकरणों का निराकरण किये जाने हेतु 08 मई को नेशनल लोक अदालत आयोजित की जा रही है। इस नेशनल लोक अदालत में संपत्ति कर/जलकर प्रकरणों में निर्धारित छूट प्रदान की जाएगी। संपत्तिकर के ऐसे प्रकरण जिनमें कर तथा अधिभार की राशि रू. 50 हजार तक बकाया होने पर मात्र अधिभार राशि में 100 प्रतिशत तक की छूट दी जाएगी।  संपत्तिकर के ऐसे प्रकरण जिनमें कर तथा अधिभार की राशि रू. 50 हजार से अधिक तथा एक लाख रू तक बकाया होने तक मात्र अधिभार राशि में 50 प्रतिशत तक की छूट दी जाएगी। संपत्तिकर के ऐसे प्रकरण जिनमें कर तथा अधिभार की राशि एक लाख रू से अधिक बकाया होने पर मात्र अधिभार में 25 प्रतिशत तक की छूट दी जाएगी। इसी प्रकार जल उपभोक्ता प्रभार/जलकर के ऐसे प्रकरण जिनमें कर तथा अधिभार की राशि दस हजार रू तक बकाया होने पर मात्र अधिभार में 100 प्रतिशत तक की छूट दी जाएगी। जल उपभोक्ता प्रभार/जलकर के ऐसे प्रकरण जिनमें कर तथा अधिभार की राशि दस हजार रू से अधिक तथा पचास हजार रू तक बकाया होने पर मात्र अधिभार में 75 प्रतिशत तक की छूट दी जाएगी। जल उपभोक्ता प्रभार/जलकर के ऐसे प्रकरण जिनमें कर तथा अधिभार की राशि पचास हजार रू से अधिक बकाया होने पर मात्र अधिभार में 50 प्रतिशत तक की छूट दी जाएगी। यह छूट मात्र एक बार ही दी जाएगी तथा छूट उपरांत राशि अधिकतम दो किष्तों में जमा करना होगी। यह छूट निर्धारित दिनांक 08 मई को आयोजित होने वाली लोक अदालत के लिये ही मान्य होगी।


10760 किसानों से 81 हजार 3 मीट्रिक टन गेहूं की खरीदी


जिले में आज 10760 किसानों से 81 हजार 3 मीट्रिक टन गेहूं की खरीदी जिले के उपार्जन केन्द्रो द्वारा की गई। अधिकारियो द्वारा उपार्जन केन्द्रों का सतत निरीक्षण किया जा रहा है। कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे उपार्जन केन्द्रों का सतत निरीक्षण करें और यह देखें की किसानों को फसल बेचने में किसी प्रकार की कोई भ्री असुविधा ना हो।


जिला दण्डाधिकारी ने धारा 144 के तहत जारी किये प्रतिबंधात्मक आदेश, लॉक डाउन में निर्धारित समय के लिए खुलेंगी दुध, फल, सब्जी की दुकाने


जिला क्राईसेस मेनेजमेंट ग्रुप की बैठक मे लिए गए निर्णयों को लागू करने के लिए कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री अजय गुप्ता ने धारा 144 के तहत अनेक प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए है। यह प्रतिबंधात्क आदेश 30 अप्रैल 2021 तक के लिए प्रभाव शील रहेंगे। कलेक्टर द्वारा जारी आदेश के तहत समस्त सामाजिक कार्यक्रम शादी, मृत्युभोज इत्यादि मे 50 से अधिक व्यक्ति सम्मिलित होना प्रतिबंधित रहेगा। नर्मदा नदी के घाटो पर समूह में स्नान करना पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा। जिले के समस्त नगरीय क्षेत्रों में शुक्रवार को शाम 6 बजे से सोमवार प्रात: 6 बजे तक पूर्णत: लॉक डाउन रहेगा। लॉक डाउन की अवधि मे दूध डेयरी, फल, सब्जी की दुकाने प्रात: 6 बजे प्रात: 10 बजे तक तथा शाम 5 बजे से शाम 8 बजे तक खुली रहेंगी। यह आदेश तत्काल प्रभाव से प्रभावशील रहेगा।


जिला स्तरीय क्राईसेस मेनेजमेंट की बैठक में लिए गए अनेक निर्णय

  • नर्मदा घाटो पर स्नान प्रतिबंधित, शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रो में हॉट-बाजार पूर्णत: बंद, शादी, मृत्यु, दाह संस्कार तथा मृत्युभोज मे 50 से अधिक लोग शामिल नही हो सकेंगे

sehore news
जिले में कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव को रोकने तथा कोविड-19 की गाईड लाईन का पालन कराने के लिए कलेक्टर श्री अजय गुप्ता की अध्यक्षता में जिला स्तरीय क्राईसेस मेनेजमेंट ग्रुप की बैठक आयोजित की गई। बैठक में सदस्यों के सुझावों पर अनेक निर्णय लिए गए। बैठक मे लिए गए निर्णय के बारे मे जानकारी देते हुए कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने बताया कि जिन स्थानों पर कोरोना हॉट-स्पॉट पाए जाऐंगे वहां माईक्रो कंटेनमेंट एरिया बनाया जाएगा। माईक्रो कंटेनमेंट एरिये की मॉनीटरिंग का कार्य संबंधित एसडीएम/ मुख्य नगर पालिका अधिकारी द्वारा टीम गठित कर किया जाएगा। हॉट-स्पॉट एरिया तथा नगरीय क्षैत्र के 45 वर्ष के समस्त निवासीयों का वैक्सीनेशन प्राथमिकता से मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा टीम गठित कर किया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग के अमले को मोबाइल फीवर क्लिनिक तत्काल प्रारंभ करने का निर्णय लिया गया।


नर्मदा घाटो पर स्नान प्रतिबंधित

यह भी निर्णय लिया गया कि नर्मदा के तटीय घाटो पर तथा जिले कि अन्य नदी घाटो पर स्नान पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा। समस्त अनुविभागीय अधिकारी यह सुनिश्चित करेंगे कि किसी भी घाट पर स्नान हेतू भीड़ एकत्रित न हो। इन घाटो पर अन्य जिलो से स्नान करने हेतु लोग न आए इसके लिए एसडीएम से समन्वय कर रोकने का निर्णय लिया गया है।


दूध डेयरी, फल, सब्जी की दुकाने निर्धारित समय के लिए खुलेंगी

समिति द्वारा निर्णय लिया गया कि लॉक डाउन के दौरान दूध डेयरी, फल, सब्जी की दुकाने प्रात: 6 बजे से प्रात: 10 बजे तक तथा शाम 5 बजे से शाम 8 बजे तक खुली रहेंगी।


अस्थाई जेल बनाने का निर्णय एसडीएम लेंगे

क्राईसेस मेनेजमेंट ग्रुप द्वारा जिले के अन्य उपखण्ड मुख्यालय पर आवश्यकतानुसार कोविड-19 प्रोटोकाल का उल्लंघन की स्थिति में एसडीएम द्वारा अस्थाई जेल बनाने का निर्णय लिया गया किन्तु अस्थाई जेल में बुजुर्गो, महिलाओं एवं बच्चो को  अस्थाई जेल नही भेजने पर सहमति व्यक्त की गई।


बाहर से आने वाले मजदूरों की रखी जाएगी  जानकारी

वर्तमान मे मजदूरी अथवा अन्य कार्य से दूसरे राज्य से आने वाले  प्रत्येक व्यक्ति की जानकारी संबंधित ग्राम पंचायत मे एक पंजी संधारित कर प्रविष्ट की जाएगी। यह कार्यवाही जनपद पंचायत के सीईओं अपने अधिनस्थ अमले से कराना सुनिश्चित करेंगे।


रोको-टोको अभियान सघनता से चलाने का निर्णय

कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए वर्तमान मे जन सामान्य को जागरूक करने लिए एवं मॉस्क नही लगाने वाले व्यक्तियों पर जुर्माने की कार्यवाही की जा रही है। इस कार्यवाही तथा रोको- टोको अभियान को और अधिक सघन रूप से चलाने का निर्णय क्राईसेस मेनेजमेंट ग्रुप द्वारा लिया गया है।


हॉट-बाजार बंद, मृत्यु, मृत्युभोज, दाहसंस्कार तथा विवाह में 50 से अधिक व्यक्ति नही होंगे शामिल

लॉकडाउन के दौरान शहरी तथा ग्रामीण क्षैत्र मे हॉट-बाजार पूर्णत: बंद रखने का निर्णय लिया गया है एवं यह भी निर्णय लिया गया कि शादी, दाह संस्कार, मृत्युभोज में 50 से अधिक लोग शामिल नही हो सकेंगे। समस्त निजी चिकित्सालय कोविड-19 के उपचार तथा जॉच शासन द्वारा निर्धारित दर पर अनिवार्य रूप से करेंगे। तथा इन दरों को प्रदर्शित करेंगे। काईसेस मेनेजमेंट की बैठक में विधायक आष्टा श्री रघुनाथ सिंह मालवीय, पुलिस अधीक्षक श्री एसएस चौहान, सीईओ जिला पंचायत श्री हर्ष सिंह, एडीएम श्रीमती गुंचा सनोबर, जिला भाजपा अध्यक्ष श्री रवि मालवीय,  जिला प्रवक्ता श्री आर के गुप्ता, पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष श्रीमती अमिता अरोरा, पूर्व जिला अध्यक्ष श्री सीताराम यादव, श्री राजेश राठौर सहित अनेक सदस्य उपस्थित थे।


नसरूल्लागंज में 72 लोगो पर लगाया 3600 का जुर्माना


नसरूल्लागंज में कोरोना संक्रमण को रोकने तथा कोविड-19 की गाईड लाईन का पालन कराने के लिए चालानी कार्यवाही की गई। बिना मॉस्क लगाए 72 लोगो पर चालानी कार्यवाही करते हुए 3 हजार 600 रूपये का जुर्माना लगाया गया। एसडीएम श्री डीएस तोमर ने बताया कि आज नसरूल्लागंज के 6 टीकाकरण केन्द्रों पर 1450 लक्ष्य पूर्ण किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं: